Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कैथल : पुलिस ने 18 घंटे में सुलझाई अपहरण की गुत्थी, पिता नहीं बनने पर बच्चे को किया था किडनैप

कैथल में मासूम के अपहरण की वारदात को सुलझा लिया गया है। आश्रम में बच्चा गोद लेने पहुंचे युवक ने वारदात को अंजाम दिया। पिता नहीं बन पाने पर बच्चे का अपहरण किया गया।

यमुनानगर में युवक ने शादी का झांसा देकर युवती को किया अगवायमुनानगर से युवती को किया गया अगवा (सांकेतिक फोटो)

कैथल पुलिस ने शनिवार सायं को श्री सनातन धर्म मंदिर कैथल के बाल उपवन आश्रम से अज्ञात युवक द्वारा डेढ़ वर्षीय बच्चे के अपहरण के मामले को 18 घंटे में सुलझा लिया है। अपहरणकर्ता को काबू करते हुए बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया। पुलिस ने बच्चे का मैडिकल जांच करवाते हुए नियमानुसार कार्रवाई तहत उसके परिजनों के हवाले कर दिया। गौरतलब है कि अपहृत बच्चे की माता दो वक्त की रोटी जुटाने के लिए बाल उपवन आश्रम में बतौर कुक कार्य करती है, जो कैथल पुलिस के कार्य की निरंतर मुक्त कंठ से प्रशंसा करते हुए नहीं थक रही थी।

गिरफ्तार किए गए आरोपी की करीब ढाई वर्ष पूर्व शादी हुई थी जो अभी तक पिता नहीं बन सका। वह 5 दिसंबर 2019 को कैथल के बाल उपवन आश्रम में बच्चा गोद लेने के लिए आया था। परंतु बच्चा गोद लेने की प्रक्रिया के बारे में बताया गया कि इसके लिए करीब दो से तीन साल का इंतजार करना पड़ता है। इसे लेकर वह दो दिन बाद 7 दिसंबर की शाम को बाल उपवन आश्रम से डेढ़ वर्षीय बच्चे का अपहरण करके बाइक पर फरार हो गया।

आरोपी युवक की पहचान विकास निवासी डोहर के रुप में हुई, जो वर्तमान बलराज नगर कैथल के किराये के कमरे मंे अपने परिवार के साथ रहता है। युवक के कब्जे से अबोध बच्चे को बरामद कर वारदात में प्रयुक्त की गई मोटरसाईकिल जब्त कर ली गई। आरोपी से गहनता पूर्वक व्यापक पूछताछ की जा रही है तथा आरोपी सोमवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।

आरोपी का टूट गया था मनोबल

थाना शहर में आयोजित प्रैस वार्ता में पुलिस अधीक्षक विरेंद्र विज ने मीडिया द्वारा दिए गये सहयोग की प्रसंशा करते हुए कहा कि सोशल मीडिया पर वारयल हुई आरोपी व अपहरणकर्ता बच्चे की फोटो देखकर तथा आज सुबह समाचार पत्रों में फोटो सहित प्रकाशित समाचार देखकर आरोपी का मनोबल टूट गया और वह पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण करने की नीयत से शहर की तरफ आ रहा था। जिसे शहर पुलिस ने कमेटी चौक पर काबू करके गिरफ्तार कर लिया गया।

आश्रम में कुक का काम करती थी महिला

भगत सिंह कालोनी कैथल की विवाहित महिला कमेटी चौक स्थित श्री सनातन धर्म मंदिर में चलाए जा रहे बाल उपवन आश्रम मंे बच्चों के लिए खाना बनाने का काम करती है। उसने 7 दिसंबर को थाना शहर में दी शिकायत में आरोप लगाया था कि वह शाम करीब 4:15 बजे रसोई में काम कर रही थी। इसी दौरान उसकी तीन वर्षीय पुत्री तथा डेढ़ वर्षीय पुत्र उसके पास ही खेल रहे थे। जब उसने थोडी देर बाद बच्चों को संभाला तो उसका पुत्र गायब मिला। मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरे की फूटेज जांच के दौरान एक नामालुम युवक मामुस बच्चे का अपरहण करके बाईक पर फरार होता दिया।

बच्चे की वायरल फोटो से मिली मदद

थाना प्रबंधक शहर प्रभारी इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार ने एसपी विरेंद्र विज के मार्गदर्शन में की गई जांच के दौरान सजगता का परिचय देते हुए अपहृत बच्चे व आरोपी की फोटो तथा वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड कर दी गई। देखते ही देखते उक्त फोटो व वीडियो सोशल मीडिया पर व्यापक तौर पर विभिन्न गु्रपों में वायरल हो गई। इसके साथ ही पुलिस द्वारा कई टीमों का गठन करके विभिन्न ठिकानों पर दबिश देने के अतिरिक्त जिला व आसपास क्षेत्र की पुलिस सतर्क कर दी गई। रविवार को जब आरोपी बलराज नगर कैथल स्थित एक बारबर की दुकान पर कंटिग कराने पहुंचे आरोपी ने जब वहां रखे समाचार पत्र में अपनी व बच्चे फोटो देखी तो वह डर गया। उसे बारबर ने बताया कि उसका कल शाम से बच्चे के साथ वीडियो व फोटो वायरल हो चुका है, तो उसका मनोबल टूट गया। जब वह अपहृत बच्चे को लेकर उसी बाईक द्वारा शहर की तरफ आ रहा था, जिसे कमेटी चौंक पर पुलिस द्वारा काबू कर लिया गया।

पुलिस व मीडिया का जताया आभार

भगत सिंह कालोनी कैथल में रहने वाले अपहृत बच्चे के पिता प्रदीप कुमार तथा मां बबली अपने बच्चे यश को पाकर बहुत ही खुशी दिखाई दिए। उन्होंने बताया कि शनिवार सायं से यश की मां बबली ने कुछ नहीं खाया व पीया था। वह केवल अपने बच्चे को ढूंढने की गुहार लगा रही थी। उसने बताया कि सीआईए-1, सीआईए-2 व शहर पुलिस पूरी रात बच्चे व अपहरणकर्ता की खोज में जुटे रहे। वे स्वयं भी पुलिस के साथ रहे तथा जैसी भी हुआ उनका सहयोग दिया। पुलिस के प्रयास काम आया तथा पुलिस ने मात्र 18 घंटे में ही उनके बेटे को सकुशल उन्हें सौप दिया। वे इसके लिए पुलिस, मीडिया व कैथल की पूरी जनता के आभारी रहेंगे।

सीसीटीवी हुआ मददगार

कैथल पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र विज द्वारा मंदिर की मैनेजिंग कमेटी की तारीफ करते हुए कहा की मंदिर कमेटी लगे सी.सी टीवी कैमरों ने पुलिस की आरोपी को पकड़ने में मदद की। उन्होंने कहा मंदिर कमेटी की दरुस्त व्यवस्था से आरोपी जल्द गिरफ्तार हुआ। उन्होंने आम लोगो से अपने घरो और दुकानों पर सीसीटीवी कैमरा लगवाने की अपील की।

Next Story
Top