Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बच्चों को मेट्रो में नहीं मिली एंट्री, मांगी रिपोर्ट

महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने इस घटना को लेकर नाराजगी जाहिर की है और एक्शन रिपोर्ट तलब की है।

बच्चों को मेट्रो में नहीं मिली एंट्री, मांगी रिपोर्ट

दिल्ली की लाइफ लाइन कही जाने वाली मेट्रो में एक शर्मनाक घटना का खुलासा हुआ है। मेट्रो में गरीब बच्चों को टिकट होने के बावजूद भी उन्हें घुसने नहीं दिया गया। बच्चों के

साथ हुई इस घटना ने लोगों को हैरान कर दिया।

महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने इस घटना को लेकर नाराजगी जाहिर की है और एक्शन रिपोर्ट तलब की है। इस मामले में केंद्रीय मंत्री ने रैपिड मेट्रो रेल गुड़गांव के एमडी राजीव बंगा से रिपोर्ट मांगी है।

दिल्ली की रहने वाली शिवान्या पांड्या ने इस घटना का जिक्र फेसबुक के जरिए किया था और कई मामले को लेकर कई अधिकारियों को टैग किया। जिससे इस टैग पर जब

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी की नजर पड़ी तो उन्होंने मामले को संज्ञान में लेते हुए कार्रवाई का भरोसा दिलाया था। शिवान्या ने फेसबुक पर लिखा कि 4-6 भीख

मांगने वाले बच्चों को मेट्रो में सिर्फ इसलिए नहीं घुसने दिया गया क्योंकि वह गरीब थे और उनके कपड़े गंदे थे। वह मेट्रो का किराया भी दे रहे थे फिर भी उन्हें मेट्रो में घुसने नहीं

दिया गया। वे बच्चे लगभग 3 से 8 साल की उम्र के थे।

रैपिड मेट्रो में हुई इस घटना को लेकर शिवान्या ने लिखा था कि देश तेजी से आगे तो बढ़ रहा है लेकिन हम लोगों को पीछे छोड़ते चले जा रहै हैं। यह है मेरा भारत महान और सरकार है। मैं इस तरह के घटनाओं को देखकर शर्मिंदा हो जाती हूं।

हालांकि शिवान्या ने इंडसइंड बैंक साइबर सिटी मेट्रो स्‍टेशन के अधिकारियों ने बच्‍चों को एंट्री न देने की बात स्वीकार की है लेकिन उनका ये भी कहना है कि बच्चों के पास टिकट के लिए पैसे नहीं थे।

Next Story
Share it
Top