Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Mausam Ki Jankari: हरियाणा में तेज बारिश के साथ ओलों से किसानों के चेहरे मुरझाए,

Mausam Ki Jankari: हरियाणा में शाम 4 बजे से ही सभी जिलों में तेज बारिश शुरू हो गई। कई जिलों में ओलावृष्टि भी देखने को मिली है। ऐसे में प्रदेश के किसानों की चिंता बढ़ गई है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत नुकसान का आंकलन शुरू, सरक
X
बारिश और ओलों से बर्बाद हुई फसल (प्रतीकात्मक फोटो)

Mausam Ki Jankari: हरियाणा में शुक्रवार सुबह से ही बारिश का मौसम बना हुआ था। सूबे में शाम 4 बजे से झमाझम बारिश शुरू हो गई। हरियाणा में इस समय आसमान पूरी तरह से काला है। प्रदेश के सभी जिलों में बारिश हो रही है। कैथल के अलाव कई और जिलों में ओले गिरने की भी खबरे आ रही है। इस बेमौसमी बरसात से किसानों को काफी हानि होगी।

पंजाब, हरियाणा, उत्तर पश्चिमी राजस्थान, और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटों के दौरान अधिकांश जगहों पर गरज के साथ मध्यम से भारी बारिश रिकॉर्ड की गई है। यह प्री-मॉनसून मौसमी हलचल है। प्री-मॉनसून सीजन यानी 1 मार्च से 31 मई के बीच ऐसी गतिविधियां होती रहती हैं। लेकिन मार्च की शुरुआत में इस तरह की व्यापक बारिश और ओलावृष्टि आमतौर पर कम होती है।

ओलावृष्टि से फसलों को नुकसान

तेज बारिश बारिश के साथ हवाओं की तेज रफ्तार और ओले गिरने के कारण रबी फसलों को नुकसान हुआ है। गेहूं और सरसों समेत कई फसलें ज़मीन पर लेट गई हैं। इस समय अधिकांश फसलें परिपक्व होने की अवस्था में हैं। ऐसे में उत्पादकता के प्रभावित होने का डर है। ओलावृष्टि से किसानो के माथे पर परेशानी की लकीरे बनी हुर्ई हैं।

शाम को एकाएक तेज हवाओं के साथ बरसात आरम्भं हो गई बस थोड़ी ही देर मे तेज ओले गिरने लगे पूरी जमीन ही सफेद हो गई सुबह हुई तेज बरसात व ओलावृष्टिी से खासकर सरसो की फसल से नुकसान हुआ हैैं किसानों का कहना हैं कि सरसों मे पहले ही कोहरे के कारण मोरडिया रोग लगा हुआ था। अब बारिश से यह बर्बाद हो जाएगी। कैथल में तेज बारिश फिर किसानों को काफी नुकसान हुआ है।

गलियों में भरा कीचड़

बरसात से गलियों सहित सड़कों पर कीचड़ ही कीचड़ नजर आ रहा है। निचली बस्तियों व गलियों में पानी भरा गया है। इससे वहां से गुजरने वाले राहगीरों सहित पैदल चलने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जींद रोड अंडर पास के नीचे पानी खड़ा हुआ है। इससे वाहन चालकों को बहुत ज्यादा परेशानी हो रही है। पूरे प्रदेश में लगभग यही हाल है।




Next Story