Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पर्वतारोही नरेंद्र का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज

किलिमांजारों पर सबसे जल्दी ऊपर चढ़ने के पिछले रिकॉर्ड 34 घंटे को मात्र 17 घंटे में पूरा कर विश्व रिकॉर्ड बनाया और सबसे जल्दी उतरने के रिकॉर्ड 20 घंटे को मात्र 9 घंटे 7 मिनट में पूरा किया और दो विश्व रिकॉर्ड अपने नाम किए।

मौसम की जानकारी: आने वाले दो दिनों में जमकर होगी पहाड़ों में बर्फबारी, मैदानी इलाकों में बढ़ेंगी ठंडपहाड़ों में मौसम

हरिभूमि न्यूज. कोसली। गांव नेहरूगढ़ के युवा पर्वतारोही नरेंद्र नरेंद्र का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड में नाम दर्ज हुआ है। लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड के मुख्यालय गुरुग्राम में मुख्य अधिकारियों ने नरेंद्र को उसके रिकार्ड का प्रमाणपत्र जारी किया। गुरुग्राम की स्टार एक्स यूनिवर्सिटी बिनोला में एमए योगा प्रथम वर्ष के छात्र नरेंद्र ने साउथ अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी किलिमांजारो को सबसे जल्दी चढ़ने व सबसे जल्दी उतरने का रिकॉर्ड स्थापित किया है।

लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में नाम दर्ज होने पर यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉ. अशोक दिवाकर व यूनिवर्सिटी के पदाधिकारियों ने नरेंद्र को बधाई व शुभकामनाएं दी। नरेंद्र ने यह रिकॉर्ड 23 जुलाई को प्रात: 6:40 पर हिन्दुस्तान का तिरंगा साऊथ अफ्रीका की सबसे ऊँची चोटी किलिमांजारो पर फहराकर एक और विश्व रिकॉर्ड अपने नाम किया।

किलिमांजारों पर सबसे जल्दी ऊपर चढ़ने के पिछले रिकॉर्ड 34 घंटे को मात्र 17 घंटे में पूरा कर विश्व रिकॉर्ड बनाया और सबसे जल्दी उतरने के रिकॉर्ड 20 घंटे को मात्र 9 घंटे 7 मिनट में पूरा किया और दो विश्व रिकॉर्ड अपने नाम किए। यह अभियान मराअंगु नाम के रास्ते से पूरा किया गया है। तंजानिया सरकार की ओर से एक प्रमाण पत्र दिया गया है। नरेंद्र ने बताया कि उसने इससे पूर्व भी इस चोटी को वर्ष 2017 में मचामें नाम के रास्ते से फतह किया था। अब उसका अगला लक्ष्य उत्तरी अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी देनाली को फतह करने का है।

Next Story
Top