Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

लोकसभा चुनाव 2019 : हिसार में मतदाताओं को लुभाने के लिए विकास कार्ड खेल रहे हैं उम्मीदवार

लोकसभा चुनाव में हिसार में वंशवाद की सबसे रोचक प्रतिस्पर्धा देखने को मिल सकती है जहां तीन राजनीतिक परिवारों की विरासत की परीक्षा होनी है। तीनों परिवारों के उत्तराधिकारियों की पढ़ाई-लिखाई विदेशों में हुई है और उनके परिवार के सदस्य 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक तापमान में उनके लिए गहन प्रचार में लगे हुए हैं।

लोकसभा चुनाव 2019 : हिसार में मतदाताओं को लुभाने के लिए विकास कार्ड खेल रहे हैं उम्मीदवार

लोकसभा चुनाव में हिसार में वंशवाद की सबसे रोचक प्रतिस्पर्धा देखने को मिल सकती है जहां तीन राजनीतिक परिवारों की विरासत की परीक्षा होनी है। तीनों परिवारों के उत्तराधिकारियों की पढ़ाई-लिखाई विदेशों में हुई है और उनके परिवार के सदस्य 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक तापमान में उनके लिए गहन प्रचार में लगे हुए हैं।

भाजपा ने नौकरशाह से नेता बने 46 वर्षीय बृजेन्द्र सिंह को मैदान में उतारा है जो केंद्रीय मंत्री बीरेन्द्र सिंह के पुत्र और किसान नेता सर छोटू राम के प्रपौत्र हैं। कांग्रेस ने 26 वर्षीय भव्य बिश्नोई को टिकट दिया है जो कुलदीप बिश्नोई के पुत्र हैं। कुलदीप आदमपुर से कांग्रेस के विधायक हैं और उनकी मां रेणुका हांसी विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक हैं।

वे हरियाणा के दिवंगत मुख्यमंत्री भजनलाल के परिवार का प्रतिनिधित्व करते हैं। नवगठित जननायक जनता पार्टी (जजपा) ने दुष्यंत चौटाला (31) को अपना उम्मीदवार बनाया है। दुष्यंत पूर्व उपप्रधानमंत्री देवी लाल के प्रपौत्र हैं और वर्तमान में हिसार से सांसद हैं। तीनों उम्मीदवार चुनाव प्रचार में अपनी पारिवारिक विरासत की बात करने के अलावा उनकी पार्टियों द्वारा किए गए विकास कार्यों का भी जिक्र करते हैं।

हिसार मुख्यत: जाट बहुल इलाका है जहां 16 लाख मतदाताओं में करीब 33 फीसदी जाट समुदाय के लोग हैं। बिश्नोइयों की संख्या जाटों से कम है। दुष्यंत और बृजेन्द्र जाट नेता हैं जबकि भव्य, बिश्नोई समुदाय से आते हैं। दुष्यंत ने 2014 में इंडियन नेशनल लोकदल के नेता के तौर पर इस सीट पर 31 हजार से अधिक मतों से जीत दर्ज की थी और भव्य के पिता कुलदीप बिश्नोई को पराजित किया था।

पांच वर्ष बाद दुष्यंत की चुनावी जीत आसान प्रतीत नहीं हो रही है क्योंकि वह जजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं जिसका गठन उन्होंने परिवार में विवाद के बाद पिछले वर्ष दिसम्बर में इनेलो से हटकर किया था। हिसार लोकसभा सीट के तहत विधानसभा की नौ सीटें आती हैं जिनमें चार पर सत्तारूढ़ भाजपा काबिज है। 2014 के विधानसभा चुनावों में भाजपा ने पहली बार अपने दम पर यहां सरकार बनाई।

भव्य ने एक चुनावी रैली में कहा, ''हिसार भजनलाल जी की कर्मभूमि है और मेरे पिता की जन्म और कर्मभूमि है। मैं आपकी सेवा करने आया हूं। चौधरी भजनलाल का परिवार आपके प्यार और आशीर्वाद का ऋणी है।'' बिश्नोई चुनाव प्रचार में सीधे मोदी सरकार को निशाना बना रहे हैं। वहीं पूर्व आईएएस अधिकारी बृजेन्द्र सिंह मतदाताओं से मोदी को वापस लाने की अपील कर रहे हैं। दुष्यंत चौटाला की जजपा राज्य में सात सीटों पर चुनाव लड़ रही है जबकि सहयोगी आप शेष तीन सीटों पर चुनाव लड़ रही है।

Next Story
Share it
Top