Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नारनौल : बदमाशों ने मंगला को पीटा, चली गोलियां, तीन बाइक फूंकी, जांच में जुटी पुलिस

नारनौल में मंगलवार को बदमाशों ने एक युवक पर हमला बोल दिया। इसके बाद वहां हंगामा हो गया। बाइके फूंक दी गई।

शेखपुरा में मूर्ति विसर्जन पर गोली फायरिंग, जदयू प्रखंड अध्यक्ष की मौतफायरिंग (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नारनौल रेलवे स्टेशन के पास बड़ा बाग को जाने वाले मार्ग पर मंगलवार शाम बाइकों पर सवार होकर आए बदमाशों ने मंगला वाल्मीकि नामक युवक पर हमला कर दिया। आरोप है कि घटना का पता चलने पर घायल का भाई एंबुलेंस गाड़ी लेकर पहुंचा तो बदमाशों ने उस पर भी हमला बोल दिया। बदमाशों ने गोलियां चलाई।

किसी तरह घायल के भाई ने जान बचाने के लिए नजदीकी मकान में शरण ली। घटना के दौरान वहां तीन बाइकों को फूंक दिया गया। यह बाइक किस पक्ष की है, यह सामने नहीं आया है। घटना का मौका मुआयना एसपी दीपक सहारन ने किया। देर शाम तक पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई थी।

घायल मंगला वाल्मीकि के भाई प्रदीप ने बताया कि कई बाइकों पर सवार होकर बदमाश आए और भाई मंगला पर हमला बोल दिया। उसे बुरी तरह से पीटा गया है। शायद गोली भी लगी है। यह सूचना मिलने के बाद जब वह एंबुलेंस गाड़ी लेकर मौके पर पहुंचा तो उस वक्त भी बदमाशों का गिरोह मौजूद था।

उन बदमाशों ने एंबुलेंस गाड़ी से तोड़फोड़ शुरू कर दी। वह किसी तरह एंबुलेंस गाड़ी से निकला और पास ही एक मकान में घुसकर अपनी जान बचाई। कुछ देर बाद जब वह बाहर आया तो तीन बाइकों में आग लगी हुई थी। वह घायल भाई मंगला को लेकर नागरिक अस्पताल में पहुंचा।

वहां चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार किया और हालत गंभीर देख उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया। चिकित्सकों ने कहना था कि गोली लगी है या नहीं। यह फिलहाल क्लीयर नहीं है। दूसरी तरफ, आगजनी की सूचना पाकर फायर ब्रिगेड की गाड़ी पहुंची और बाइकों में लगी आग पर काबू पाया।

एसपी ने किया मौका मुआयना, कार्रवाई का दिया भरोसा

घटना की सूचना पाकर शाम करीब सवा पांच बजे एसपी दीपक सहारन, डीएसपी मित्रपाल व सिटी एसएचओ सुनील कुमार पुलिस बल के साथ पहुंचे। वहां घायल के भाई पीडि़त प्रदीप से बातचीत की। मौके पर गोली के खोल भी पुलिस ने बरामद किए। तीन बाइकों में दो स्पलैंडर प्लस व एक प्लसर बताई जा रही है। पीडि़त परिवार को एसपी ने जल्द से जल्द आरोपितों की पहचान कर पकड़ने का आश्वासन दिया।

2007 में हुआ था ­झगड़ा, पंचायती तौर पर हो गया था समझौता

पीडि़त प्रदीप का कहना था कि भाई मंगला का साल 2007 में गांव पटीकरा के युवकों से ­झगड़ा हुआ था। ­झगड़े के बाद पंचायती तौर पर दोनों पक्षों में आपसी सम­झौता हो गया था। इसके बाद अभी तक उनका किसी से कोई ­झगड़ा नहीं था। बाकी पूरी बात को भाई मंगला ही बता सकता है। प्रदीप ने आरोप लगाया कि बदमाश गांव पटीकरा के थे।

Next Story
Top