Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कांग्रेस मेरे लिए तरह-तरह की गालियां चुनती हैं और इन्होंने तो मेरी मां को भी नहीं छोड़ा: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कांग्रेस पर अपशब्द कहने के आरोप लगाए। मोदी ने कहा कि कांग्रेस प्रेम वाली डिक्शनरी से मेरे लिए तरह-तरह की गालियां चुनती हैं और पार्टी ने मेरी मां को भी नहीं छोड़ा।

कांग्रेस मेरे लिए तरह-तरह की गालियां चुनती हैं और इन्होंने तो मेरी मां को भी नहीं छोड़ा: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कांग्रेस पर अपशब्द कहने के आरोप लगाए। मोदी ने कहा कि कांग्रेस प्रेम वाली डिक्शनरी से मेरे लिए तरह-तरह की गालियां चुनती हैं और पार्टी ने मेरी मां को भी नहीं छोड़ा। कुरुक्षेत्र में एक रैली में उन्होंने कहा कि मैंने उनके भ्रष्टाचार को रोका और उनके वंशवाद को चुनौती दी, जिस कारण प्रेम के नाम पर वे मुझे गालियां देते हैं।

प्रधानमंत्री ने दावा किया कि कांग्रेस ने उनकी तुलना हिटलर, दाऊद इब्राहिम, मुसोलिनी आदि से की है । मोदी ने कहा कि मैं अपने घर हरियाणा आया हूं और कुरुक्षेत्र सचाई की धरती है इसलिए यहां से मैं देशवासियों को उनकी प्रेम वाली डिक्शनरी और वो मेरे लिए किस तरह के शब्द इस्तेमाल करते हैं, उसके बारे में बताऊंगा।

उन्होंने यह टिप्पणी ऐसे वक्त की है, जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि मोदी भले उनके पिता राजीव गांधी का अपमान करें लेकिन उनके मन में प्रधानमंत्री के लिए प्यार है। मोदी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के एक नेता ने मुझे गंदी नाली का कीड़ा कहा, एक नेता ने मुझे पागल कुत्ता कहा, एक ने मुझे भस्मासुर कहा। विदेश मंत्री रहे कांग्रेस के नेता ने मुझे बंदर कहा जबकि एक ने मेरी तुलना भस्मासुर से की।

उन्होंने कहा कि मेरी मां का भी अपमान किया गया और पूछा गया कि मेरे पिता कौन हैं और याद रखिए मेरे प्रधानमंत्री बनने के बाद यह सब कहा गया।'' वह हरियाणा में दूसरी चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे। इससे पहले उन्होंने फतेहाबाद में जनसभा को संबोधित किया था। प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने ऐसे व्यक्ति को टिकट दिया जो उनके टुकड़े-टुकड़े करने की बात करते हैं।

उन्होंने कहा कि किसी ने भी कांग्रेस नेताओं के इस व्यवहार के बारे में सवाल नहीं किया। मोदी ने कहा कि जो मेरे टुकड़े-टुकड़े करने की बात करते हैं, कांग्रेस ने उनको टिकट देकर उनका समर्थन किया और उनका मनोबल बढ़ाया, इसलिए कि वे मोदी के टुकड़े-टुकड़े करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि मैं जानता हूं कि सार्वजनिक मंच पर इस तरह के शब्द बोलना ठीक नहीं है।

बच्चे स्कूलों-कॉलेजों में पढ़ते हैं, वे भी मेरा भाषण सुन रहे हैं लेकिन उन्हें इस तरह की (कांग्रेस नेताओं द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले शब्द) भाषा ना तो सीखनी चाहिए, ना ही बोलनी चाहिए।

Next Story
Share it
Top