Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Haryana: शराब घोटाले के किंगपिन ने खरखौदा पुलिस के समक्ष किया समर्पण

सोनीपत शराब घोटाले में तस्करी के आरोपित ने पुलिस की छापेमारी और दवाब के बाद समर्पण कर दिया। मामले की जांच एसआईटी कर रही है। वहीं जांच में 11 पुलिसकर्मियों के नाम भी सामने आ रहे हैं। कई अधिकारी और सफेदपोश जांच के दायरे में आ सकते हैं।

Haryana: शराब घोटाले के किंगपिन ने खरखौदा पुलिस के समक्ष किया समर्पण
X
शराब तस्करी के आरोपित को कोर्ट में पेश करने ले ले जाते पुलिसकर्मी।

सोनीपत शराब घोटाले में शराब तस्कर ने खरखौदा पुलिस (Kharkoda Police) के समक्ष समर्पण कर गिरफ्तारी दे दी है। गिरफ्तारी के बाद किंगपिन भूपेंद्र को सोनीपत न्यायालय (Court) में पेश करने ले जाया गया है। खरखौदा बाईपास पर शराब के गोदाम में जांच के बाद 5696 पेटी शराब कम पाए जाने के बाद एसपी जशनदीप रंधावा ने पुलिस विभाग के कर्मचारियों व शराब तस्कर के खिलाफ सख्त कदम उठाने के आदेश दिए थे। इस दौरान डीएसपी हरेंद्र सिंह द्वारा जांच करके विभाग को जानकारी दी गई थी।

यह मामला जब प्रदेश गृह मंत्री अनिल विज (Home Minister Anil Vij) के संज्ञान में आया तो उन्होंने तुरंत एसआईटी द्वारा जांच करने के आदेश दिए व प्रदेश के उच्च अधिकारियों को नियुक्त करके मुख्यमंत्री से तह तक पहुंचने की सिफारिश की है। अब एसआईटी द्वारा निरंतर जांच की जा रही है। एसआईटी ने शराब तस्करी के आरोपित भूपेंद्र को गिरफ्तार करने के लिए उसके चंडीगढ़ स्थित फ्लैट पर 9 मई शनिवार को रेड डाली तो फ्लैट से लगभग 97लाख रुपए, सोने के गहने, दो हथियार व मोबाइल फोन बरामद किए गए थे। लेकिन भूपेंद्र ने शनिवार देर रात को पुलिस के सामने पेश होकर गिरफ्तारी दे दी।

एसआईटी जांच अधिकारी डीएसपी जितेंद्र कुमार का कहना है कि सबसे पहले इस मामले की सूचना एसपी साहब के पास आई थी। उन्होंने तुरंत डीएसपी खरखौदा द्वारा मामले की जांच के आदेश दे दिए थे। शनिवार को एसआईटी ने चंडीगढ़ स्थित भूपेंद्र के फ्लैट पर रेड डाली थी। जहां से काफी मात्रा में नगद राशि, गहने, दो हथियार व मोबाइल फोन बरामद किए थे। जब भूपेंद्र पर दबाव बना तो रात को वह पुलिस के सामने पेश हो गया। जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है। कई अधिकारी और सफेदपोश जांच के दायरे में आ सकते हैं। वहीं जांच में 11 पुलिसकर्मियों के नाम भी सामने आ रहे हैं। जांच में जिन कर्मचारियों के खिलाफ सबूत पाए गए उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। एसआईटी की टीमें अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है।

Next Story