Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

MDU में ड्रोन मंडराने के बाद छात्राएं बाहरी हमलावरों के हमले से चिंतित, जमकर की नारेबाजी

एमडीयू स्टूडेंट पिछले कुछ दिनों से सहमे हुए हैं। दरअसल छात्राएं हास्टल पर ड्रोन मंडराने की चर्चाओं के बाद अपनी प्राइवेसी को लेकर तो छात्र बाहरी हमलावरों के हमले को लेकर चिंतित हैं।

MDU में ड्रोन मंडराने के बाद छात्राएं बाहरी हमलावरों के हमले से चिंतित, जमकर की नारेबाजी

एमडीयू स्टूडेंट पिछले कुछ दिनों से सहमे हुए हैं। दरअसल छात्राएं हास्टल पर ड्रोन मंडराने की चर्चाओं के बाद अपनी प्राइवेसी को लेकर तो छात्र बाहरी हमलावरों के हमले को लेकर चिंतित हैं। बुधवार रात एमडीयू छात्र पर हमला हुआ था। मामले में पुलिस ने हमलावरों के पकड़े गए साथी एमबीए छात्र व अन्य के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। वहीँ कैंपस के पीछे शराब की बोतलें मिलने से भी सुरक्षा पर सवाल उठ रहे हैं।

गुरुवार को एमडीयू की फैक्ट फाइंडिंग कमेटी ने बैठक कर मामले में तकनीकी रूप से साइबर एक्सपर्ट से जांच कराने की आवश्यकता जताई। बता दें कि एमडीयू गर्ल्स हास्टल पर मंडराने वाले ड्रोन या उसे उड़ाने वालों का अब तक कोई अता पता नहीं लगा है। ड्रोन से खौफजदा छात्राओं ने बुधवार शाम तीन घंटे हास्टल के गेट पर विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध जताया।

प्रदर्शनकारी छात्राओं ने कहा कि पिछले लगभग एक महीने से विश्वविद्यालय की लड़कियां ड्रोन की शिकायत कर रही हैं। हॉस्टल पर ड्रोन मंडरा रहे हैं। उनकी सुरक्षा को खतरा है। प्रशासन इसकी जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करे।

अखिल भारतीय विधार्थी परिषद (एबीवीपी) ने गुरुवार को छात्रों की सुरक्षा व विभागाध्यक्ष की तानाशाही के खिलाफ रोष प्रदर्शन किया। एमडीयू कुलपति प्रो. राजवीर सिंह से मुलाकात कर कैंपस की सुरक्षा की गुहार लगाई।

छात्र एकता मंच की सदस्य किरण ने कहा कि ड्रोन मामले में कार्रवाई नहीं होने के कारण छात्राएं आहत हैं, इसलिए बुधवार शाम को विरोध प्रदर्शन किया। विवि प्रशासन ने मामले की जांच के लिए कमेटी बनाई है। यह महज दिखावा है। इसकी वजह कमेटी केवल शिक्षकों को रखा गया है। प्रदर्शन की सूचना मिलने पर ड्रोन मामले की जांच कमेटी सदस्य प्रो. नसीब सिंह गिल मौके पर पहुंचकर छात्राओं को मामले की सही तरीके से जांच करने व छात्राओं के भी बयान दर्ज करने का आश्वासन दिया।

Next Story
Share it
Top