Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय ने पुलवामा शहीदों को दी श्रद्धांजलि

पुलवामा के वीर शहीदों की बरसी पर शहीद-सैनिकों को महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई। कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने राज्य स्तरीय युद्ध स्मारक पर पुष्प अर्पित कर शहीद जांबाजों को नमन किया।

मदवि ने पुलवामा शहीदों को दी श्रद्धांजलिपुलवामा के शहीद( फाइल फोटो)

आज हम सब अपने घरों में सुरक्षित इसलिए हैं कि हमारे देश के वीर सैनिक दिन-रात बतौर सजग प्रहरी राष्ट्र की सुरक्षा में तैनात हैं। राष्ट्र के वीर सैनिकों के बलिदान की वजह से यह राष्ट्र सुरक्षित है तथा राष्ट्र की आजादी बरकरार है। पुलवामा के वीर शहीदों की बरसी पर शहीद-सैनिकों को भाव-भीनी श्रद्धांजलि देते हुए महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने ये उद्गार व्यक्त किए।

कुलपति प्रो. राजबीर सिह मदवि परिसर में राज्य स्तरीय युद्ध स्मारक में पुष्प अर्पित कर शहीद जांबाजों को नमन किया। उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित विद्यार्थी समुदाय को कहा कि देश प्रेम की भावना उत्तम भावना है। हमें अपने देश के प्रति प्रेम होना चाहिए। हमारे मन में देश के वीर सैनिकों के लिए कृतज्ञता का भाव होना चाहिए। उन्होंने विवि के शहीद भगत सिंह छात्र संगठन के पदाधिकारियों का आभार जताया, जिन्होंने कि इस कार्यक्रम का संयोजन किया। इस अवसर पर निदेशक जनसंपर्क सुनित मुखर्जी तथा पीआरओ पंकज नैन उपस्थित रहे।

गांव मोखरा में रविदास युवा समिति द्वारा पुलवामा हमले की पहली बरसी पर 40 अमर शहीदों को याद करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इसके बाद देशभक्ति के नारे लगाए व देश भक्ति गीत गाए गए। ग्रामीणों ने कहा कि शहीदों की कुर्बानी कभी व्यर्थ नहीं जाएगी। सरकार से मांग करते हैं कि 14 फरवरी पुलवामा शहीदों की याद में शहीद दिवस के रूप में मनाया जाए। आज हिंदुस्तान में 14 फरवरी को वेलेंटाइन डे के रूप में कुछ पाश्चात्य संस्कृति के समर्थक मना रहे हैं। इससे युवा भटक रहे हैं। यह पूर्णतया बंद होना चाहिए। इस अवसर पर रत्न, पप्पू प्रधान, जग्गा, निटू, विकास लोहिया, बजरंग, अनूप, सुरेंद्र आदि उपस्तिथ रहे।

पुलवामा शहीदों को किया नमन

पुलवामा में शहीद हुए सैनिकों को शुक्रवार को पूरे शहर ने नमन किया। इस दौरान विभिन्न सामाजिक व धार्मिक संस्थाओं ने श्रद्धांजलि सभा का आयोजन कर शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किए गए। इसके अलावा उनकी याद में रक्तदान शिविर, हेल्थ चेकअप और पौधरोपण भी किया गया। सभी ने एकजुट होकर कहा कि शहीदों की शहादत को कभी भुलाया नहीं जा सकता।

छात्रों ने याद किया शहीदों को

पुलवामा के आतंकी हमले की पहली बरसी पर मदवि छात्रों ने श्रद्धांजलि दी। यूनिवर्सिटी परिसर में शहीद स्मारक पर शुक्रवार शाम आयोजित कार्यक्रम में छात्र युवा संघर्ष समिति के जिलाध्यक्ष लोकेश ने कहा कि आज तक शहीदों और उनके परिजनों को इंसाफ नही मिला है। क्योंकि इन सैनिकों को आज तक सरकार ने शहीद घोषित नहीं किया है। उन्होंने कहा कि इन्हें शहीद का दर्जा देते हुए इनके परिवारों को पेंशन समेत दूसरी सरकारी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएं। कार्यक्रम में जगजीत,विमल जयभारत,अमन,जॉन,रवि,नवीन,अनिल,विकास शामिल रहे।

