Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Haryana Election 2019: मनोहर सरकार का मास्टर स्ट्रोक, किसानों का पांच हजार करोड़ माफ, ऐसे उठाएं लाभ

हरियाणा चुनावों (Haryana Election 2019) से पहले प्रदेश की भाजपा सरकार (Haryana Bjp Goverment) ने किसानों को बड़ा तोहफा दिया है। इसमें 13 लाख किसानों के पांच हजार करोड़ रुपये के कर्जे (Farmer Loan Waived) को माफ कर दिया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल (Cm Manohar Lal) ने प्रेस वार्ता कर घोषणा की है।

मनोहर सरकार का मास्टर स्ट्रोक, किसानों का ढ़ाई हजार करोड़ रुपये माफManohar government's master stroke, farmers waived two and a half thousand crores

हरियाणा चुनावों (Haryana Election 2019) से पहले प्रदेश की भाजपा सरकार (Haryana Bjp Goverment) ने किसानों को बड़ा तोहफा दिया है। इसमें 13 लाख किसानों के पांच हजार करोड़ रुपये के कर्जे को माफ कर दिया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल (Cm Manohar Lal) ने प्रेस वार्ता कर सोमवार को घोषणा की है।

हरियाणा विधानसभा चुनावों (Haryana Assembly Election) से पहले भारतीय जनता पार्टी (Bjp) की तरफ से हर तबके के लिए बड़ी घोषणाएं की जा रही हैं। हरियाणा सरकार की तरफ से अब किसानों के कर्जे को लेकर बड़ी घोषणा की गई है। इसमें 13 लाख किसानों के लोन पर लगे ब्याज और जुर्माने को माफ कर दिया है। किसानों के ऊपर लगे करीब पांच हजार करोड़ रुपये ब्याज-जुर्माने को माफ किया गया है। ये लोन सहकारी बैंकों से जुड़ा हुआ है। जिसे अब सरकार की तरफ से चुकाया जाएगा।



भिवाड़ी में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए मनोहर लाल ने कहा कि किसानों को लेकर तीन योजनाओं के तहत लोन दिया जाता है। ऐसे में बड़ी संख्या में किसान ऐसे हैं जिन्होंने लोन नहीं चुकाया है। जिसके कारण उनके ऊपर ब्याज-पेनेल्टी समेत 12 फीसदी प्रति माह जुर्माना लग रहा है। ऐसे किसानों का पूरा जुर्माना-ब्याज माफ कर दिया गया है। किसान को बस लोन की मूल राशि चुकानी होगी।

8.25 लाख किसान डिफाल्टर

हरियाणा में 8 लाख से अधिक किसान डिफाल्टर हैं। किसानों के लोन के बाद ब्याज भी न चुकाने के चलते एनपीए के दायरे में आ गए हैं। आंकड़ों के मुताबिक 13 लाख किसानों ने लोन ले लखा है। इसमें 8.25 लाख किसानों ने ब्याज नहीं चुकाया है। जिसके कारण इनके उपर पेनेल्टी भी लग रही है। मुख्यमंत्री ने बताया कि किसान लोन के ऊपर 7 फीसदी ब्याज लिया जाता है।



इसमें चार फीसदी राज्य और 3 फीसदी नाबार्ड का होता है। इसके अलावा समय पर ब्याज न चुकाने पर 5 फीसदी पेनेल्टी लगती है। सरकार ने किसानों को राहत देते हुए पूरे ब्याज-जुर्माने को माफ कर दिया है। किसान मूल राशि लौटाएं और दोबारा से लोन पाने के हकदार बनें।

इन बैंकों से लोन लेने वाले किसानों को लाभ

प्राथमिक सहकारी,कृषि विपणन,जिला केंद्रीय सहकारी बैंकों तथा हरियाणा भूमि सुधार एवं विकास बैंक के ऋणी किसानों को फायदा। इन बैंकों से किसानों ने 4 हजार 700 करोड़ से अधिक का लोन ले रखा था।

ऐसे उठाएं लाभ

एक मुश्त समाधान योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को तीन माह के भीतर कर्ज की मूल राशि लौटानी होगी। योजना के तहत लाभ उठाने की अंतिम तिथि 30 नवंबर 2019 है। यदि तब तक कर्जे की मूल राशि को नहीं लौटाया तो ब्याजा और जुर्माने के साथ बैंक वसूली करेंगे। योजना के दायरे में छोटे-बड़े सभी किसान शामिल हैं।


Next Story
Share it
Top