Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Kaithal : बारदाना घोटाला में इंस्पेक्टर सुभाष सस्पेंड, जाने क्या है मामला

कैथल जिले की अनाज मंडी चीका में सहायक डायरेक्टर डाॅ. इंद्रजीत की टीम जांच को पहुंची तो गेहूं के जो स्टैग लगाए हुए थे वे नई बोरियों की बजाय वे पुरानी बोरियों की थी । इसी मामले में शुरुआती जांच में मिली खामियों के आधार पर खाद्य एवं आपूर्ति विभाग इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया गया है।

Kaithal : बारदाना घोटाला में इंस्पेक्टर सुभाष सस्पेंड, जाने क्या है मामला

कैथल। अनाज मंडी चीका में इस साल गेहूं (Wheat) सीजन में हुए बारदाना घोटाले (Bardana scam) के मुख्य आरोपी एवं खाद्य एवं आपूर्ति विभाग इंस्पेक्टर सुभाष चंद को विभाग ने तुरंत प्रभाव से सस्पेंड (Suspend) कर दिया है। विभाग के आलाधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार पिछले दिनों विभाग ने बारदाना घोटाले की जांच को लेकर एक टीम का गठन किया गया था। इसी टीम द्वारा की गई प्रारंभिक जांच के नतीजों के आधार पर सुभाष चंद को निलंबित कर दिया गया है।

गौरतलब है कि विभाग के सहायक डायरेक्टर डा. इंद्रजीत की टीम ने चीका पहुंचकर जांच की तो पाया कि अनाज मंडी में इस बार विभाग द्वारा खरीदी गई गेहूं के जो स्टैग लगाए हुए थे उसमें नई बोरियों की बजाय पुरानी बोरियां इस्तेमाल की गई थी।

बता दें कि एक पखवाड़ा पहले चालू गेहूं के सीजन के दौरान खाद्य एवं आपूर्ति विभाग द्वारा लाखों कट्टे गेहूं खरीदी गई थी। मंडी में बारदानें की कमी को लेकर आढ़तियों में अफरा तफरी मची हुई थी। आरोप है कि विभाग ने बारदाना विक्रेता से आढ़तियों को पुराना बारदाना उपलब्ध करवाया था, जबकि सरकार ने गेहूं भरवाने के लिए नया बारदाना भेजा था। इस मामले को लेकर पूर्व पार्षद चांद राम रंगा ने आवाज उठाई थी तथा भाजपा गुहला मंडल के अध्यक्ष लीला राम ने विभाग के आला अधिकारियों के सामने घोटाले के पक्के सबूत पेश किए थे। अधिकारियों को कहना है कि भ्रष्टाचार किसी भी हालत में स्वीकार नहीं किया जाएगा। 

Next Story
Top