Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा के राखीगढ़ी से मिले कंकाल पर छिड़ी बहस, जानें पूरा मामला

भारत की सभ्यता और संस्कृति के विकास के संबंध में कई तरह के दावे किए जाते रहे हैं। हड़प्पा की सभ्यता के प्रमुख स्थानों में से एक हरियाणा के राखीगढ़ी से मिले 4500 साल पुराने कंकाल के डीएनए टेस्ट ने एक नई बहस को जन्म दे दिया है। अध्ययन का दावा है कि भारत में आर्यन हमले (Aryan invasion) जैसी कोई घटना नहीं हुई थी।

हरियाणा के राखीगढ़ी से मिले कंकाल पर छिड़ी बहस, जानें पूरा मामला

भारत की सभ्यता और संस्कृति के विकास के संबंध में कई तरह के दावे किए जाते रहे हैं। हड़प्पा की सभ्यता के प्रमुख स्थानों में से एक हरियाणा के राखीगढ़ी से मिले 4500 साल पुराने कंकाल के डीएनए टेस्ट ने एक नई बहस को जन्म दे दिया है। अध्ययन का दावा है कि भारत में आर्यन हमले (Aryan invasion) जैसी कोई घटना नहीं हुई थी।

सीनियर जर्नलिस्ट अखिलेश शर्मा ने इस मामले पर ट्वीट करते हुए लिखा है कि न तो आर्यों ने आक्रमण किया था और न ही आर्य बाहर से आकर बसे थे। हरियाणा के हिसार के नजदीक राखीगढ़ी में मिले कंकालों के डीएनए अध्ययन के आधार पर यह दावा किया गया है। दशकों से चलाए जा रहे एक और झूठ का पर्दाफाश आज होगा।

बता दें कि पुणे के डेक्कन कॉलेज के वाइस चांसलर डॉ. वीएस शिंदे की टीम ने 2013 में हरियाणा के हिसार के पास राखीगढ़ी गांव में हड़प्पा कालीन के नरकंकाल मिले हैं। माना जा रहा है कि ये कंकाल 5000 वर्ष पुराने हैं। वैज्ञानिकों ने हरियाणा में राखीगढ़ी गांव मे हड़प्पा सभ्यता के कंकालों का डीएनए टेस्ट किया। जिसके आधार पर हुए रिसर्च के दौरान ये सब बातें सामने आई है।

Next Story
Share it
Top