Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ढाई करोड़ का प्लॉट 52 लाख में अलाट कराने वाला लेखपाल सस्पेंड

हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण में करोड़ों की जमीन के घोटाले के मामले में हुडा मुख्यालय ने रिटायरमेंट से महज 20 दिन पहले पानीपत कार्यालय में कार्यरत पटवारी कर्मबीर को सस्पेंड करते हुए सभी सरकारी लाभ रोक दिए है।

सांकेतिक फोटोसांकेतिक फोटो

हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (Haryana Urban Development Authority) में करोड़ों की जमीन के घोटाले के मामले में हुडा मुख्यालय ने रिटायरमेंट से महज 20 दिन पहले पानीपत कार्यालय में कार्यरत पटवारी कर्मबीर को सस्पेंड करते हुए सभी सरकारी लाभ रोक दिए है। इसके अलावा मुख्यालय ने तत्कालीन एईओ संतोष मेहता के भी सरकारी लाभ रोक दिए है।

संतोष मेहता दो साल पहले रिटायर हो चुकी है। वहीं आरोप है कि संतोष मेहता, पटवारी कर्मबीर, अधीक्षक श्याम सुंदर व जेई सतीश ने ने फर्जीवाडा कर हुडा के औद्योगिक सेक्टर 29 में 800 वर्ग मीटर जमीन को डिप्टी सुपरीटेंडेंट का फर्जी लेटर तैयार कर इस पर फर्जी हस्ताक्षर कर बेच दिया था।

इस मामले का खुलासा होने के बाद मामले की जांच फरीदाबार हुडा प्रशासक को दी गई थी। उन्होंने डेढ़ साल तक मामले की जांच की और रिपोर्ट मुख्यालय में सौंप दी। मुख्यालय ने रिपोर्ट के आधार पर पटवारी कर्मबीर को सस्पेंड कर दिया है।

गौरतलब है कि हुडा के इंडस्ट्रीयल सेक्टर-29 में 800 वर्ग मीटर के प्लाट नंबर 12 के लिए उद्योगपति चंद्रभान निवासी न्यू हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी ने 2013 में हुडा से संपर्क किया था। 29 अक्टूबर 2013 को उन्हें मुख्यालय की ओर से एक पत्र प्राप्त हुआ।

बीवी तनेजा डिप्टी अधीक्षक अर्बन ब्रांचए हुडा मुख्यालय पंचकूला द्वारा हस्ताक्षरित इस पत्र में हुडा की ओर से इस जमीन के टुुकड़े को 6500 रुपये प्रति वर्ग मीटर की दर से चंद्र भान को यह जमीन अलाट कर दी थी। इसी बीच पानीपत के एस्टेट ऑफिस से 20 नवंबर 2013 को पत्र जारी कर चंद्रभान 52 लाख रुपये जमा कराने को कहा गया था।

उद्योगपति के पैसे जमा कराने के बाद खुलासा हुआ कि इस तरह का कोई पत्र हेडक्वार्टर से जारी नहीं हुआ है। इस पूरे मामले में फर्जीवाडा हुआ था। इधर, हुडा, पानीपत के ईओ योगेश रंगा ने बताया कि डिप्टी अधीक्षक का फर्जी लेटर कर प्लाट अलाट करने के मामले में हुडा मुख्यालय के निर्देशों पर पटवारी कर्मबीर को सस्पेंड कर दिया गया है।

Next Story
Top