Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा : त्योहारी सीजन शुरू होते ही सब्जियों के बढ़े दामों से बिगड़ा रसोई का बजट

सब्जियों के बढ़ते दामों ने लोगों की रसोई के बजट के साथ ही मुंह का स्वाद भी बिगाड़ दिया है। त्योहारी सीजन शुरू होते ही सब्जियों के बढ़े रेट से रसोई का बजट बिगड़ गया है। सब्जी के भाव महंगाई के चलते सातवें आसमान पर पहुंच गए हैं। खासकर रोजाना काम में आने वाली सब्जियों के दामों के सबसे बुरे हाल हैं।

हरियाणा : त्योहारी सीजन शुरू होते ही सब्जियों के बढ़े दामों से बिगड़ा रसोई का बजट

सब्जियों के बढ़ते दामों ने लोगों की रसोई के बजट के साथ ही मुंह का स्वाद भी बिगाड़ दिया है। त्योहारी सीजन शुरू होते ही सब्जियों के बढ़े रेट से रसोई का बजट बिगड़ गया है। सब्जी के भाव महंगाई के चलते सातवें आसमान पर पहुंच गए हैं। खासकर रोजाना काम में आने वाली सब्जियों के दामों के सबसे बुरे हाल हैं।

सब्जियों के इन अनाप-शनाप दामों से उपभोक्ता तो परेशान हैं ही, साथ ही दुकानदार भी दुखी हैं। बाजार में टमाटर 50 रुपए किलो तक बिक रहा है। घीया 50 से 55 रुपये किलो तक बिक रहा है। प्याज 60 से 65 रुपये प्रति किलो बिक रहा है। मटर 100 से 120 रुपये प्रति किलो तक बिक रहा है।

गोभी 60 से 70 रुपये प्रति किलो तक बिक रही है। स्थानीय लोगों का कहना है कि कहना है कि सब्जी के बढ़े हुए दामों के चलते उनकी रसोई का सारा बजट बिगड़ गया है। उन्होंने कहा कि पहले से ही आम आदमी महंगाई की मार झेल रहा है और अब सब्जियां ओर ज्यादा महंगाई हो गई है जिसके चलते आम आदमी का बजट पूरी तरह से बिगड़ चुका है।

उन्होंने सरकार से मांग की है कि वह सब्जियों की महगाई पर कंट्रोल करे, ताकि लोगों का जनजीवन अस्त व्यस्त न हो। महिला सुमन का कहना है कि सब्जियों के दामों में एकाएक आई बढ़ोतरी ने सारा बजट ही बिगाड़ दिया है। पहले आमतौर पर सप्ताह की सब्जी 200 रुपये तक आ जाती थी, लेकिन अब वही सब्जी 300 रुपये से पार जा रही है।

ऐसे में पूरे माह में सिर्फ सब्जी-सब्जी का बजट ही 12 सौ के पार जा रहा है। महिला सरोज का कहना है कि महंगी सब्जी खरीदने का ही मन नहीं होता। मजबूरी के कारण खरीदनी पड़ती है। इतने अधिक दामों का सब्जी की मात्रा पर जरूर असर पड़ा है। पहले जो टमाटर हम एक बार में दो किलो खरीद लेते थे, अब वो महज आधा किलो पर आ गया है।

सब्जी विक्रेता मदन लाल का कहना है कि पीछे से ही सब्जियां महंगी आ रही हैं। मंडी में टमाटर, भिंडी आदि की फसल काफी कम आ रही है और इसी कारण से लगातार महंगी हो रही है। महंगी लेकर आएंगे तो आगे भी इसी रेट पर बेची जाएगी। सरकार दुकानदारों की ओर भी ध्यान दे ताकि दुकानदार और रेहड़ी चालक भी अच्छे से कमा सकें।

Next Story
Share it
Top