Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

चोरी की लग्जरी गाड़ियों के कागजात तैयार करने वाले नपे, फ्राड में बड़े अधिकारी भी शामिल

हरियाणा के पानीपत में चोरी की गाड़ियों को बेचने के लिए नकली कागजात तैयार करवाने वाले एक गैंग का खुलासा हुआ है। इस मामले में चरखी दादरी के ट्रांसपोर्ट इंस्पेक्टर के साथ तीन और आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दावा किया जा रहा कि कई और अधिकारी इस फर्जीवाड़े में शामिल हैं।

चोरी की लग्जरी गाड़ियों के कागजात तैयार करने वाले नपे, फ्राड में बड़े अधिकारी भी शामिल

हरियाणा के पानीपत में चोरी की गाड़ियों को बेचने के लिए नकली कागजात तैयार करवाने वाले एक गैंग का खुलासा हुआ है। इस मामले में चरखी दादरी के ट्रांसपोर्ट इंस्पेक्टर के साथ तीन और आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दावा किया जा रहा कि कई और अधिकारी इस फर्जीवाड़े में शामिल हैं।

पकड़े गए तीनों अरोपी चोरी की गाड़ियों का सारा कागज तैयार करवाते थे इसके लिए बकायदा 50 से 60 हजार रुपए वसूले जाते थे। पुलिस ने सभी आरोपियों को दो दिन की रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है। पकड़े गए आरोपी खुद को विकास भदाना ग्रुप के सदस्य बता रहे हैं।

मामले की जांच कर रही पुलिस के एक बड़े अफसर ने बताया कि इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि इसमें अधिकारियों का भी हाथ हो। क्योकि आरसी तैयार करने के लिए कोड का प्रयोग होता है। अब ये कोड आरोपियों के पास कैसे पहुंचता है इसकी जांच की जा रही है।

पुलिस ने इन आरोपियों के पास से दो स्कॉर्पियो, फॉर्च्यूनर होंडा सिटी गाड़ी बरामद की है साथ ही गाड़ी से एक देशी पिस्तौल और 10 कारतूस भी बरामद किए हैं। आरोपी गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन नंबर और चेसिस नंबर बदलकर बेचने के फिराक में थे।

पकड़े गए ट्रांसपोर्ट इंस्पेक्टर पर 50 रुपए लेकर गाड़ी की नई आरसी बनाने का आरोप है। नियम ये है कि रजिस्ट्रेसन के लिए गाड़ियों की कंपनियां ऑनलाइन फॉर्म भेजती हैं पर संदीप ने इसे मैन्युअली ही बना डाला। वह जाली आईटी का डाटा फीड कर भेज देता था।

एसटीएफ डीएसपी रवींद्र कुंडू ने कहा कि इस मामले की गहनता से जांच की जा रही है। जरूरत पड़ने पर उन अधिकारियों से भी पूछताछ होगी जिनपर शक की सुई लटक रही है। उन्होंने कहा कि मामले से जुड़े सारे सुबुत जुटाए जा रहे हैं किसी भी आरोपी को बख्सा नहीं जाएगा।

Next Story
Share it
Top