Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मानसिक रोगी महिला ने लकड़ियों में आग लगाकर जान गंवाई

आग पर काबू पाने की कोशिश की गई तो पता चल की बूटा राम की 45 वर्षीय पत्नी रेशमाबाई उपरोक्त लकडिय़ों में जली हालत में है। घटना की सूचना पुलिस दी गई। पुलिस ने मृतका के भाई देशराज के बयान पर इतफाकिया कार्रवाई की है।

उन्नाव में महिला ने एसपी कार्यालय के बाहर लगायी खुद को आगउन्नाव में पुलिस अधीक्षकर कार्यालय के बाहर महिला ने लगाया आग (प्रतीकात्मक फोटो)

भूना के कंबोज मोहल्ला के वार्ड नंबर 6 में बृहस्पतिवार की अलसुबह एक महिला की संदग्धि परस्थितिियों में लकड़ियें में जलकर मौत हो गई है। परिजनों के अनुसार महिला मानसिक रूप से बीमार थी, जिसका इलाज सिरसा व हिसार के मनोवैज्ञानिक चिकत्सिालयों में चल रहा था। घटना के समय महिला के पति तथा गोद लिया बेटा घर के कमरे में सोए हुए थे।

पड़ोस के लोग बूटाराम के घर निकल रही आग की लपटों को देखकर मौके पर पहुंचे। आग पर काबू पाने की कोशिश की गई तो पता चल की बूटा राम की 45 वर्षीय पत्नी रेशमाबाई उपरोक्त लकडिय़ों में जली हालत में है। घटना की सूचना पुलिस दी गई। पुलिस ने मृतका के भाई देशराज के बयान पर इतफाकिया कार्रवाई की है।

जानकारी के अनुसार कंबोज मोहल्ला के वार्ड नंबर 6 निवासी बूटा राम कंबोज की शादी करीब 23 साल पहले बलियाला गांव की रेशमाबाई के साथ हुई थी। इस दौरान दंपत्ति के कोई संतान नहीं हुई, जिसके कारण रेशमा बाई मानसिक रूप बीमारी की चपेट में आ गई।

महिला का इलाज करने के साथ बूटा राम ने अपनी बहन के लड़के नवीन कुमार को गोद भी ले लिया था, किंतु रेशमा बाई का उपचार हिसार व सिरसा में चल रहा था। बीमारी के चलते रेशमाबाई ने लकडिय़ों में आग लगाकर कूद गई, जिससे उसकी मौके पर मौत हो गई है।

परिजनों ने मौके के हालात को देखते हुए एक बार तो रेशमाबाई के पति बूटा राम पर हत्या करके शव को खुर्द-बुर्द करने के लिए लकड़ियों में जलाने का आरोप लगाया था, मगर मृतका के मायके के लोगों ने पूरी जांच की तो मामला आत्महत्या कर लेने का लगा, क्योंकि वह मानसिक रूप से बीमार थी।

Next Story
Top