Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

चुनावी रंजिश के चलते पूर्व सरपंच की गोली मारकर हत्या, पिता और भाई का भी हुआ था मर्डर

जनसभा से घर वापस लौट रहे पूर्व सरपंच की घर से 400 मीटर दूर गोली मारकर हत्या कर दी गई। दो साल पहले पिता और भाई का भी मर्डर कर दिया गया था।

संकेतिक फोटोसंकेतिक फोटो

हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election) से पहले प्रदेश में सुरक्षा के कड़े प्रबंध होने के बावजूत आपराधिक घटनाएं सामने आ रही हैं। भिवानी (Bhiwani) जिले के बड़सेरा (Badesra) गांव में पूर्व सरपंच (Former Sarpanch) की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्या का कारण पंचायत चुनाव की रंजिश होने की आकंशा जताई जा रही है। घटना उस वक्त हुई जब पूर्व सरपंच पवन कुमार सोमवार शाम करीब सात बजे एक प्रत्याशी की चुनावी जमसभा से वापस घर लौट रहे थे। वह करीब जनसभा स्थल से 500 मीटर दूर ही पहुंचे होगें। बाइक सवार बदमाशों ने उनके ऊपर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी।

आसपास के लोगों का कहना है कि बदमाशों ने करीब 10 दोलियां चलाई होंगी जिसमें से चार गोलियां पूर्व सरपंच को लगीं। बदमाशों ने पहले कमर में एक गोली मारी जिससे वह गिर गया। उसके बाद एक गोली आंख में और दो गोलियां पेट के पास मारी। जिस वजह से पवन कुमार गंभीर रूप से घायल हो गए और घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई। वारदात की सूचना फैलते ही गांव में हड़कंप मच गए। कुछ ही समय में बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। पुलिस को घटना के बारे में सूचित किया गया। जिसके बाद बवानीखेड़ा थाना, गुजरानी थाना, डीसीपी वीरेंद्र सिंह और एएफएसएल टीम मौके पर पहुंच गई। मृतक पवन कुमार दो बच्चों के पिता थे। उनकी एक 15 वर्षिय बेटी और एक छोटा बेटा है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पूर्व सरपंच पवन कुमार के भाई और पिता की भी चुनावी रंजिश के चलते 2017 में हत्या कर दी गई थी। पिता भल्लेराम और भाई बलजीत कुछ अन्य लोगों के साथ 8 जुलाई 2017 में देरशाम खेत से घर वापस आ रहे थे। करीब 30-35 आरोपियों ने तेज धार हथियार से हमला कर उनकी हत्या कर दी थी।

जानकारी के मुताबिक पूर्व सरपंच पवन कुमार और गांव के आनंद बबलू के पिरवारों के बीच पुरानी रंजिश है। विवाद जमीन को लेकर शुरू हुआ था। इस दौरान दोनों चुनाव लड़ने के लिए उतरे। बाद में जमीन विवाद हल हो गया लेकिन सरपंची को लेकर दोनों के बीच विवाद बढ़ता गया। मृतक पवन कुमार के भाई ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा है कि पुलिस ने पिछले मामले में कुछ आरोपियों को निकाल दिया था। कुछ आरोपी पिछले दिनों जेल से बाहर आए हैं। उन्हीं ने भाई पवन कुमार की हत्या की है।

प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को बताया है कि बदमाश स्पलेंडर बाइक से आए थे। बाइक का नंबर भी पुलिस को दे दिया गया है। जिसको ढूंढने के लिए पुलिस में देर रात तक नाकाबंदी कर बदमाशों की तलाश की है। पुलिस का कहना है कि परिजनों ने अभी बयान नहीं दिए हैं। बयान दर्ज होने के बाद उसी आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Next Story
Top