Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

विधानसभा चुनाव से पहले हरियाणा पुलिस का एंटी-ड्रग अभियान, 483 आरोपी गिरफ्तार

हरियाणा पुलिस ने 20 अगस्त से 20 सितंबर के बीच मादक पदार्थ तस्करी और इसके वितरण नेटवर्क को पूरी तरह तोड़ने के लिए एंटी-ड्रग अभियान चलाया था। जिसके तहत बड़ी कार्रवाई की गई है।

विधानसभा चुनाव के पहले हरियाणा पुलिस का एंटी-ड्रग अभियान, 386 मामले दर्ज 483 आरोपी गिरफ्तारHaryana Police Anti-Drug Campaign Before Assembly Elections, 483 Accused Arrested in 386 Cases

हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election) में प्रचार के दौरान नशे पर रोक पार्टियों के लिए एक अहम मुद्दा बना हुआ है। अपने भाषण के दौरान कई नेताओं ने प्रदेश के युवाओं के नशे से दूर रखने के लिए योजनाएं घोषित की हैं। ऐसे में हरियाणा पुलिस (Haryana police) ने नशीले पदार्थ के तस्करों और दूसरे अपराधियों पर बड़ी कार्रवाई की है। पुलिस ने प्रदेश में करीब पिछले एक महीने से एंटी-ड्रग अभियान (Anti-Drug Campaign) चलाया हुआ था। जिसके तहत 386 मामले दर्ज किए गए हैं और 483 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

अभियान के दौरान पुलिस ने प्रदेश से 1204 किलो से अधिक नशीले पदार्थों को भी जब्त किया है। हरियाणा डीजीपी मनोज यादव का कहना है कि एंटी ड्रग अभियान प्रदेश में नशे की रोकथाम के लिए विशेष रूप से कारगर साबित हुआ है। हरियाणा विधानसभा चुनाव से पहले प्रदेश में नशे के कारोबार और इसमें शामिल कारोबारियों पर शिकंजा कसने के लिए 20 अगस्त से 20 सितंबर तक यह विशेष अभियान चलाया गया था।

अभियान की सफलता के दर्शाते हुए प्रदेश डीजीपी ने बताया कि अभियान के तहत गिरफ्तार किए अपराधियों से पुलिस ने 559 किलो 719 ग्रम गांजा, 1.8 किलो हिरोइन, 630 किलो चूरा पोस्त, 5.648 किलो अफीम, 3.531 किलो चरस, 2.710 किलो से अधिक स्मैक और 458.75 किलो सुल्फा बरामद किया है। साथ ही 1,43,483 टैबलेट, 196 बोतल सिरप, 15,469 कैप्सूल और 827 इंजेक्शन सहित कई प्रतिबंधित दवाएं भी जब्त की हैं।

हरियाणा अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक नवदीप सिंह विर्क ने मिली जानकारी के अनुसार एंटी-ड्रग अभियान के तहत सिरसा जिले में एनडीपीएस अधिनियम के अंतर्गत 129 मामले दर्ज किए गए हैं और 178 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। फतेहाबाद जिले में 60 मामले दर्ज कर 85 आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। अंबाला जिले में 23, पानीपत में 23, गुरुग्राम में 20, रोहतक में 18, कुरुक्षेत्र में 16, करनाल में 13 और यमुनानगर में 10 मामले दर्ज कर कई आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। अभियान के तहत कई संदिग्ध इलाकों में छापेमारी की गई है। साथ ही आम जनता को नशे के दुष्प्रभावों के बारे में भी जागरूक किया गया है।

Next Story
Top