जुलुस निकालकर दी श्रद्धांजलि

एनएसयूआई ने महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के वॉर मैमोरियल में जाकर पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि दी। एनएसयूआई नेता अजय हुड्डा ने कहा कि पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद के कारण पुलवामा में भारतीय सेना की बस को विस्फोट करके उड़ा दिया गया था। जिसमें 44 जवान शहीद हो गये थे। इन शहीदों को श्रद्धांजलि देना हर भारतवासी का कर्तव्य है। उन्होंने युवाओं से कहा कि वे सेना के शौर्य को हमेशा ऊंचा रखें तथा देशभक्ति का जज्बा रखें। इस अवसर पर आशीष काद्यान, अरविंद पूनिया, दीपक श्योराण, राहुल काद्यान, अमित, कपिल, सुमित, साहिल, विवेक, देव सहित अन्य मौजूद रहे।

दो मिनट का मौन रख शहीदों को किया याद

खरावड़ के ग्रेट केपीएस स्कूल में शुक्रवार को शहीदी दिवस मनाया गया। इस अवसर पर शिक्षक व विद्यार्थियों ने दो मिनट का मौन रख पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों कोे याद किया और सच्ची श्रद्वांजली दी। इस मौके पर इंद्रजीत भारद्वाज व डायरेक्टर विरेंद्रर ने विद्यार्थियों को सैनिकों के वाहन पर हुए आतंकी हमले में शहीद हुए 44 सैनिकों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि हमें भी राष्ट्र सेवा सुरक्षा व एकता के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए। तभी हमारा राष्ट्र सुरक्षित रहेगा। प्राचार्य ज्योती, मोनिका, आशा, संगीता, पूजा, कविता, निशा, जोगेंद्र सहित पूरा स्टाफ भी उपस्थित था।

एसएफआई ने किया पुलवामा शहीदों को याद

एसएफआई की महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय इकाई ने शुक्रवार को पुलवामा के शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किए। इस हमले में मारे गए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानाें को शहीद घोषित करने की मांग की है। संगठन वर्ष 2004 से बंद की गई अद्धसैनिक बलों की पेंशन फिर से शुरू करवाने की मांग को लेकर कुलपति के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा। कुलपति को ज्ञापन सौंपने से पहले छात्र संगठन ने विश्वविद्यालय परिसर में प्रदर्शन भी किया। ज्ञापन में पुलवामा हमले में मारे गए अर्द्धसैनिक को शहीद का दर्जा देने की मांग की गई है।

कार्यक्रम का नेतृत्व करते हुए विश्वविद्यालय अध्यक्ष अंजू ने बताया कि पुलवामा हमले को आज एक वर्ष हो गया है। लेकिन अब तक कोई जांच नही हुई । अब तक पता नही चल पाया इतनी बड़ी चूक कैसे हुई ,किसने गलती की । इसके अलावा सरकार इन शहीदों को शहीद का दर्जा भी नही दे रही है । उन्होंने कहा कि इन अर्धसैनिकों को सरकार पेंशन भी नही देती हैं। क्योंकि सरकार ने अर्धसैनिक बलों की बंद की हुई है।

संगठन के राज्य सह सचिव अर्जुन ने कहा कि पुलवामा हमले के बाद सरकार ने बड़े -बड़े वादे तो किए लेकिन पूरा एक भी नही किया । शहीदों के परिवार सरकारी सहयोग व स्मारक बनवाने के लिए दर -दर भटक रहे हैं। लेकिन कोई उनकी सुन नहीं रहा । एसएफआई ने पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए मेरा देश मेरा वैलेनटाइन नारे के साथ अभियान चलाया । कार्यक्रम में पूजा ,वर्षा ,अंकुश सरिता ,संगीता ,गीता ,सुमित ,मोहित ,अर्जुन समेत काफी संख्या में संगठन के सदस्य मौजूद रहे।

पौधरोपण किया

पुलवामा हमले के शहीदों की याद में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सांपला में पौधरोपण किया गया। जिसमें इको क्लब के विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। इको क्लब की इंचार्ज व जीव विज्ञान की प्राध्यापिका अजीत कौर ने बच्चों को पर्यावरण में सुधार के लिए पेड़ों के महत्व के बारे में बताया। साथ ही पेड़ों को बचाने व उनकी देखभाल के लिए प्रेरित किया। उन्होंने बताया कि स्कूल में 2 महीने पहले कुछ सूखे पुराने पेड़ों की विभाग की अनुमति से कटाई करवाकर नीलामी कराई गई थी, जिसके बाद से स्कूल में कुछ पेड़ों के लिए जगह खाली हुई थी। उस वक्त पौधरोपण के लिए उपयुक्त समय न होने के कारण अब पुलवामा शहीदों की याद में नए पेड़ लगाए गए हैं। इस अवसर पर प्राचार्या संतोष कुमारी, डीपी सतवीर, सुमन, प्राध्यापिका मीनू देवी, वरुण भारद्वाज आदि मौजूद रहे।

