Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बुजुर्ग महिला को IAS अफसर की कार ने मारी टक्कर, हरियाणा सरकार ने मांगा जवाब

इस हादसे में परमजीत धनोआ को चेहरे व सिर पर गंभीर चोट आई और उनकी पसली टूट गई।

बुजुर्ग महिला को IAS अफसर की कार ने मारी टक्कर, हरियाणा सरकार ने मांगा जवाब

चंडीगढ़. पिछले पांच दिन पहले चंडीगढ में एक नौकरशाह ने 90 वर्षीय परमजीत कौर धनोआ को कार से टक्कर मार दी थी। जिसके बाद अब तक इस मामले में अब तक पुलिस ने अब तक न तो वाहन चालक को हिरासत में लिया है और न ही टक्कर मारने वाली को जब्त किया है। आपको बता दें परमजीत कौर सेना में सेवा दे चुकी हैं। सोशल नेटवर्किंग साइटों पर अब इस घटना और वीआईपी संस्कृति की भी निंदा हो रही है।

ये भी पढ़ें : गुड़गांव में महिला पुलिस अधिकारी ने कमिश्नर पर लगाया प्रताडित करने का आरोप

आपको बता दें 90 वर्षीय महिला को हरियाणा कैडर के आईएएस अधिकारी अनिल कुमार की कार ने 25 सितंबर को टक्कर मार दी थी। उस वक्‍त सेवानिवृत्‍त कैप्टन परमजीत कौर धनोआ अपने परिवार के साथ टैगोर थिएटर में नाटक देखने जा रही थी। परमजीत सेना में डॉक्टर के तौर पर सेवा दे चुकी हैं।
इस हादसे में परमजीत धनोआ को चेहरे व सिर पर गंभीर चोट आई और उनकी पसली टूट गई। टक्‍कर के दौरान नौकरशाह अनिल कार में मौजूद थे। मगर, पुलिस ने इस मामले में अभी तक आरोपी ड्राइवर को न तो गिरफ्तार किया है और न ही गाड़ी जब्‍त की है। इसके चलत यह मामला अब तूल पकड़ने लगा है।
धनोआ के बेटे इंदरप्रीत सिंह ने अनिल कुमार पर पद का दुरुपयोग करके मामला दबाने की कोशिश करने का आरोप लगाया। इंदर का आरोप है कि टक्‍कर के बाद अनिल कुमार गाड़ी से नीचे तो उतरे, लेकिन कोई मदद करने की बजाय वह उनकी बुजुर्ग मां को देखकर थि‍एटर के अंदर चले गए।
मौके पर मौजूद लोगों की मदद से वह मां को गाड़ी में लेकर कमांड हॉस्पिटल ले गए। उन्होंने कहा कि हादसे के बाद पूर्व ग्रह सचिव ने न तो फोन पर और न ही अस्पताल आकर उनकी हालत के बारे में पूछा। मामले की शि‍कायत पुलिस से करने पर पुलिस ने भी टालमटोल का रवैया अपनाया।
बाद में मीडिया के दबाव में पुलिस ने अज्ञात व्‍यक्ति के खिलाफ लापरवाही से वाहन चलाने के आरोप में आईपीसी की धारा 279 और जिंदगी खतरे में डालना और दूसरों की सुरक्षा को खतरे में डालने के आरोप में धारा 337 के तहत मामला दर्ज किया है।
नीचे की स्लाइड्स में पढें, पूरी खबर-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Share it
Top