Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पानी के मीटर नहीं लगवाने पर भी एमसीजी देगी बिल, फ्लैट रेट पर जारी होंगे पानी के बिल

नगर निगम गुरुग्राम (MCG) के सदन की शुक्रवार को बैठक हुई। जिसमें निगम क्षेत्र में पानी के मीटर लगवाने के संबंध में फैसला किया गया है। जो मकान मालिक मीटर नहीं लगवाएंगे उन्हें फ्लैट रेट पर बिल जारी होंगे।

पानी के मीटर नहीं लगवाने पर भी एमसीजी देगी बिल, फ्लैट रेट पर जारी होंगे पानी के बिलMCG will give water bills even if meter are not installed, water bills will be issued at flat rate

नगर निगम गुरुग्राम (MCG) के सदन की बैठक (House Meeting) सिविल लाइन स्थित स्वतंत्रता सेनानी हॉल में हुई। मेयर मधु आजाद और निगम आयुक्त अमित खत्री की मौजूदगी में सदन के पटल पर 22 एजेंडे रखे गए। जिसमें मुख्य रूप से रिहायशी और वाणिज्यिक पानी कनेक्शनों को लेकर फैसला किया गया। अर्बन वाटर पॉलिसी के तहत सभी पानी के कनेक्शनों पर वाटर मीटर लगाना उपभोक्ता की जिम्मेदारी तय की गई है। यानि की पानी के मीटर लगवाने के लिए उपभोक्ताओं को भुगतान करना होगा। नगर निगम गुरुग्राम की ओर से वाटर मीटर लगाने का कार्य किया जाएगा। इसके अलावा जो उपभोक्ता मीटर नहीं लगवाएंगे उन्हें फ्लैट रेट के आधार पर पानी के बिल दिए जाएंगे।



आरडी सिटी को टेकओवर का उठा मुद्दा

निगम की बैठक में पार्षद कुलदीप बोहरा ने आरडी सिटी के टेकओवर का मामला उठाया। इसके बाद अब जल्द इसे निगम क्षेत्र में शामिल किया जाएगा। आरडी सिटी के टेकओवर को लेकर फाइल चंड़ीगढ़ भेज दी गई है। इसके अलावा आरडी सिटी की तरह मालिबू टाऊन के टेकओवर की पार्षदों ने मांग की है।

आऊटसोर्स कर्मचारियों की जांच रिपोर्ट सौंपी

आऊटसोर्स आधार पर नगर निगम में लगे कर्मचारियों की जांच के लिए 15 जनवरी 2018 को एक कमेटी का गठन किया गया था। इस कमेटी में निगम पार्षद आरएस राठी को चेयरमैन बनाया गया था। उनके साथ निगम पार्षद सुभाष सिंगला, ब्रह्म यादव, रविन्द्र यादव और संजय प्रधान को शामिल किया गया था। कमेटी ने अपनी 124 पेज की जांच रिपोर्ट मेयर तथा निगमायुक्त को सौंपी। रिपोर्ट के आधार पर आगामी कार्रवाई की जाएगी।

Next Story
Share it
Top