Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लाडवा मंडी में हुई जिले की 12 मंडियों के प्रधानों की बैठक

गेहूं का सरकारी भुगतान पहले वाले सिस्टम के अनुसार ही स्वीकार करने का लिया निर्णय।

लाडवा मंडी में हुई जिले की 12 मंडियों के प्रधानों की बैठक

हरिभूमि न्यूज. लाडवा। कुरुक्षेत्र जिले की सभी 12 मंडियो के प्रधानों की एक आपातकालीन बैठक मंगलवार को लाडवा अनाज मंडी धर्मशाला में हुई, जिसकी अध्यक्षता लाडवा अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन के प्रधान बिमलेश गर्ग द्वारा की गई। बैठक में सभी 12 मंडियों के प्रधानों ने एक मत से निर्णय लिया कि इस बार भी गेहूं का सरकारी भुगतान हमें पहले वाले सिस्टम के अनुसार ही स्वीकार करेंगे इसके अलावा ओर कुछ नहीं। बैठक के बाद लाडवा मंडी प्रधान बिमलेश गर्ग ने जानकारी देते हुए बताया कि सरकार चाह रही है कि पहले सरकार किसानों की फसल का चुकती भुगतान आढ़ती के पीएफएमएस खाते में करेंगे और फिर 72 घंटे के अंदर हरियाणा का कच्चा आढ़ती उस चुकती पेमेंट को किसानों के खाते में अवश्य करेगा।

उन्होंने बताया कि कुरुक्षेत्र जिले की सभी 12 मंडियों के प्रधानों ने सरकार के इस फैसले को खारिज कर दिया है। बैठक में फैसला लिया गया है कि आढ़तियों का किसानों के पास अपना गया एडवांस रुपया काटकर बकाया किसानों का पैसा आढ़ती किसानों के खाते में डालेगा। प्रधानों ने यह भी फैसला लिया की आढ़ती अपनी आढ़त व मजदूरी की रकम भी धान के सीजन की तरह 6-6 महीने में नहीं लेगा।

गेहूं की फसल के आई. फार्म के साथ ही अपनी आढ़त व मजदूरी भी साथ लेंगे। उन्होंने कहा कि इसके अलावा हमें कुछ भी मंजूर नहीं है। बैठक में हरियाणा आढ़ती एसोसिएशन के महासचिव विकास सिंघल, कुरुक्षेत्र जिला प्रधान बनारसी दास, लाडवा मंडी प्रधान बिमलेश गर्ग, झांसा मंडी प्रधान ज्ञान चंद, कुरुक्षेत्र मंडी प्रधान दियाल चंद, जगतार सिंह, पिहोवा मंडी प्रधान विनोद बंसल, इस्माईलाबाद मंडी प्रधान राजेश कंसल, बाबैन मंडी प्रधान लाभ सिंह अंटाल, मोहन लाल गर्ग, शिव कुमार कंबोज, बलवंत सिंह मुख्य रूप से उपस्थित थे।

Next Story
Top