Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

घायल महिला रोड पर 30 मिनट तक तड़पती रही, लोग बनाते रहे वीडियो

कपड़ा व्यापारी पुलिस कंट्रोल में कॉल मिलाता रहा। फोन नहीं मिलने पर घायल को निजी अस्पताल में लेकर पहुंचे। जहां पुलिस केस बताकर उपचार करने से मना कर दिया।

राजस्थान: सीकर में भीषण सड़क हादसा, मौके पर 7 लोगों की मौतसड़क दुर्घटना (प्रतीकात्मक)

राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-44 पर ओमेक्स सिटी के सामने इंसानियत को शर्मसार करने का मामला सामने आया हैं। सड़क पार करते समय महिला को तेज रफ्तार डंपर ने चपेट ले लिया। हादसे के बाद डंपर चालक मौके से फरार हो गया। हादसे में घायल महिला आधे घंटे तक सड़क किनारे तड़पती रही। मौके पर मौजूद लोग अस्पताल पहुंचाने के बजाय वीडियो बनाने लगे।

वहीं एक कपड़ा व्यापारी पुलिस कंट्रोल में कॉल मिलाता रहा। फोन नहीं मिलने पर घायल को निजी अस्पताल में लेकर पहुंचे। जहां पुलिस केस बताकर उपचार करने से मना कर दिया। उसके बाद महिला को नागरिक अस्पताल में लाया गया। प्राथमिक उपचार के बाद महिला को रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया। रास्ते में महिला ने दम तोड़ दिया। लचर व्यवस्था के कारण महिला को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सुपुर्द कर दिया।

दिल्ली निवासी अखिलेश ने बताया कि वह कपड़ों का व्यापार करता हैं। दिल्ली से पानीपत के लिए कपड़े लेने के लिए निकले थे। जीटी रोड आमेक्स के सामने सड़क किनारे लोगों की भीड़ दिखाई दी। सड़क किनारे घायल महिला तड़प रही थी। मौके पर मौजूद लोग घायल महिला का वीडियो बनाने में लगे रहे। अपनी ईको कार में महिला को नजदीक निजी अस्पताल में लेकर पहुंचे।

अस्पताल स्टाफ ने पुलिस केस बताकर सरकारी अस्पताल में लेकर जाने को कहा। व्यापारी महिला को लेकर अस्पताल में पहुंचे। जहां प्राथमिक उपचार के बाद महिला की हालत गंभीर होने के चलते महिला को चिकित्सक ने रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया। रास्ते में लेकर जाते समय महिला ने दम तोड़ दिया। मामले की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची मुरथल थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सुपुर्द कर दिया।

परिसर में खड़ी एम्बुलेंस में नहीं मिला तेल

राहगीरों ने घायल महिला को नागरिक अस्पताल में पहुंचाकर अपना फर्ज निभा दिया। आपातकालीन कक्ष में महिला को 10 बजकर 40 मिनट पर लाया गया। प्राथमिक उपचार के बाद महिला की हालत गंभीर होने के चलते रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया। एम्बुलेंस के लिए 10.55 बजे पर्ची दी गई। परिसर में खड़ी एबुलेंस में तेल डलवाने के लिए मेल की गई थी। तेल की परमिशन नहीं मिलने के कारण दूसरी एम्बुलेंस के लिए कॉल की। उसके बाद महिला को 11.32 मिनट पर एम्बुलेंस मिली।

मोबाइल फोन से महिला की हो सकी शिनाख्त

हादसे के बाद व्यपारी घायल महिला को लेकर नागरिक अस्पताल में पहुंचे। किसी ने गाड़ी में महिला के बैग को भी रख दिया। महिला की बैग में महिला का मोबाइल फोन मिला। जिससे व्यपारी ने कॉल की। महिला की पहचान पानीपत निवासी पुष्पा (32)के रूप में हुई। महिला मेहनत-मजदूरी का काम करती थी। वह ओमेक्स स्थित जनता अस्पताल में साफ-सफाई का काम करने के लिए आई थी। सड़क पार करते समय डंपर की चपेट में आ गई।

पुलिस कंट्रोल में नहीं मिली कॉल, तड़पती रही महिला

जीटी रोड पर हादसे में घायल महिला की लोग वीडियो बनाते रहे। राहगीर ने कंट्रोल में कॉल कर महिला के साथ हुए हादसे की जानकारी देनी चाही, सुबह 10.15 मिनट से लेकर 10.32 मिनट तक कॉल करते रहे, लेकिन कंट्रोल का नंबर नहीं मिल पाया। निजी अस्पताल स्टाफ ने पुलिस केस बताकर लेकर जाने के लिए बोल दिया। समय पर उपचार न मिलने के कारण व एम्बलेंस मिलने में हुई देरी के कारण महिला को उपचार नहीं मिल पाया। पीजीआई लेकर जाते समय महिला ने रास्ते में दम तोड़ दिया।

मुरथल थाना जांच अधिकारी कुलदीप सिंह ने कहा कि अस्पताल से महिला की मौत होने की सूचना मिली थी। महिला ओमेक्स सिटी स्थित अस्पताल में साफ-सफाई का काम करती थी। शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सुपुर्द कर दिया। वाहन चालक की पहचान के प्रयास किये जा रहे हैं। जल्द से जल्द आरोपित की पहचान कर मामले का पटाक्षेप कर दिया जायेगा।

Next Story
Share it
Top