Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

चुनावों से पहले वाल्मीकि समाज ने दी चेतावनी, मांग जो पूरी करेगा उसे देंगे वोट

हरियाणा विधानसभा चुनावों (Haryana Election 2019) से पहले अनूसूचित वर्ग ए की बहाली की मांग जोर पकड़ने लगी है। इसको लेकर सात सितंबर को महापंचायत होगी।

Haryana Assembly Election 2019: बदलाव को भुनाने की तैयारी में BJP, विरोधियों को तुलनात्मक विकास पर घेरने की बनी योजनाHaryana Assembly Election 2019 BJP Plan surround opponents comparative development

रोहतक। हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Election 2019) से पहले जाति के विशेष दर्जे को लेकर मांग उठने लग गई है। अनूसूचित जाति वर्ग-ए को बहाल करवाने को लेकर मांग की गई है। ऐसा नहीं करने पर जूलूस निकालने की चेतावनी दी है।

प्रेसवार्ता के दौरान अनूसूचित जाति वर्ग-ए महापंचायत के प्रदेश अध्यक्ष स्वदेश कबीर ने कहा कि अनुसूचित जाति वर्ग-ए को बहाल करवाने के लिए 7 सितंबर को गोहाना रोड स्थित शिव पंजाबी धर्मशाला में अनुसूचित जाति वर्ग-ए की महापंचायत होगी। महापंचायत से पहले अगर वर्ग-ए को बहाल करने की घोषणा नहीं की तो महापंचायत के दिन अंबेडकर चौक तक जुलूस निकालते हुए नेताओं का पुतला फूंका जाएगा। साथ ही विधानसभा चुनाव में उसी को वोट दिया जाएगा, जो उनके वर्ग को बहाल करने का आश्वासन देगा। वे शनिवार को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में अनुसूचित जाति वर्ग-ए ने ग्रोवर को खून से तोला था तो मनीष ग्रोवर ने आश्वासन दिया था कि उनके वर्ग को बहाल करेंगे। पांच साल गुजर गए हैं, अनेक बार ज्ञापन सौंप चुके हैं, लेकिन उन्हें कोरे आश्वासन ही मिलते रहे। जींद में हुए वाल्मीकि समारोह में भी मुख्यमंत्री ने मंच से वर्ग-ए को बहाल करने की घोषणा की थी, लेकिन अभी तक वर्ग-ए को बहाल नहीं किया गया। उन्होंने यह भी कहा कि अगर हुड्डा महापंचायत में आकर वर्ग-ए बहाल करने की बात करेंगे तो उनका समर्थन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 35 लाख लोगों की पगड़ी उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल के लिए संभाल कर रखी है। इस मौके पर उनके साथ पूर्व वियक हरीराम वाल्मीकि, धर्मबीर डाबला दलित यूथ ब्रिगेड अध्यक्ष, राज किराड़, जगदीश किराड़, सतीश सरोहा सहित अन्य सदस्य मौजूद रहे।

Next Story
Share it
Top