Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Haryana Election 2019: हिसार में विपक्षी पार्टियों का फूला दम, वित्त मंत्री के गढ़ में भाजपा सातों सीटों पर मजबूत

हरियाणा में कभी इनेलो का गढ़ माने जाना वाला हिसार अब भाजपा का गढ़ बन गया है। नारनौंद से विधायक और वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यू ने पूरे जिले में विकास की झड़ी लगाकर हिसार की सातों सीटों पर भाजपा को मजबूत कर दिया है।

हिसार में विपक्षी पार्टियों का फूला दम, वित्त मंत्री के गढ़ में भाजपा सातों सीटों पर मजबूतHaryana Election 2019: BJP Strong In Seven seats In Beacause Hisar Finance Minister Strong Hold, Opposition Parties Thrive

हरियाणा विधानसभा (Haryana Election 2019) का चुनावी बिगुल बजने की औपचारिकता भर शेष है, लेकिन विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में हिसार जिले की सात विधानसभा सीटों पर भाजपा (BJP) को छोड़कर कोई सिसायी दल फ्रंटफुट पर आकर ताल ठोंकने को तैयार नहीं दिखाई दे रहा है। वर्ष 1987 के बाद पहली बार ऐसे हालात बन रहे हैं कि वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यू (Captain Abhimanyu) के गढ़ में भाजपा तो आत्मविश्वास से लबरेज है जबकि विपक्ष के दिग्गज नेता चुनाव से भागते दिखाई दे रहे हैं। ऐसे माहौल के बीच विपक्ष पाटियों के नए चेहरे टिकट की आस लगाए जोर-आजमाइश करने की चाह रखते हैं।

भजनलाल के बेटे का भी फूला दम



केंद्र में मोदी और प्रदेश में मनोहर सरकार ने अपने फैसलों से जनता को प्रभावित किया और जनता का दिल जीतने की कोशिश की। जिसमें दोनों सरकार काफी हद तक सफल भी रही। कभी हिसार की चौधर लाने का दम भरने वाले पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी भजनलाल के छोटे पुत्र एवं हजकां नेता कुलदीप बिश्नोई का भी दम फूल गया और कांग्रेस में घर वापसी कर ली। समय ने करवट ली और प्रदेश की प्रमुख विपक्षी पार्टी इनेलो वर्ष 2018 में दो-फाड़ हो गई। इनेलो की टिकट से सांसद बने दुष्यंत चौटाला ने दिसंबर 2018 में अपनी नई पार्टी जेजेपी बना ली। उकलाना से इनेलो विधायक अनूप धानक बागी हो गए और दुष्यंत की पार्टी के गतिविधियों में भाग लेने लगे। इनेलो में आए बिखराव को देखते नलवा से इनेलो विधायक रणबीर गंगवा ने भी हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव से ठीक पहले भाजपा ज्वाइन कर ली। इसी बीच गत दिसंबर माह में हुए मेयर के चुनाव में भी भाजपा ने धमाकेदार जीत दर्ज की। भाजपा की टिकट से मेयर निर्वाचित होने वाले गौतम सरदाना ने दो बड़े राजनीतिक घराने जिंदल व भजनलाल परिवार की तरफ से मैदान में उतारी गई रेखा ऐरन को करारी शिकस्त दी।

लोकसभा में कांग्रेस की जमानत तक जब्त

लोकसभा चुनाव-2019 में हिसार संसदीय सीट पर भाजपा, जेजेपी तथा कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबला था। भाजपा ने बृजेंद्र सिंह, जेजेपी ने दुष्यंत चौटाला को चुनाव मैदान में उतार दिया। कांग्रेस असमंजस में फंसी दिखाई दी। इस दौरान कुलदीप बिश्नोई की कांग्रेस से नाराजगी की भी खबरें आई। लेकिन आखिर समय में वे अपने बेटे भव्य बिश्नोई को हिसार लोकसभा से कांग्रेस की टिकट दिलवाने में कामयाब रहे। कुलदीप बेटे के लिए टिकट तो ले आए। लेकिन वे और पूरी कांग्रेस मिलकर भी भव्य की जमानत तक नहीं बचा पाई। भव्य बिश्नोई जिले की सभी सातों विधानसभा सीटों से हार गए। यहां तक भी वे अपना दादा के अभेद दुर्ग आदमपुर में भी अपनी करारी हार नहीं टाल पाए। मोदी लहर में बृजेंद्र सिंह जेजेपी-आप गठबंधन के प्रत्याशी दुष्यंत चौटाला को 3 लाख से भी अधिक वोटों से हराकर लोकसभा में पहुंचे थे।

