Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा सरकार की अनदेखी से नाराज 100 दलितों ने अपनाया बौद्ध धर्म, मांगे पूरी नहीं होने पर किया धर्म-परिवर्तन

हरियाणा के जिंद में 100 से भी ज्यादा दलित समुदाय के लोगों ने हिंदू धर्म को त्याग कर बौद्ध धर्म को अपना लिया हैं। दलितों का आरोप है कि राज्य सरकार ने उनकी मांगे पूरी नहीं की इसलिए मजबूरन उन्हें यह कदम उठाना पड़ा।

हरियाणा सरकार की अनदेखी से नाराज 100 दलितों ने अपनाया बौद्ध धर्म, मांगे पूरी नहीं होने पर किया धर्म-परिवर्तन

हरियाणा में एक बार फिर से दलित राजनीति जोर पकड़ने लगी है। पिछले दिनों हरियाणा में दलितों पर हुए हमलों के खिलाफ दलित समुदाय के लोगों ने राज्य सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। दलितों ने एससी-एसटी एक्ट संरक्षण बिल में बदलाव की मांग के विरोध में धर्म परिवर्तन करने की धमकी दी है।

आपको बता दे कि अकेले हरियाणा में रहने वाले 100 से भी ज्यादा दलित समुदाय के लोग हिंदू धर्म को त्याग कर बौद्ध धर्म को अपना चुके हैं। दरअसल हरियाणा के जिंद में पिछले 113 दिनों से दलित समुदाय के लोग झांसा गैंग रेप केस में दलितों पर हुए अत्याचार के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं।

जिनमें से 100 से भी ज्यादा लोग पहले ही समाज में दलितों की अनदेखी से नाराज होकर बौद्ध धर्म को अपना चुके हैं। वहीं दूसरी तरफ दलित नेता दिनेश खापड़ का कहना है कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 7 मार्च को ही हमारी सभी मांगों को मान लिया था।

यहीं नहीं दलित नेता ने हरियाणा सरकार को 20 मई तक अल्टीमेटम दिया था। दलित नेता का कहना है कि अगर राज्य सरकार हमारी मांगों को एक हफ्ते में पूरा नहीं करती है तो हम आगामी 27 मई को दिल्ली के लिए मार्च निकाला और दिल्ली के लद्दाख भवन में बौद्ध धर्म को अपनाया।

ये है दलितों की मांगे

- दलितों की मांग है कि सभी गैंगरेप मामलों की जांच सीबीआई के द्वारा कराई जाएं।

- ईश्वर हत्याकांड में परिवारवालों को नौकरी दी जाएं।

- जम्मू कश्मीर में शहीद हुए दलित समुदाय के परिवार वालों को नौकरी दी जाए।

- एसटी एससी एक्ट में अध्यादेश लाया जाए।

Next Story
Share it
Top