Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणाः मत्स्य पालन विभाग में लाखों के घोटाले का खुलासा

फतेहाबाद जिला मत्स्य विभाग में झींगा मछली पालन के नाम पर लाखों रुपये के घोटाले का पर्दाफाश हुआ है। सीएम फ्लाइंग हिसार ने इस मामले की जांच की तो फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ। अब शहर पुलिस ने सीएम फ्लाइंग के एसआई दुष्यंत कुमार की शिकायत पर मत्स्य विभाग के तत्कालीन उप निदेशक, जिला मत्स्य अधिकारी, कनिष्ठ अभियंता व 17 किसानों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।

झींगा मछली पालन को लेकर मत्स्य विभाग में लाखों का घोटालामछली घोटाला(प्रतीकात्मक फोटो)
हरियाणा के फतेहाबाद जिला मत्स्य विभाग में झींगा मछली पालन के नाम पर लाखों रुपये के घोटाले का पर्दाफाश हुआ है। सीएम फ्लाइंग हिसार ने इस मामले की जांच की तो फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ। अब शहर पुलिस ने सीएम फ्लाइंग के एसआई दुष्यंत कुमार की शिकायत पर मत्स्य विभाग के तत्कालीन उप निदेशक, जिला मत्स्य अधिकारी, कनिष्ठ अभियंता व 17 किसानों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।

पुलिस को दी शिकायत में दुष्यंत कुमार ने बताया कि फतेहाबाद जिला मत्स्य पालन विभाग की ओर से किसानों को झींगा मछली पालन के लिए सब्सिडी दी जाती है। इस मामले में उनको एक शिकायत पंचकूला हैडक्वार्टर से आई थी, जिसमें कहा गया था कि फतेहाबाद में झींगा मत्स्य पालन को लेकर अधिकारियों व किसानों की मिलीभगत से भारी हेरफेर किया गया है। जब वह इस मामले में जांच कर रहे थे तो पता चला कि फतेहाबाद जिला में झींगा मछली पालन कर 18 यूनिट बनी हुई हैं।

इन मछली पालकों क्षरा बिलों मे दर्शाए गए सभी उपकरण जांच के दौरान मौका पर नहीं पाए गए। उनके द्वारा अनुदान के लिए भेजे गए बिला की जांच पड़ताल की गई तो जिनमें सभी झींगा मछली पालकों के अधिकतर जनरेटर व अन्य उपकरणों के बिल फर्जी पाये गये हैं और झींगा मछली पालकों ने ये फर्जी बिल तैयार करके मत्स्य विभाग फतेहाबाद के अधिकारियों व कर्मचारियो से मिलीभगत करके सरकार को अवैध तरीके से फर्जी बिल व शपथ पत्र पेश करके अनुदान राशि प्राप्त करके सरकार को लाखों रूपये का नुकसान पहुंचाया है।

पुलिस ने इस संबंध में झींगा मछली पालक सतबीर सिंह निवासी बनमंदौरी, राज कुमार निवासी दहमन, दलबीर, राजबीर व औमप्रकाश निवासी ठुईयां, अनिल कुमार निवासी नहला, कृष्ण कुमार निवासी ठुईयां, सतीश निवासी ढाबीकलां, जितेन्द्र निवासी मेहूवाला, सतबीर सिंह निवासी बनबन्दोरी, पवन कमार निवासी बनगांव, दीपन भुटानी एमसी कॉलोनी, दिनेश जताना निवासी फतेहाबाद, रामस्वरूप निवासी बनबन्दोरी, कर्ण सिंह निवासी बनमंदोरी, संदीप, संजीत लांबा निवासी दौलतपर जिला हिसार, भीम सिंह पुत्र युद्धबीर सिंह निवासी कैमरी रोड हिसार, मत्स्य विभाग फतेहाबाद में तत्कालीन तैनात रहे उप निदेशक, जिला मत्स्य अधिकारी, फिशरी ऑफिसर तथा कनिष्ठ अभियंता के खिलाफ केस दर्ज करके जांच आरंभ कर दी है।

Next Story
Top