Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पुलिस की सख्ती के बाद हुआ पानीपत लॉकडाउन, हरियाणा बार्डर को भी किया सील

पानीपत जिला में मंगलवार को पुलिस ने लापरवाह लोगों को जब लाठी दिखा कर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी तब पानीपत में पूरी तरह से लॉकडाउन हुआ। पुलिस की सख्ती के बाद आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को छोडक़र अन्य दुकानें बंद हुई। पुलिस ने तेजी से गश्त कर हालात पर कडी नजर रखी, पुलिस कप्तान मनीषा चौधरी ने भी स्वयं गश्त कर हालात का जायजा लिया और पुलिस अधिकारियों कर्मचारियों से मिली व उन्हें लॉक डाउन का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए।

पुलिस की सख्ती के बाद हुआ पानीपत लॉकडाउन, हरियाणा बार्डर को  भी किया सीलViral Video: सड़क पर पुलिस का थर्ड डिग्री टॉर्चर, मासूम दुकानदार की पिटाई का वायरल विडियो

पानीपत जिला में मंगलवार को पुलिस ने लापरवाह लोगों को जब लाठी दिखा कर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी तब पानीपत में पूरी तरह से लॉकडाउन हुआ। पुलिस की सख्ती के बाद आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को छोडक़र अन्य दुकानें बंद हुई। पुलिस ने तेजी से गश्त कर हालात पर कडी नजर रखी, पुलिस कप्तान मनीषा चौधरी ने भी स्वयं गश्त कर हालात का जायजा लिया और पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों से मिली व उन्हें लॉक डाउन का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए।

बैंकों में लेन-देन 25 प्रतिशत हुआ

लॉकडाउन के दौरान मंगलवार को पानीपत में सभी बैंकों में लेन-देन आम दिनों के चलते 25 प्रतिशत ही हुआ। बैंकों में प्रवेश करने से पहले मुख्य गेट पर खड़े गार्ड ने पहले ग्राहकों के सैनेटाइजर से हाथ धुलवाएं उसके बाद एक-एक कर बैंक के अंदर जाने दिया। बैंकों में अधिकांश पैंशन लेने वाले बुजुर्ग पहुंचे या फिर वे जिन्हें नगदी की सख्त आवश्यकता थी7

पानीपत में पुलिस ने चौतरफा नाके लगाए

लॉक डाउन के मध्य नजर पुलिस ने सुरक्षा के कड़े प्रबंध करते हुए शहर के विभिन्न क्षेत्रों में विशेष नाकेबंदी करके अनावश्यक घूम रहे लोगों को पूछताछ की और उन्हें वापिस घरों में जाने को कहा। पुलिस की टीमें शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में गश्त करती रही। उधर शहर के विभिन्न चौक, चौराहों पर भी पुलिस बल तैनात रहा। बिना वजय सडक पर आवागमन कर रहे कई लोगों को पुलिस ने लाठी दिखा कर वापय जाने के लिए चेताया।

पानीपत में रेल यात्रा सेवा ठप

पानीपत रेलवे स्टेशन से प्रतिदिन ढाई सौ से अधिक यात्री ट्रेनों का आवागमन होता है, वहीं मंगलवार को लॉक डाउन के चलते रेलवे स्टेशन से यात्री टे्रन नहीं गुजरी। जबकि रेलवे ट्रेकों से सिर्फ माल गाडियों का ही आवागमन हुआ। पानीपत के सभी रेलवे स्टेशनों पर यात्री दिखाई नहीं दिए, जबकि जीआरपी व आरपीएफ सक्रिय रही।

रोडवेज की बसें स्टैंड में खडी रही

लॉकडाउन के चलते हरियाणा रोडवेज की बस सेवा मंगलवार को भी पूरी तरह से बंद रही। हरियाणा रोडवेज बस स्टैंड से प्रतिदिन दिल्ली, चंडीगढ़, पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान, जम्मू कश्मीर व हिमाचल प्रदेश पानीपत से रोडवेज बसों का आवागमन होता था।

