Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नगर निगम फरीदाबाद में डीजल घोटाला, बाजार में बेचा जा रहा हजारों लीटर डीजल

नगर निगम फरीदाबाद के कर्मचारी ओपन मार्केट में डीजल की बिक्री कर रहे हैं। इससे हर साल नगर निगम फरीदाबाद को लाखों का चूना लगाया जा रहा है।

नगर निगम फरीदाबाद में डीजल घोटाला, बाजार में बेचा जा रहा हजारों लीटर डीजल
X
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो)

फरीदाबाद। बिजेन्द्र शर्मा

निगम कर्मियों द्वारा ओपन मार्किट में डीजल की बिक्री कर निगम को चूना लगाया जा रहा है। इस नए डीजल घोटाले से निगम को हर माह लाखों रुपये का नुकसान होने का अनुमान लगाया जा रहा है।

घोटालों की जननी नगर निगम फरीदाबाद में अब एक और ताजा-तरीन घोटाला सामने आया है और यह घोटाला, निगम कर्मियों द्वारा डीजल की ओपन मार्किट में बिक्री करने का है। बताया गया है कि निगम के तीनों जोनों में पावर कट की स्थिति में बैकअप के लिए जेनसेट लगाए गए है। पावर बैकअप के लिए लगाए गए इन जेनसेटों के उपयोग में न आने की स्थिति में भी हर माह हजारों लीटर डीजल निगम से ईश्यू कराया जा रहा है।

निगम सूत्रों का कहना है कि ओल्ड जोन में 125 केवीए का जेनसेट बैकअप के लिए लगाया गया है किन्तु यह चलता कभी-कभार ही है। सूत्रों की माने तो यह जेनसेट दिन में कभी चला तो आधा-एक घंटे के लिए चलता है तथा इसका प्रति घण्टा डीजल उपयोग 14 लीटर प्रति घण्टा है जबकि इस जेनसेट के लिए ऑपरेटर द्वारा प्रतिमाह 1 हजार लीटर डीजल ईश्यू कराया जा रहा है। कहा जा रहा है कि जेनसेट में डीजल माह में 2 सौ लीटर के करीब ही खर्च होता होगा किन्तु ईश्यू 1 हजार लीटर के करीब कराया जा रहा है शेष बचे डीजल की ओपन मार्किट में बिक्री किए जाने की चर्चा है।

इस तरह का यह अकेला मामला नहीं है कुछ इस तरह का ही मामला निगम मुख्यालय में भी देखने को मिल रहा है। अकेले जेनसेट के मार्फत निगम को कर्मियों द्वारा हर माह लाखोें की आर्थिक चोट पहुंचाई जा रही है।

क्या कहते है संयुक्त-आयुक्त

नगर निगम फरीदाबाद के ओल्ड जोन के संयुक्त-आयुक्त विरेन्द्र चौधरी का कहना है कि इस जोन में पावर कट न के बराबर लगते है और पिछले कई दिनों से तो कट लगा ही नहीं है। जब कट नहीं लगा तो जेनसेट भी नहीं चला और जब जेनसेट नहीं चला तो डीजल की खपत तो हो नहीं सकती। वह इस मामले की संजीदगी से जांच कराएगें।

Next Story
Top