Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Haryana Janta Curfew: हरियाणा के कई जिलों में जनता कर्फ्यू का दिखा असर, सड़कों पर दिखा सन्नाटा

Haryana Janta Curfew: कोरोना के खिलाफ जनता कर्फ्यू के दौरान हरियाणा में भी इसका असर देखा जा रहा है।

Haryana Janta Curfew: हरियाणा के कई जिलों में जनता कर्फ्यू का दिखा असर, सड़कों पर दिखा सन्नाटा

Haryana Janta Curfew: कोरोना के खिलाफ जनता कर्फ्यू के दौरान हरियाणा में भी इसका असर देखा जा रहा है। गली मोहल्लों से लेकर सड़कों और दुकानों से लेकर बस स्टैंड सभी पर सन्नाटा दिख रहा है।

करनाल में जनता कर्फ्यू का दिख रहा असर

करनाल में जनता कर्फ्यू को लेकर प्रशासन लगातार लोगों को जागरूक कर रहा है। सड़कों पर सभी दुकानें बंद हैं। एक्का-दुक्का लोग ही सड़कों पर नजर आ रहे हैं।जिन बाजारों में चहल-पहल होती थी वो सुन्ने पड़े हैं।

करनाल के बस स्टैंड पर भी पूरी तरह से सन्नटा पसरा हुआ है। पुलिस बल तैनात है। जो एक दुक्का लोग घर से बाहर हैं, उन्हें पुलिस के द्वारा समझाया जा रहा है। इसके अलावा कमेटी चौक और सदर बाजार की दुकानें भी बंद हैं और लोग अपने घरों में हैं।

फरीदाबाद में भी सब बंद

फरीदाबाद के व्यस्ततम बाजारों में शुमार सेक्टर 15 की मार्केट में जनता कर्फ्यू को लेकर पसरा रहा सन्नाटा लगभग सभी दुकाने रही बंद। पुलिस की टीम मार्केट में मौजूद इक्का-दुक्का लोगों से घर लौटने और जनता कर्फ्यू को सफल बनाने की करती नजर आई। वहीं प्रशासन की तरफ से जागरूक कर रहे। पुलिस अधिकारी ने कहा जनता कर्फ्यू को लोगों का मिल रहा भरपूर समर्थन

- जनता कर्फ्यू का पलवल में भरपूर समर्थन

- पलवल में जनता ने कर्फ्यू को पूरी तरह से अपनाया

- सुनसान दिख रहे है पार्क, बाज़ार, बस स्टैंड व सड़के

- घरों से बाहर निकलने से लोगो ने किया किनारा

- सबसे ज्यादा भीड़-भाड़ वाले इलाकों पर पसरा सन्नाटा

- आर्य समाज के लोगों ने घरों में हवन कर किया शुद्धीकरण

- कोरोना को हराने के लिए प्रधानमंत्री के आह्वान को मिला जनसमर्थन

-पुलिस अधिकारीयों ने शहर का दौरा किया

गुहला चिका में भी दिखा जनता कर्फ्यू का असर

जनता कर्फ्यू को लेकर चिका शहर में भारी असर देखने को मिल रहा है। जहां चिका शहर की मार्किट बंद हैं तो वहीं सब्जी व फलफ्रूट की रेहड़ी लगाने वाले दिखाई नहीं दिए। जहां पूरा शहरभर में चहल-पहल रहती थी। आज सन्नाटा पसरा हुआ है। वहीं रिहायशी कॉलोनियां में भी गलियां सूनी पड़ी है। गुहला की जनता घरों में बैठी है।

Next Story
Top