Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Haryana Assembly Election 2019: सी-वोटर का सर्वे, हरियाणा भारी बहुमत से सरकार बनाएगी भाजपा

सी वोटर के ऑपिनियन पोल में भाजपा को भारी बहुमत मिलता दिख रहा 90 में से 78 सीटें मिल सकती हैं भाजपा को कांग्रेस को सिर्फ 8 सीटें बीजेपी को 48 फीसदी वोट का अनुमान, कांग्रेस को 22 और अन्य को 21 फीसदी वोट मुख्यमंत्री पद के लिए मनोहर लाल खट्टर पहली पसंद, भूपेंद्र सिंह हुड्डा दूसरे नंबर पर

Haryana Assembly Election 2019: सी-वोटर का सर्वे, हरियाणा भारी बहुमत से सरकार बनाएगी भाजपाHaryana Assembly Election 2019: CVoter Survey BJP Will Form Haryana Govt With Huge Majority

हरियाणा में चुनाव तारीखों की घोषणा के बाद आए पहले ऑपिनियन पोल (Opinion Poll) में भाजपा (BJP) को भारी बहुमत मिलता दिख रहा है। सी-वोटर (CVoter) के सर्वे के मुताबिक, भाजपा को हरियाणा की कुल 90 में से 78 सीटें मिल सकती हैं। कांग्रेस के खाते में 8 सीटें, जननायक जनता पार्टी (JJP) के खाते में 1 सीट और अन्य के खाते में 3 सीटें जा सकती हैं।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को लेकर जारी विपक्ष के हमलों के बीच सर्वे में उन्हें मुख्यमंत्री पद की पहली पसंद बताया गया है। 48 फीसदी मतों के साथ मुख्यमंत्री पद के लिए मनोहर लाल खट्टर पहली पसंद हैं। 13 फीसदी लोग कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को मुख्यमंत्री बनते देखना चाहते हैं। हाल ही में अपनी पार्टी जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के साथ सामने दुष्यंत चौटाला 11 फीसदी मतों के साथ मुख्यमंत्री के तौर पर तीसरी पसंद हैं।

हरियाणा में 2014 के विधानसभा चुनाव में राज्य की 90 विधानसभा सीटों में से बीजेपी को 47 सीटें मिली थीं। कांग्रेस के खाते में 15 सीटें और आईएनएलडी को 19 सीटों पर जीत मिली थी। इनके अलावा हरियाणा जनहित कांग्रेस के खाते में 2 और बीएसपी और अकाली दल को 1-1 सीटों पर जीत मिली थी। 5 विधानसभा सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार जीते थे।

किसे कितने प्रतिशत मिल सकते हैं वोट

ऑपिनियन पोल के मुताबिक वोट शेयर के मामले में भी बीजेपी बाजी मारती दिख रही है। बीजेपी को जहां 48 फीसदी वोट मिल सकते हैं, तो वहीं कांग्रेस वोट शेयर के मामले में बहुत पिछड़ती हुई दिख रही है। कांग्रेस को 22 फीसदी, जेजेपी को 8 फीसदी, आईएनएलडी को 3 फीसदी और अन्य पार्टियों को 21 फीसदी वोट मिल सकते हैं।

इस बार क्या हैं लोगों के मुद्दे

ऑपिनियन पोल के मुताबिक हरियाणा में रोजगार की कमी सबसे बड़ी समस्या है। दिलचस्प है कि पानी को लोगों ने दूसरी बड़ी समस्या माना है। 27.6 फीसदी लोगों ने रोजगार और 14.1 फीसदी लोगों ने पानी की समस्या को चुनावी मुद्दा बताया है। महंगाई को 4.9 फीसदी लोग और बिजली को 4.5 फीसदी लोग चुनावी मुद्दा मानते हैं। 3.6 पीसदी लोगों ने भ्रष्टाचार को प्रमुख चुनावी मुद्दा बताया है।

Next Story
Share it
Top