Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

MDU: वेबसाइट पर माथापच्ची की झंझट ख़त्म, अब AAP पर भरें फॉर्म और पाएं रिजल्ट भी

महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (MDU) दूरस्थ शिक्षा ग्रहण कर रहे छात्रों को यह खबर राहत प्रदान करेगी। करीब 50 हजार छात्रों को विभिन्न कोर्स में फार्म भरने के लिए यूनिवर्सिटी की बेबसाइट पर माथापच्ची नहीं करनी पड़ेगी।

महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी ने पीजीआईएमएस में ड्यूटी कर रहे चिकित्सकों को नहीं दिया फैकल्टी हाउस, विरोध हुआ तेज
X
हरिभूमि न्यूज. रोहतक। महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (MDU) दूरस्थ शिक्षा ग्रहण कर रहे छात्रों को यह खबर राहत प्रदान करेगी। करीब 50 हजार छात्रों को विभिन्न कोर्स में फार्म भरने के लिए यूनिवर्सिटी की बेबसाइट पर माथापच्ची नहीं करनी पड़ेगी। फार्म भरने से लेकर परिणाम जारी होने तक की सभी प्रक्रियाएं एप से होंगी। एप का ट्रायल किया जा चुका है। उम्मीद है कि 29 फरवरी से 6 मार्च तक आयोजित होने वाले रंगो उत्सव में एप लांच कर दिया जाएगा। इस कार्यक्रम में एप लांच करने की योजनाएं इसलिए बनाई हैं ताकि पहली बार बड़े स्तर पर आयोजित किए जा रहे कार्यक्रम को यादगार बनाया जा सके। कुछ समय पहले यूनिवर्सिटी ने कर्मचारियों के लिए एप जारी किया था। जिसमें कर्मचारी वेतन से लेकर तमाम तरह की जानकारी इससे डाउनलोड कर सकते हैं। अब दूरस्थ छात्रों के लिए एप जारी होगा।

ये हैं फीचर
छात्रों को गूगल प्ले स्टोर में जाकर एमडीयू के नाम से एप डाउनलोड करना होगा। यह कार्य होने के बाद छात्र को अपना रजिस्ट्रेशन दर्ज करना होगा। इसके उपरांत छात्र की समस्त जानकारी मोबाइल पर मिल जाएंगी। इसमें परीक्षा फार्म कब भरने हैं। परीक्षाएं कब होगी और परीक्षा केंद्र कहां, परिणाम कब तक घोषित हो सकता है। ए सब जानकारी मिलेंगी। परिणाम घोषित होने के बाद अगर किसी छात्र का कम्पार्टमेंट है तो एप से दोबारा परीक्षा देने के लिए फार्म भर सकेगा।

वेबसाइट पर मिलेगी जानकारी
पत्राचार से शिक्षा ग्रहण करने वाले छात्र पूरे देश से हैं। हरेक छात्र को इस बारे में अवगत करवाने के लिए विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर एप की जानकारी दी जाएगी। बताया जा रहा है कि कुछ समय पहले एप की ट्रायल की गई थी। यह ट्रायल सफल हो चुकी है। इसके बाद ही यह निर्णय लिया गया कि एप को जारी कर दिया जाए।

महाविद्यालयों से जुड़ेगा एप
बताया जा रहा है कि कुछ समय बाद कॉलेजों को एप से जोड़ दिया जाएगा। ताकि महाविद्यालयों में नियमित रूप से कार्य कर रहे छात्र अपने फार्म एप से भर सकें। इस समय कॉलेज प्रबंधन विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जाकर यह काम करते हैं।

रंगो उत्सव की समीक्षा की
कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने कार्यभार संभालने के बाद रंगोत्सव 2020 की तैयारियों संबंधित बैठक ली। उन्होंने कहा कि इस मेगा इवेंट के सुचारू एवं सफल आयोजन के लिए जरूरी दिशा-निर्देश दिए। कार्यक्रम को यूनिवर्सिटी-सोसायटी कनेक्ट का जनोत्सव बनाया जाए। विश्वविद्यालय समुदाय समेत शहर तथा आसपास के ग्रामीण क्षेत्र से लोग इस कार्यक्रम में शामिल हों तथा लोक गीत-संगीत-नाटक-लोक परंपरा-लोक जीवनशैली-लोक खेल-लोक व्यंजन का लुत्फ उठा पाएं, ये प्रयास किया जाना चाहिए। संबद्ध महाविद्यालयों और स्थानीय विद्यालयों से भी विद्यार्थियों को इस कार्यक्रम में आमंत्रित किया जाए।

डीन स्टूडेंट वेलफेयर प्रो. राजकुमार और निदेशक युवा कल्याण डॉ. जगबीर राठी ने कुलपति को इस मेगा इवेंट संबंधित ब्रीफिंग दी। डीन, एकेडमिक एफेयर्स प्रो. नीना सिंह ने रंगोत्सव के अवधारणात्मक पहलुओं की जानकारी दी। डीन, लाइफ साइंसेज प्रो. पुष्पा दहिया ने पुष्प-उत्सव बारे जानकारी दी। डीन, मानविकी प्रो. हरीश कुमार ने थिएटर उत्सव को लेकर ब्रीफिंग दी। निदेशक जनसंपर्क सुनित मुखर्जी ने रंगोत्सव 2020 के प्रचार बारे कार्ययोजना का उल्लेख किया। बैठक में प्रो. नीना सिंह, प्रो. पुष्पा दहिया, प्रो. राजकुमार, प्रो. रणदीप राणा, प्रो. हरीश कुमार, डॉ. जीपी सरोहा, डॉ. संदीप कुमार, डॉ. जगबीर राठी, डॉ. प्रताप राठी, निदेशक जनसंपर्क सुनित मुखर्जी, पीआरओ पंकज नैन, डॉ. विकास सिवाच, विकास नागिल उपस्थत रहे।

महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय रोहतक के कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने कहा, "विश्वविद्यालय में डिजिटलाइजेशन को गतिविधियों बढ़़ावा देना हमारी प्राथमिकताओं में शामिल है। हमारे छात्र ज्यादा से ज्यादा डिजिटल हों। इसके लिए पत्राचार से शिक्षा ग्रहण करने वाले छात्रों के लिए एप जारी किया जाएगा।"

Next Story