वित्त मंत्री के गढ़ में विकासों की झड़ी




नारनौंद से विधायक वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यू के गढ़ में भाजपा सरकार का कार्यकाल हिसार जिले के लिए सौगातों भरा रहा है। हरियाणा में पहली हवाई सेवा की शुरुआत हिसार से हो चुकी है। हिसार और चंडीगढ़ के बीच रोजाना 2-2 फ्लाइट चलती है। इस साल के अंत तक हिसार से जयपुर, दिल्ली, देहरादून व जम्मू की हवाई सेवाएं भी शुरू होने की उम्मीद है। इसके अलावा हिसार से सिरसा तक फोरलेन, साउथ बाईपास, स्काडा जलघर, एसटीपी, डाबड़ा चौक ओवरब्रिज का दोहरीकरण, वाशिंग यार्ड, नारनौंद को उपमंडल का दर्जा, बास को सब-तहसील से तहसील, खेड़ी चोपटा को सब-तहसील तथा बास व सिसाय को नगरपालिका का दर्जा, चार कॉलेज, चार आईटीआई, राखी गढ़ी में संग्रहालय, खांडाखेड़ी में लुवास पशुधन केंद्र की मंजूरी मिली।

नेता पाला बदलकर भाजपा में हो रहे शामिल

वर्ष 2014 में नलवा से निर्वाचित इनेलो विधायक रणबीर गंगवा खेमा बदलकर भाजपाई हो चुके हैं। उकलाना से इनेलो विधायक अनूप धानक जेजेपी में शामिल हो चुके हैं। मनोहर सरकार और यहां से जनप्रतिनिधि वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु की कार्यशैली से प्रभावित होकर इनेलो नेता बिजेंद्र लोहान, फूलकुमार पेटवाड़, पूर्व पार्षद राजेश नाड़ा, कांता देवी सहित कई इनेलो नेता कमल थाम चुके हैं। इनके अलावा नारनौंद नपा के पूर्व अध्यक्ष शमशेर सैनी भी भाजपा में शामिल हो चुके हैं। जेजेपी नेता सुशील उगालन ने कमल थाम लिया है। रामकुमार गौतम जेजेपी में शामिल हो चुके हैं। आदमपुर से कांग्रेस प्रत्याशी रहे सतेंद्र सिंह के अलावा जयसिंह बिश्नोई, वीरसिंह दलाल, बिश्नोई सभा के प्रधान प्रदीप बैनीवाल भी पाला बदलकर भाजपा में आ चुके हैं। हजकां की टिकट से चुनाव लड़ने वाले गौतम सरदाना भाजपा में आ चुके हैं और फिलहाल वे मेयर निर्वाचित हो चुके हैं। पूर्व मंत्री हरिसिंह सैनी, पूर्व मंत्री स्व. ओपी महाजन का परिवार, पूर्व डिप्टी मेयर भीम महाजन, हिसार हलके से टिकट के दावेदार तरूण जैन भाजपा में शामिल हो चुके हैं।

जिले की सातों सीटों का 2014 का हाल

वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव नतीजों की बात करें तो सात में से चार हलकों में इनेलो तथा भाजपा व हजकां ने दो-दो सीटें जीती थी। जबकि तात्कालीन सत्ताधारी कांग्रेस का जिले से सुपड़ा साफ हो गया था। भाजपा की ओर से नारनौंद से कैप्टन अभिमन्यु, हिसार से डॉ. कमल गुप्ता, हजकां की टिकट से हांसी में रेणुका बिश्नोई व आदमपुर से कुलदीप बिश्नोई तथा इनेलो की टिकट से नलवा से रणबीर गंगवा, बरवाला से वेद नांरग और उकलाना सुरक्षित सीट से अनूप धानक निर्वाचित हुए थे।

Next Story
Share it
Top