Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

स्कूल में पढ़ रहे थे छात्र, अचानक से गिर गई स्कूल की छत

हरियाणा के गांव मांढी केहर स्कूल की इमारत अचानक से गिर गई। स्कूल की छत के ऊपर बरसात का पानी इकट्ठा होने से छत गिरी है। जिस वक्त हादसा हुआ दूसरी और तीसरी कक्षा के छात्र बढ़ाई कर रहे थे।

सरकार बहाने बनाकर कर रही है सरकारी स्कूल बंद कराने की चेष्टाहरियाणा स्कूल (प्रतीकात्मक फोटो)

गांव मांढी केहर के प्राथमिक विद्यालय का पुराना भवन आज बरसात के पानी के जलभराव के कारण अचानक ही टूटकर जमीन पर गिर गया। विभाग द्वारा कंडम घोषित किए गए भवन के नजदीक कमरे में पढ रहे बच्चे भी बाल बाल बच गए वरना बड़ा हादसा हो सकता था। ग्रामीणों ने विद्यालय में नए भवन निर्माण की मांग की है।

गांव मांढी केहर में स्थित राजकीय प्राथमिक पाठशाला का चालीस वर्ष पुराने भवन को शिक्षा विभाग ने दो वर्ष पहले ही कंडम घोषित कर उसमें कक्षाएं लगानी बंद कर दी थी। इस भवन पर पिछले सप्ताह से पानी जमा था और सुबह अचानक ही वह टूट कर जमीन पर बिखर गया। जिस समय घटना घटी उस समय क्षतिग्रसत भवन के साथ लगते कमरे में भी दूसरी व तीसरी कक्षा की कक्षाएं चल रही थी जो प्राकृतिक मार से बाल बाल बच गए।

सरपंच आनंद सिंह इत्यादि ग्रामीणों ने बताया कि शिक्षा विभाग ने सत्तर के दशक में निर्मित पुराने भवन को नकारा घोषित कर कक्षाएं तो बंद कर दी लेकिन न तो नया भवन निर्माण किया और न ही वहां से बच्चों को हटाया गया। आज घटित घटना से उनके बच्चे बाल-बाल बच गए वरना बड़ा हादसा हो सकता है। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से गांव की इस पुरानी इमारत की जगह नया भवन निर्माण के लिए विशेष बजट जारी करवाने की मांग की है। इस बारे में खंड शिक्षा अधिकारी दयानंद झोझू से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि मांढी भवन का पुराना भवन पहले ही कंडम घोषित किया हुआ है और न ही कक्षाएं लग रही हैं। इसके लिए अलग से पर्याप्त भवन है और आगामी समय के लिए अलग भवन की डिमांड भेजी गई है। घटना के समय बच्चे कई मीटर दूरी पर निर्मित भवन में पढ रहे थे।

Next Story
Top