Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भाजपा ने भ्रष्टाचार के आधार पर काटे हैं मंत्रियों के टिकट, ये है टिकट कटने की अंदरूनी कहानी

भाजपा ने हरियाणा-महाराष्ट्र में दो-दो मंत्रियों के टिकट काटे गए हैं। मतदान से छह दिन पहले पार्टी ने बताया है कि मंत्रियों के टिकट भ्रष्टाचार के आरोप लगने पर काटे गए हैं।

भाजपा ने भ्रष्टाचार के आधार पर काटे हैं मंत्रियों के टिकट, ये है टिकट कटने की अंदरूनी कहानीमहाराष्ट्र में भाजपा का संकल्प पत्र जारी करने के दौरान पत्रकारों के सवालों का जवाब देते जेपी नड्डा

हरियाणा-महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों में भाजपा की तरफ से चार मंत्रियों को टिकट काटे गए हैं। भाजपा ने मंत्रियों के महकमे में भ्रष्टाचार को आधार बनाकर टिकट काटे हैं। इनमें हरियाणा के पीडब्ल्यूडी मंत्री राव नरबीर, उद्योग मंत्री विपुल गोयल का टिकट काटा गया है। जबकि महाराष्ट्र में शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े और उर्जा मंत्री चंद्रशेखर बवानकुल को भी टिकट नहीं मिला है। मंत्रियों के भ्रष्टाचार के आधार पर टिकट काटने का फैसले का खुलासा खुद भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने किया है।

महाराष्ट्र में रैली के दौरान कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कहा कि मंत्रियों का टिकट काटा जाना यह दिखाता है कि पार्टी आरोपों के प्रति संवेदनशील है। भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख नेताओं को इस बार विधानसभा चुनाव में टिकट देने से मना कर दिया गया है। भ्रष्टाचार के खिलाफ पार्टी के सख्त रुख का इससे पता लगता है। हमारा फैसला भाजपा के भ्रष्टाचार विरोधी संकल्प और हमारी ईमानदार मंशा को रेखांकित करता है। उन्होंने कहा कि भाजपा अपने भ्रष्टाचार विरोधी रुख पर कायम रहेगी।

राव नरबीर पर लगे भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप



दक्षिण हरियाणा के बड़े नेता राव नरबीर का टिकट काटकर भाजपा ने लोगों को चौंका दिया। क्योंकि पीडब्ल्यूडी राव नरबीर प्रदेश के कद्दावर नेता माने जाते थे। लेकिन उनके उपर फर्जी डिग्री से लेकर भ्रष्टाचार के कई आरोप लगे। जिसके बाद भाजपा की तरफ से उन्हें टिकट नहीं दिया गया। आरटीआई एक्टिविस्ट हरेंद्र ढींगरा ने उनके खिलाफ कोर्ट में मामला भी दर्ज कराया था।

विवादों में रहने वाले विधायक भी नपे

भाजपा की तरफ से मंत्रियों के अलावा विधायकों के भी टिकट काटे गए। इसमें पार्टी की विचारधारा से अलग चलने वाले विधायक शामिल हैं। इसके अलावा ऐसे विधायकों के टिकट काटे गए हैं जिनके नाम जमीन से जुड़ी धांधली में आए। गुरुग्राम विधायक उमेश अग्रवाल का नाम अवैध कॉलोनी विकसित करने को लेकर आया। जिसके बाद भाजपा ने उन्हें भी टिकट नहीं दिया। हरियाणा में भाजपा ने कुल 12 विधायकों के टिकट काटे हैं।

Next Story
Top