Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

राम रहीम को कोर्ट से भगाने की फिराक में थे 5 हरियाणा पुलिस के जवान, फोन कर भड़काई हिंसा

गुरमीत राम रहीम सिंह को कोर्ट ने शुक्रवार को दोषी ठहराया था।

राम रहीम को कोर्ट से भगाने की फिराक में थे 5 हरियाणा पुलिस के जवान, फोन कर भड़काई हिंसा

साध्वी से रेप के आरोप में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को कोर्ट ने शुक्रवार को दोषी ठहराया था। बाबा को दोषी पाए जाने के बाद उनके समर्थकों ने पंचकुला में हिंसा को अंजाम देना शुरू कर दिया।

बाबा को दोषी पाए जाने के बाद सात लोगों ने उनको कोर्ट से भगाने का प्लान बनाया था। लेकिन मौजूदा पुलिसकर्मी और सिक्योरटी गार्ड से उन लोगों की झड़प हो गई जिसके चलते बाबा को भगाने का प्लान फेल हो गया। इसमें हरियाणा पुलिस के कर्इ लोग शामिल थे। सुत्रो से मिली जानकारी के अनुसार बाबा के समर्थक हरियाणा पुलिस में भी मौजूद है इस बात का पता बाबा को दोषी पाए जाने के बाद पता चला।

प्लान फेल हो जाने के कारण उन लोगों ने कहीं पर पहले फोन किया था जिसे बाद बाबा के मैजूदा समर्थकों ने हिंसा शुरू कर दी। वहीं पुलिस सुत्रों से मिली जानकारी के अनुसार फोन कॉल के कारण हिंसा अधिक भड़की थी।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबित बाबा राम रहीम को भगाने के लिए सात लोग कोशिश कर रहे थे। जबिक इनमे पांच हरियाणा पुलिस के लोग शामिल थे। ये लोग बाबा की जेड प्लस सिक्योरिटी का हिस्सा थे। बाकी दो लोग प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड थे।

पुलिसवालों की पहचान हेड कॉन्सटेबल अजय, कॉन्सटेबल राम सिंह, हेड कॉन्सटेबल विजय सिंह, सब इंस्पेक्टर बलवान सिंह और कॉन्सटेबल किशन कुमार के रूप में हुई है। प्राइवेट सिक्योरिटी में लगे लोगों का नाम प्रीतम सिंह और सुखबीर बताया गया है।

Next Story
Share it
Top