Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणाः 50 से कम उम्र के टीचरों की गर्ल्स स्कूल में ''नो एन्ट्री''

यह पॉलिसी 2016-2017 सत्र से लागू होगी।

हरियाणाः 50 से कम उम्र के टीचरों की गर्ल्स स्कूल में
गुरुग्राम. हरियाणा सरकार ने अपनी नई टीचर ट्रांसफर नीति में बदलाव किया है। इस नीति के तहत 50 साल या उससे अधिक उम्र के टीचरों को ही सीनीयर गर्ल्स स्कूल में भेजा जाएगा। सरकार की इस नई पॉलिसी के अनुसार टीचरों की उम्र 30 जून 2016 तक कम से कम 50 वर्ष होनी चाहिए। यह पॉलिसी 2016-2017 सत्र से लागू होगी।
हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम विलास शर्मा कह कहना है कि टीचर अपनी पसंद के अनुसार स्कूल का चयन कर सकते हैं। इसके लिए ऑनलाइन फार्म उपलब्ध है। राम विलास ने बताया कि 30 जून 2016 तक जिन टीचरों की उम्र 50 वर्ष से कम है उन्हे सीनियर गर्ल्स स्कूल में नहीं भेजा जाएगा। यहां तक कि अगर 50 से कम उम्र होने के बावजूद कोई टीचर फॉर्म भरता है तो वह मान्य नहीं होगा।
गुरुग्राम के जाने माने प्राइवेट स्कूल की एक टीचर रूपा सिन्हा का कहना है कि 50 साल से अधिक के उम्र वाले टीचरों को सीनियर गर्ल्स स्कूल में भेजना शिक्षाविदों के लिए आश्चर्य की बात है क्योंकि इस नई पॉलिसी से छात्राएं केवल एक ही उम्र के शिक्षकों के विचारों और उनके अनुभवों को समझ पाएंगी। उन्होने कहा कि इस तरह के उम्र दराज शिक्षकों से छात्राएं केवल पुरानी बातें ही सीख पाएंगी। सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में युवा टीचरों की संख्या लगातार बढ़ रही है। ऐसे में वे नए टीचरों के विचारों से वंचित रह जाएंगी।
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुग्राम के एक प्राइवेट स्कूल के टीचर धीरेंद्र बाजपेयी ने इस नियम को पूरी तरह से बेतुका बताया है। धीरेंद्र कह कहना है कि यह पॉलिसी इस बात का प्रतीक है कि शायद युवा पुरुष शिक्षकों की कमी हो गई या फिर युवा शिक्षक इस पद के काबिल नहीं हैं।
हालांकि, शिक्षा विभाग अधिकारी नीलम भंडारी का कहना है कि गुरुग्राम में 130 सीनियर गर्ल्स स्कूल हैं। यह कदम छात्राओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उठाया गया है। नीलम के अनुसार इस नियम से राज्य में शिक्षकों के वितरण में सुधार होगा। विभाग के अधिकारियों ने बताया कि यह पॉलिसी बहुत पहले लागू होने वाली थी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top