भंडारी गांव में सुख शांति के लिए यज्ञ

लॉकडाउन के दौरान तीसरे दिन जिला के गांव भंडारी में राजेंद्र पांचाल ने अपने परिवार के साथ मिलकर घर पर देश में अमन चैन व लोगों के स्वस्थ रहने की कामना करते हुए यज्ञ कर भगवान से सभी को स्वस्थ रखने की प्रार्थना की। उन्होनें कहा कि जब तक कोरोना वायरस का खात्मा नहीं हो जाता तब तक उनके आवास पर पूजन होता रहेगा।

पानीपत पुलिस ने हरियाणा बार्डर सील किया

हरियाणा सरकार के आदेश पर पानीपत जिला में उत्तर प्रदेश से आने वाले सभी रास्तों पर आवागमन पूरी तरह से बंद कर दिया गया। वहीं दोपहर तक हरिद्वार हाईवे पर आवागमन पूरी तरह से बंद करवा दिया गया। पुलिस ने सिर्फ उन्हें वाहनों को हरियाणा में प्रवेश करने दिया जो पानीपत या अन्य जिलों के निवासी है और उत्तर प्रदेश में हुए थे। वहीं इन सभी को पानीपत जिला की सीमा में प्रवेश देने से पहले पुलिस ने इस कागजात जांचे। वहीं जांच में जो लोग यूपी के निवासी मिले उन्हें वापस भेज दिया गया। इधर, जांच कार्य स्वयं सनौली खुर्द के थानेदार सुरेंद्र दहिया ने संभाली और किसी का भी राजनीतिक दबाव नहीं माना। वहीं दहिया ने बताया कि प्रदेश सरकार के आदेश पर हरिद्वार हाईवे को सील कर दिया गया है और उत्तर प्रदेश व हरियाणा के बीच आवागमन पूरी तरह से बंद कर दिया गया। इस क्षेत्र के ग्रामीणों को सलाह दी गई है कि वे बिना किसी कारण घरों से बाहर न निकले और सडकों पर न चले। वहीं ऐसे लोग यदि सडक पर पाए गए तो इनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि तेल, गैस सिलंेडर, दूग्ध, सब्जी, फल से लदे वालों को ही हरियाणा में प्रवेश दिया गया है। पुलिस ने यूपी से आई बारात को भी वापस लौटा दिया और दुल्हे समेत चार लोगों को ही हरियाणा में प्रवेश दिया। वही बारात पानीपत की माईजी कालोनी में जानी थी।

समाचार-11: परिवहन कर्मियों ने कोरोना पीडि़तों को एक दिन वेतन दिया

पानीपत। ऑल हरियाणा परिवहन कर्मचारी संघ ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए एक दिन का वेतन देने का निर्णय लिया है। यह निर्णय प्रांतीय प्रधान आजाद सिंह मलिक की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया। जिसमें राज्य के वरिष्ठ उप.प्रधान रामनिवास शर्मा, महासचिव प्रताप बनवाला, प्रदेश सचिव महेंद्र गौड़, संगठन सचिव अशोक खोकर, ए कर्मवीर शर्मा, प्रदेश कोषाध्यक्ष अशोक गुर्जर मौजूद रहे। वहीं प्रधान मलिक ने बताया कि बैठक में कोरोना वायरस से बचने के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे लॉक डाउन में सहयोग देने का निर्णय लिया गया। उन्होंने कहा कि लोग अपने घरों में रहे एक जगह एकत्र न हो, गांव में ताश न खेलें, एक हुक्का न पीए, सरकार द्वारा आदेशों की पालना करे। ऑल हरियाणा परिवहन कर्मचारी संघ द्वारा कोरोना वायरस के बचाव में एक दिन की तनख्वाह देने की घोषणा की गई। उन्हांेने कर्मचारी साथियों से व जनता से प्रार्थना की कि इस महामारी में सरकार का पूर्ण सहयोग दें।