वहीं सैनी सीनियर सेकेंडरी स्कूल में गत वर्ष पुलवामा हमले में मारे गए शहीदों की याद में श्रद्धांजलि सभा की। इस दौरान प्राचार्य डॉ. राम कुमार सैनी ने स्टाफ सदस्यों के साथ मिल कर स्कूल के प्रांगण में पौधरोपण किया। इस मौके पर अध्यापिका नीलम, मंजू, पूनम, दीपिका आदि मौजूद रहे।

एक शाम शहीदों के नाम

भगवा ए हिंद सेना की तरफ से पुलवामा शहीद की प्रथम पुण्यतिथि पर बाबा बालक पुरी पार्क में एक शाम शहीदों के नाम आयोजित की गई। इस दौरान तेरी मिट्टी में मिल जावां गीत सुनकर सभी भावविभोर हो गए। कोमल ठाकुर ने ए मेरे वतन के लोगों गीत के माध्यम से शहीदों को नमन किया। मुख्यातिथि रहे मेयर मनमोहन गोयल ने कहा कि आज की युवा पीढ़ी को भगत सिंह जैसा बनना चाहिए। इस अवसर पर महंत बाबा सुखा शाह, स्वामी सोमनाथ, भाजपा नेता प्रवीण घुसकानी, डॉ. गोपाल कृष्ण, अनिल भूटानी, प्रिंस, मोनू ठाकुर, लोकेश सोनी, यश, गुलाब, विकास मिश्रा, चिराग बेरी, गौरव मक्कड़, पुनीत, प्रवीण ठकराल, माधव, गोपी कोचर, संतोष, राघव, प्रमिला आर्य सहित अन्य मौजूद रहे।

बायोज्यूमस ने किया नमन

पुलवामा में शहीद हुए सैनिकों को बायोज्यूमस ने श्रद्धांजलि देते हुए नमन किया। इस दौरान बायोज्यूमस ने शहीद कैप्टन दीपक शर्मा व शहीद रविंद्र कुमार के परिजनों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। बायोज्यूमस डॉयरेक्टर पूनम अहलावत बताया कि बायोज्यूम संस्थान में विद्यार्थियों को कॉम्पीटीटिव परीक्षाअों व सभी उत्तम संस्थानों में दाखिला लेने के लिए हाेने वाले एंट्रेंस परीक्षा की तैयारी करवाता है। वहीं इस दौरान जवानों की शहादत से प्रेरित होकर ऐसे पहले बैच जय जवान जय किसान का शुभारंभ किया गया। उन्होंने कहा कि ये बैच उन नौजवानों के लिए है जो आर्मी भर्ती में मेडिकल पास कर चुके हैं। बैच 21 फरवरी से शुरू होगा। इस अवसर पर कर्नल जगदीश, राजेश, प्रवीन गौतम, गरिमा, अमित शर्मा, पंकज, नवीन, बलकेश सहित अन्य मौजूद रहे।

शहादत को भुलाया नहीं जा सकता

पुलवामा हमले में शहीद हुए सैनिकों की शहादत को नमन करते हुए हरियाणा युवा एकता मंच के अध्यक्ष महेंद्र बागड़ी के नेतृत्व में गोहाना अड्डा से अम्बेडकर चौंक तक मोमबत्ती जलाकर श्रद्धांजलि यात्रा निकाली गई। महेंद्र बागड़ी ने कहा कि हमले में शहीद हुए 44 सैनिकों की शहादत को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। इस अवसर पर बिमल मिनोचा, हेमंत बख्शी, राजू सहगल, रमेश खुराना, बाबा सुक्खा शाह, पंकज कपूर, चरणजीत शर्मा, गीता गोयल, मंजीत मोखरा, राहुल नांदल, मनमोहन आजाद, ताराचंद बागड़ी, लक्की पांचाल, कृष्ण सैनी, चिराग प्रधान, अक्षत सहगल, चिराग शर्मा, तुषार, अजय, आकाश सहित अन्य मौजूद रहे।

Next Story
Top