Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जुनैद हत्याकांड का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, पिता ने मांगी मौत की सजा

जुनैद पर गोमांस खाने और देशद्रोही होने का आरोप लगाते हुए भीड़ ने जानलेवा हमला किया था।

जुनैद हत्याकांड का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, पिता ने मांगी मौत की सजा

जुनैद हत्याकांड मामले में मुख्य आरोपी को महाराष्ट्र से गिरफ्तार कर लिया गया। उसे देर रात पुलिस ने सरकारी अस्पताल में उसका मेडिकल कराया गया। आरोपी ने गुनाह कबूल कर लिया है। इस बीच हिंसा में बीफ से जुड़े विवाद से पुलिस ने इनकार किया है। पुलिस ने कहा है कि झगड़ा सीट को लेकर हुआ था।

उधर जुनैद खान के पिता ने हत्या के मुख्य दोषी को मौत की सजा दिए जाने की मांग की है।

बता दें कि मथुरा से चलने वाली ट्रेन में जुनैद हत्याकांड में शामिल मुख्य आरोपी को पुलिस ने शनिवार को महाराष्ट्र से धुले जिले में गिरफ्तार कर लिया है। सरकारी रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने कहा कि मुख्य आरोपी के धुले में छिपे होने की सूचना मिली जिसके बाद एक पुलिस टीम को आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए महाराष्ट्र भेजा गया। 22 जून को हुई जुनैद की हत्या के खिलाफ देशभर में आक्रोश फैल गया।

इसे भी पढ़ेंः बल्लभगढ़ के इस गांव में नहीं मनी ईद, जानें क्यों

वहीं जीआरपी ने एक बयान जारी कर कहा कि पूछताछ के दौरान आरोपी ने कबूल किया है कि वो जुनैद हत्याकांड में मुख्य रूप से शामिल था। इससे पहले पुलिस ने एक सरकारी कर्मचारी सहित पांच आरोपियों को जुनैद हत्याकांड में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया था।

आरोपियों में एक 50 साल का शख्स भी शामिल था। हरियाणा के बल्लभगढ़ में खांडवली गांव का रहने वाला जुनैद 22 जून को अपने चार दोस्तों के साथ दिल्ली से खरीदारी कर घर लौट रहा था, जब चलती रेलगाड़ी में लोगों के एक समूह ने उन्हें ‘गो-मांस खाने वाले’ और ‘देशद्रोही’ कहते हुए उन पर हमला कर दिया था, जिसमें जुनैद की मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार घटना से पहले जुनैद दिल्ली के सदर बाजार से खरीदारी कर हासिब, शाकिर और मोहसिन के साथ रेलगाड़ी से घर को लौट रहा था। हमले में घायल हुए हासिब के अनुसार, रेलगाड़ी में ओखला स्टेशन से 15-20 लोग चढ़े और उनसे सीटें छोड़ने के लिए कहा। भीड़ ने चारों किशोरों के साथ मारपीट की और धारदार हथियार से हमले किए तथा पलवल जिले के असौती स्टेशन पर उन्हें रेलगाड़ी से बाहर फेंक दिया।

जुनैद की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई, जबकि उसके तीनों दोस्त घायल हो गए। खबरों में बताया गया कि चारों मुस्लिम किशोरों पर गोमांस खाने और देशद्रोही होने का आरोप लगाते हुए भीड़ ने जानलेवा हमला किया था। हरियाणा सरकार ने पीड़ितों के परिवार के लिए 10 लाख रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की है।

Next Story
Share it
Top