समाचार-12: नवरात्रों में घर पर ही पूजन करेंगे श्रद्धालु

समालखा। पूर्ण लॉक डाउन को लेकर प्रशासन ने नवरात्रों के उपलक्ष में घरों में रहकर ही पूजा पाठ करने के अपील की। पहली बार ही ऐसा होगा की नवरात्रों के दिनों में मंदिरों में लगने वाली भारी भीड़ और सुबह से शाम तक मंदिरों में बजने वाली घंटियांे की आवाज सुनने को नहीं मिलेगी। हालांकि अंदेशा जताया जा रहा है कि बुधवार से शुरू होने वाले पहले नवरात्रे को महिलाएं अवश्य ही मंदिरों में पहुंचने की कोशिश करेगी। वही जागरूक लोगों का कहना है कि पूजा पाठ मंदिरों की बजाए घर में बैठकर भी की जा सकती है इस आपातकालीन स्थिति में हम लोगों को प्रशासन का पूरा सहयोग करना चाहिए और ऐसा कोई भी कदम नहीं उठाना चाहिए जिससे लोग इकट्ठा हो और भीड़ बने। वही मंगलवार को इसका असर देखने को भी मिला माता पुली रोड पर स्थित दुकानदार नवरात्रों से संबंधित नारियल चुनरी व अन्य सामान को बेचने के लिए ग्राहकों का इंतजार करते रहे। शहर के सभी मंदिर हर वर्ष नवरात्रों के दिनों में सजाए जाते हैं और सबसे ज्यादा भीड़ माता पुली रोड मंदिर में रहती है जिसे सिद्ध पीठ दुर्गा माता मंदिर के नाम से जाना जाता है। इस मंदिर में शहर के अलावा दूरदराज के गांवों से भी पूजा पाठ करने के लिए आते हैं।

फोटो—24 पीएनपी 15पी—समालखा में दुकान पर रखा नवरात्रों का सामान।

समाचार-13: सबको रोशनी फाउंडेशन का पूजन जारी

-भगवान महाबली हनुमान जी हम सब की रक्षा करेंगे -नीरू

पानीपत। सबको रोशनी फाउंडेशन ने पानीपत में लॉकडाउन के तीसरे दिन हनुमान चालीसा का पाठ जारी रखा। वहीं इनरव्हील क्लब की स्वयं सेवी व विधायक प्रमोद विज की पत्नी नीरु विज ने कहा कि भगवान हनुमान जी हमारे पोषण कृता है वह इस जगत के हर जीव का पोषण करते हैं वह छोटी से छोटी चीटी को भी भोजन उपलब्ध करवा रहे हैं हमें भी ईश्वर ने कभी न भूखा सुलाया है और न ही कभी सूलाएगा। हमें यह भाव सबको रखने चाहिए। कार्यक्त्रम संयोजिका मंजरी गोयल व सबको रोशनी फाउंडेशन के अध्यक्ष सतबीर गोयल ने कहा कि जिस धैर्य से निष्ठा से व प्रेरणा से सभी सहभागी हनुमान चालीसा का जाप कर रही हैं वह पूरे पानीपत के लिए अनुकरणीय है। समाजसेवी कंचन सागर ने कहा कि पानीपत की महिलाएं अपने क्षेत्रों के प्रतिनिधियों करने वालों के माध्यम से इस डिजिटल मंच से जुड़े हम कल से महामारी से बचने की सावधानियों को लेकर भी चर्चा करेंगे। सबको रोशनी फाउंडेशन की कोर टीम के मेंबर्स ने पानीपत वासियों को आह्वान किया कि विभिन्न व्हाट्सएप ग्रुप पर डिजिटल हनुमान चालीसा का लिंक मौजूद है और हम सभी हर रोज इस सांझा कार्यक्त्रम में साझेदारी कर सकते हैं। इस अवसर पर सबको रोशनी फांउंडेशन के संस्थापक विकास गोयल एवं कोषाध्यक्ष हरीश बंसल, आरती सिंगला, सोनू सिंगला, मंजरी गोयल, हिंदू कुकरेजा, मंजरी गोयल, सीमा अग्रवाल, रेनु सिंगला, सपना, रोजी बंसल, रचना मंजुला, मोनिका जैन, किरण दुआ, प्रियंका दुआ, राशि जैन, वैशाली, मंजू भसीन, रजनी बेनीवाल, विनोद कुकरेजा, अलका शर्मा, कीर्ति मुंजाल, सिंगला, मीनाक्षी गुप्ता, अंचल गर्ग, शेफाली जैन, रचना, रवि अग्रवाल व सम्यक सुमेधा उपस्थित रहे।

