Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जनगणना को लेकर इकठ्ठे किए जायेंगे सटीक आंकडे

हरियाणा में पहली बार जनगणना डिजिटल मोड पर करवाई जा रही है। जहां प्रगणकों द्वारा विशेष रूप से डिजाईन किए गए मोबाईल एप पर आंकड़े एकत्रित किए जाएंगे।

देश में एक अप्रैल 2020 से शुरू होगा 16वां जनगणना सर्वे
X
जनगणना सर्वे (फाइल फोटो)

रोहतक। जिला प्रशासन जनगणना के सटीक आंकड़े इकट्ठे करने के लिए जिले के निवासियों को प्रचार माध्यम से जागरूक करने का कार्य करेगा। जनगणना को लेकर सभी विभागों में कलेंडर भी लगाये जायेंगे। इसके अलावा पोस्टर बैनर व रागणी आदि के माध्यम से भी लोगों को यह संदेश दिया जायेगा कि वे जनगणना के कार्य में रूचि लेकर सही आंकड़े उपलब्ध करवायें।

रोहतक जिला उपायुक्त आरएस वर्मा ने लघु सचिवालय में हरियाणा जन गणना कार्य निदेशालय द्वारा जनगणना 2021 के लिए जिला व चार्ज अधिकारियों के दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस दौरान उपायुक्त ने जनगणना से जुड़ी जानकारी दी। वहीं नगराधीश एवं जनगणना के जिला नोडल अधिकारी जगनिवास ने कहा कि हरियाणा में पहली बार जनगणना डिजिटल मोड पर करवाई जा रही है, जहां प्रगणकों द्वारा विशेष रूप से डिजाईन किए गए मोबाईल एप पर आंकड़े एकत्रित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जनगणना से जुड़े सभी अधिकारी व कर्मचारी सही आंकड़े एकत्रित करना सुनिश्चित करें। इन्ही आंकड़ों के आधार पर विकास योजनाएं निर्भर करती हैं। उन्होंने कहा कि जनगणना के दौरान यह सुनिश्चित किया जाये कि किसी भी कॉलम को खाली न छोड़ा जाये तथा जनगणना प्रफॉर्मा को ध्यानपूर्वक पढ़े ताकि कोई भी बिंदु न छूटे। साथ ही जनगणना कार्य की प्रोग्रेस के लिए सभी संबंधित अधिकारी एक डायरी भी मैंटेन करें।

तीन चरण होंगे

जनगणना निदेशालय के प्रतिनिधि ओम प्रकाश ने जनगणना के लिए स्क्रीन के माध्यम से जनगणना के लिए अपनाई जाने वाली प्रक्रिया एवं कार्य प्रणाली के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हरियाणा में जनगणना 2021 के प्रथम चरण में 1 मई से 15 जून 2020 तक मकान सूचिकरण एवं मकानों की गणना का कार्य किया जाएगा। द्वितीय चरण में 9 फरवरी 2021 से 28 फरवरी 2021 तक जनसंख्या की परिगणना तथा 1 से 5 मार्च 2021 तक रिविजनल राउंड आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जनगणना के मकान सूचीकरण एवं मकान गणना चरण के साथ मौजूदा एनपीआर के डाटा को भी अपडेट किया जायेगा। उन्होंने कहा कि जनगणना के लिए एंड्रॉयड ऐप विकसित किया गया है। जिसे गूगल प्ले स्टॉर से इंस्टॉल किया जा सकता है। यह जनगणना ऐप जनगणना 2021 एनपीआर है।

उन्होंने कहा कि जिला कर्मियों को जनगणना निगरानी एवं प्रबंधन प्रणाली पोर्टल के क्रियात्मक पहलुओं और जनगणना अनुविक्षण जैसे जनगणना कार्यात्मक कर्मियों का पंजीयन, प्रशिक्षण बैचों का सृजन, मोबाईल मोड में आंकड़े एकत्रिकरण आदि का कार्य शामिल है। जनगणना की सभी गतिविधियों और प्रगति का अनुविक्षण समयानुसार पोर्टल पर होगा। जनगणना की गतिविधियों के क्रियान्यवन एवं राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर को अपडेट करने की प्रक्रिया एवं अनुविक्षण में इस पोर्टल की मुख्य भूमिका होगी।

ये रहे मौजूद

इस मौके पर डीआईओ जितेंद्र मलिक, नायब तहसीलदार महम राजकुमार शर्मा, कलानौर आजाद सिंह, नंद किशोर, नरेंद्र सैनी, नवीन कुमार, राजेश कुमार सहित नगर निगम, सांख्यिकी विभाग व अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे।


Next Story