Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

IN DEPTH: केजरी वायरस, ‘खेमका’ व हुड्डा का पत्रकार सम्मेलन!

कांग्रेस की कलह और मौलाना साहब की चिंता!

IN DEPTH: केजरी वायरस, ‘खेमका’ व हुड्डा का पत्रकार सम्मेलन!
हरि‍याणा। इन दिनों हरियाणा और पंजाब के सचिवालयों में चार राज्यों के चुनाव और इनके रिजल्ट की चर्चा की जा रही है। इस चर्चा में सबसे ज्यादा समय और ‘फोकस’ दिल्ली में ‘आप’ के सर्वेसर्वा केजरीवाल पर किया जा रहा है। इसीलिए इस सप्ताह केबिनेट मीटिंग के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री ‘बड़े हुड्डा’ के पत्रकार सम्मेलन में सबसे अधिक सवाल भी केजरी और आम आदमी पार्टी को लेकर रहे। अर्थात ‘आपने’ चार राज्यों में दौरा किया। ‘आप’ क्या सोचते हैं? भ्रष्टाचार व महंगाई पर ‘आप’ क्या सोचते हैं?

अर्थात आप ही आप छाया रहा। इस बार के कुछ सवाल-देखन में छोटे लगे। वाली कहावत को चरितार्थ करते दिखाई दिये। ‘खेमका’ और ‘केजरी’ दोनों ही सीएम की प्रेस कांफ्रेंस का अधिकांश समय पी गए। कुछ प्रशासनिक अफसर भी इन सवालों को लेकर परेशान होते दिखाई दिये। अब साहब, सोते हुए को जगा दें जागते हुए को कैसे जगाएं? हमने तो काफी पहले ही राज्य में ‘केजरी वायरस’ फैलने की बात कही थी। अब तो सच्चाई लोगों के सामने है। ‘आप’ ने खुलकर मैदान में उतरने की घोषणा कर दी है।
कांग्रेस की कलह और मौलाना साहब की चिंता! सूबे के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ‘मौलाना साहब’ आए दिन की कांग्रेसी कलह से तंग आ चुके हैं। ऐसे में स्थायी निवारण के लिए चिंतित हैं। इस सप्ताह राजधानी के कांग्रेस दफ्तर पर अनुसूचित विभाग कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रभारी के राजू पहुंचे। उनके साथ में ‘दिल्ली दरबार’ के दो अन्य दूत भी यहां आए थे। इन्हें यहां पर कांग्रेस के लोकसभा चुनावों के लिए तैयार हो रहे घोषणा पत्र में दलित हितों के लिए कुछ सुझाव चाहिए थें।

सुझाव तो दूर यहां नमाज बख्शवाने पहुंचे इन नेताओं के रोजे गले पड़ने वाली कहावत दिखाई दी। एससी विभाग की प्रभारी और मंत्री गीता भुक्कल के साथ-साथ विधायक शकुंतला खटक अन्य कांग्रेसियों की मौजदूगी में लोगों ने घंटों अपनी भड़ास निकाली। जिसके बाद में हंगामा खड़ा हो गया। केंद्रीय मंत्री सैलजा और सांसद ईश्वर सिंह के खिलाफ वाल्मीकि नेता राजकुमार वाल्मीकि ने नाम लेकर हमला किया तो शंकुतला खटक ने भी इसे आगे बढ़ाया। चिंतित ‘मौलाना साहब’ मंद-मंद मुस्कुराहट के साथ सभी को शांत करते रहे बाद के राजू के धन्यवाद भाषण को उन्होंने यहां पहुंचे कांग्रेसियों को हिंदी में समझाया कि वे सभी का धन्यवाद कर रहे हैं। इसके बाद में सभी नेता और वर्कर सकपका गए कि इतने शोरगुल का क्या फायदा जब राजू जी से हिंदी नाराज है? छोटी बहन के इलाके में बड़े भाई का गुस्सा! आमतौर पर धैर्य और शांति के साथ जवाब देने वाले ‘बड़े हुडडा’ शुक्रवार को अंबाला की माटी पर एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे।

यह उनकी ‘छोटी बहन’ कुमारी सैलजा का संसदीय क्षेत्र है। यहां पहुंचने पर कुछ कलमकारों ने जब टेढ़े सवाल पूछे तो ‘बडे हुडडा’ का बीपी हाई हो गया। ‘छोटी बहन’ के इलाके में इस तरह के हालात बार-बार क्यों बनते हैं। इस पर अपने कांग्रेसी मुंशी जी विचार मंथन में जुटे हुए हैं। क्योंकि कईं बार से अंबाला जाना रास नहीं आ रहा है। पूछे जाने पर अपने ‘मुंशी जी’ तपाक से जवाब देते हैं-छोटी बहन इलाके से अक्सर बाहर ही रहती हैं, ऐसे में गुस्सा बड़े भाई पर उतरना ही है। हालांकि ‘बडे हुडडा’ खुद ‘छोटी बहन’ को अपने इलाके में लोगों के बीच उपलब्ध रहने की नसीहत खुद दे चुके हैं। ‘खेमका’ की चार्जशीट का जवाब और साइलेंट मोड! चर्चित आईएएस खेमका वाड्रा डीएलएफ डील मामले में आरोप पत्र लेकर जवाब देने की तैयारी में जुटे हुए हैं। आरोप पत्र के जारी होने से महीनों पहले मीडिया की सुर्खियों में यह छायी हुई थी। इसे हरियाणा सचिवालय से ‘खेमका’ के हाथों तक पहुंचने में लंबा अर्सा बीत गया, कलमकार भी लिख लिखकर थक चुके थे। और जब ‘चार्जशीट’ आयी तो बवाल हो गया।

खेमका ने इसे एक अखबार में छपवाने पर पहला बड़ा सवाल उठाया। दूसरा सवाल अपने बेटे को रात के समय चार्जशीट थमाये जाने पर उठाया और कुछ वरिष्ठ प्रशासनिक अफसरों को सीधे ही लिखा-चार्जशीट और मीमो उन्हें दें उनके परिवार को परेशान ना करें। इन दिनों खेमका ‘साइलेंट मोड’ में चले गए हैं। उनके दफ्तर के बाहर का स्टाफ के पास -‘नो डिस्टर्ब प्लीज’ का स्लोगन है, सुनते ही आने वाला गाड़ी बैक गेयर में लगाकर भागता है। अब देखना यह है कि?
Next Story
Share it
Top