Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

वायुसेना के क्रैश विमान एएन-32 में हरियाणा का लाल हुआ शहीद, इकलौता चिराग बुझने से परिवार में मातम

3 जून को असम के जोरहट से उड़ान भरने वाला वायुसेना के विमान एएन-32 का मलबा तो दो दिन पहले मिल गया पर उसमें सवार 13 वायुसेना के सैनिको का कुछ पता न चल सका। गुरूवार को सेना ने विमान में सवार सभी की मौत की पुष्टि कर दी। इसमें हरियाणा के पंकज सांगवान भी थे।

वायुसेना के क्रैश विमान एएन-32 में हरियाणा का लाल हुआ शहीद, इकलौता चिराग बुझने से परिवार में मातम

3 जून को असम के जोरहट से उड़ान भरने वाला वायुसेना के विमान एएन-32 का मलबा तो दो दिन पहले मिल गया पर उसमें सवार 13 वायुसेना के सैनिको का कुछ पता न चल सका। गुरूवार को सेना ने विमान में सवार सभी की मौत की पुष्टि कर दी। इसमें हरियाणा के पंकज सांगवान भी थे।

परिवार के इकलौते पंकज सांगवान वायुसेना में एयर ट्रैफिक सर्विस में नियुक्त थे। विमान के लापता होने के बाद से ही परेशान परिवार को उम्मीद थी की उनका बेटा वापस आएगा पर ऐसा नहीं हो सका।

मां सुनीता व पिता धर्मबीर को मलबा मिलने के बाद अधिकारियों द्वारा लगातार सांत्वना दी जा रही थी कि अवशेष जिस तरह मिले हैं उनसे पूरी उम्मीद है कि विमान में सवार सारे यात्री सुरक्षित हैं पर अब जब सेना ने मान लिया कि सभी की मौत हो गई तो मां सुनीता का रो रोकर बुरा हाल हो गया है।

बृहस्पतिवार को मौत की पुष्टि होने के बाद घर पर गांव वालो का तांता लग गया। तमाम लोग पंकज सांगवान को श्रद्धांजलि अर्पित करने आ रहे हैं। विमान लापता होने हरियाणा के पूर्व सीएम भी परिवार से मिलकर ढांढस बंधाया और पंकज के सकुशल लौट आने की बात कही थी। उन्होंने केंद्र के विमान खोजने में हुई देरी को लेकर भी खरी खोटी सुनाई थी।

Share it
Top