Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा में बेहतर हुई स्वास्थ्य व्यवस्था, शिशु और मातृ दर में आई कमी

हरियाणा में शिशु मृत्यु दर 41 से घटकर 30 पर आ गई है वहीं मातृ मृत्यु दर 127 से घटकर 101 पर आ गई है। पहले जहां एक लाख महिलाओं में 127 प्रसव के समय मौत हो जाती है उसमें 26 की गिरावट आई है। वहीं 2014 में जारी की गई रिपोर्ट के अनुसार 1 हजार बच्चों में 41 बच्चे मरते थे जो अब 30 पर आ गया है।

Infant Mortality Rate in HaryanaInfant mortality rate

देश के कई राज्य स्वास्थ्य को लेकर बेहद सचेत हो रहे हैं। इन्हीं राज्यों में हरियाणा भी शामिल है जहां शिशु मृत्यु दर और मातृ मृत्यु दर में काफी कमी आई है। ये कमी पिछले 10 सालों के चिकित्सकीय प्रयास और लोगों की जागरूकता के कारण आई है।

प्रदेश में शिशु मृत्यु दर 41 से घटकर 30 पर आ गई है वहीं मातृ मृत्यु दर 127 से घटकर 101 पर आ गई है। पहले जहां एक लाख महिलाओं में 127 प्रसव के समय मौत हो जाती है उसमें 26 की गिरावट आई है। वहीं 2014 में जारी की गई रिपोर्ट के अनुसार 1 हजार बच्चों में 41 बच्चे मरते थे जो अब 30 पर आ गया है।

मृत्यु दर में आई कमी पर स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि ह्यूनाइजेशन पर जोर दिया गया है इससे बच्चों को संक्रमण से बचाया गया। साथ ही गर्भवती महिलाओं को समय पर टीका लगाया गया। साथ ही प्रसव के दौरान महिलाओं की उचित देखभाल की गई।

जारी ताजा रिपोर्ट से सरकार अपनी को अपनी पीठ थपथपाने का मौका मिल गया है। सरकार इसे और बेहतर करने के लिए प्रदेश में तीन मदर एंड चाइल्ड अस्पताल खोलने का निर्णय लिया है। ये अस्पताल पानीपत, हिसार और मेवात में खोले जाएंगे।

Next Story
Share it
Top