फोटो—24 पीएनपी 3पी—सबको रोशनी फाउंडेशन के सदस्य व्हाटसएप पर डिजिटल हनुमान चालीसा का पाठ करते हुए।

समाचार-14: पुलिस ने गश्त कर समालखा को करवाया लॉक डाउन

-लापरवाह नागरिकों के वाहनों के चालाकन किए, नगर पालिका ने तय किया दुकान खुलने का समय

समालखा। कोरोना वायरस को लेकर मंगलवार को सरकार द्वारा पूर्ण लॉक डाउनलोड किया गया जिसके तहत कोई भी व्यक्ति बेवजह घर से बाहर नहीं निकल सकता। जनता खतरनाक करुणा वायरस के संक्त्रमण से बची रहे, इसीलिए सरकार व प्रशासन द्वारा यह कदम उठाया गया। वहीं लॉक डाउन के पहले दिन सोमवार को जनता ने सरकार के आदेशों को न मानते हुए लापरवाही दिखाई और बेवजह ही घरों से बाहर निकलकर सड़कों पर घूमते रहे । हालांकि पुलिस अधिकारियों द्वारा उन्हें हाथ जोड़कर घरों में बैठे रहने के लिए अपील भी की गई लेकिन जब लोग नहीं माने तो मंगलवार को प्रशासन ने सख्त रवैया अपनाते हुए पुराने बस अड्डे पर चारों तरफ नाकाबंदी कर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया और हर आने जाने वाले राहगीर से पूछताछ की गई। वहीं लोगों की रोजमर्रा की जरूरत से संबंधित दुकानदारों को नगर पालिका प्रशासन द्वारा सुबह 8 बजे से 12 बजे तक ही दुकानें खोलने के आदेश दिए गए । जबकि कोरोना वायरस जैसे घातक संक्त्रमण की चिंता न करते हुए भी पैसों के लालची दुकानदार सरकार के नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए शटर खोलकर लोगों को सामान बेचते रहे वही शहर में आए लोगों से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि बुधवार से नवरात्रे शुरू हो रहे हैं, व्रत व पूजा पाठ की सामग्री खरीदने के लिए बाजारों में आना पड़ रहा है, हालांकि सुबह के समय राशन दुकान, मेडिकल स्टोर व निजी क्लीनिक पर लोगों की भारी भीड़ देखने को मिली। जिसके बाद पुलिस प्रशासन ने माइक द्वारा मुनादी करवाई कि कोई भी दुकानदार अपने काउंटर पर पांच से अधिक व्यक्तियों को खड़ा ना होने दें और सामान देकर उन्हें तुरंत घर जाने के लिए कहे। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि अगर कोई भी व्यक्ति बेवजह सड़कों पर घूमता हुआ नजर आया तो उसके खिलाफ ठोस कार्रवाई की जाएगी। मंगलवार को पूर्ण लॉक डाउन के बाद पुलिस द्वारा सुबह से लेकर शाम तक शहर के मुख्य रेलवे रोड पर और शहर की सभी सीमाओं पर लगातार गश्त की गई, जिससे लोगों में कुछ डर बना और लॉक डाउन कामयाब होता दिखाई दिया। वहीं नगर पालिका ने पुराने बस अड्डे के नीचे से सब्जी मंडी को उठाकर नई अनाज मंडी के गेट नंबर दो पर पहुंचाया। नगर पालिका अधिकारी ने बताया कि पुराने बस अड्डे के नीचे सब्जी मंडी होने से भीड भाड ज्यादा रहती थी, जिससे संक्त्रमण का खतरा बना हुआ था। इसीलिए कुछ दिनों लिए सब्जी मंडी को अनाज मंडी में शिफ्ट किया गया है । वही नाकाबंदी के दौरान पुलिस ने लगभग 60 वाहनों के चालान किए।

फोटो—24 पीएनपी 10पी—समालखा में लॉक डाउन का पालन नहीं करने वालों के वाहनों के चालान करते हुए पुलिस।-----11पी----नगर पालिका की टीम पुल के नीचे से सब्जी मंडी को शिफ्ट करते हुए।----12पी----लॉक डाउन के विरूद्ध दुकान खोले हुए दुकानदार।

समाचार-15: लाखों ठगने के दो आरोपित पुलिस रिमांड पर

पानीपत। पानीपत पुलिस की सीआईए-टू प्रभारी इंस्पेक्टर दीपक कुमार ने बताया कि सीआईए-टू की टीम एटीएम कार्ड व ऑनलाईन फ्राड की वारदातों को अंजाम देने वाले आरोपितों की पहचान के लिए वारदात स्थल पर व आसपास लगे सीसीटीवी कैमरा में दर्ज फुटेज के आधार पर जांच करते हुए आरोपितों की धरपकड के लिए प्रयासरत थी। वहीं गुप्त सूचना मिली कि एटीएम कार्ड बदलकर ठगी की वारदात को अंजाम देने वाले दो आरोपित नूरवाला बस अडडे के पास संदिग्ध रूप से घूम रहे है। इस विशेष सूचना के आधार पर उन्होने एएसआई अशोक कुमार के नेतृत्व में सीआईए-टू की एक टीम गठित कर दंबिस दे लिए मौके पर भेजी। टीम ने तुरंत मौके पर दंबिस दे दोनों आरोपितों को काबू कर प्रारंम्भिक पुछताछ की तो उन्होंने अपनी पहचान गुरमीत उर्फ काला पुत्र जोगिंद्र निवासी भोला चौक, पानीपत व गौरव पुत्र परमाल निवासी गांव लाडो बगड़ी जिला करनाल हाल किरायेदार भोला चौक पानीपत के रूप मे बताई। गहनता से पूछताद करने पर आरोपितों ने 9 मार्च की साय बरसत रोड पर स्थित ओरियंटल बैंक के एटीएम से रूपये निकालने आए एक युवक को मदद करने के बहाने उसका एटीएम कार्ड बदलकर खाते से 1 लाख 34 हजार रूपये निकालने की वारदात को अंजाम देने बारे स्वीकारा। पुलिस की पूछताछ में आरोपितों ने खुलासा किया कि उन्होंने एटीएम कार्ड बदलने के बाद अन्य एटीएम मशीनों पर जाकर उन्होंने तीन दिनों तक नगदी निकाली और ऑन लाइन शॉपिंग की। इधर, इंस्पेक्टर दीपक ने बताया कि इस मामले में 13 मार्च को शंकर प्रसाद निवासी ज्योती कॉलोनी पानीपत की शिकायत पर थाना किला में अज्ञात लोगों पर नगदी हडपने व धोखाधडी करने के आरोप में केस दर्ज कर किया गया था। शंकर बरसत रोड के एटीएम से नगदी निकाले गए था और उसकी मदद के बहाने आरोपितों ने एटीएम कार्ड बदल दिया। इधर, पुलिस ने आरोपितों को कोर्ट में पेश कर तीन दिन के रिमांड पर लिया है।

फोटो—24 पीएनपी 14पी—पुलिस ठगी के आरोपितों को मीडिया के समक्ष पेश करते हुए।

Next Story
Top