Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हुड्डा के गढ़ रोहतक में कांग्रेस मजबूत, महम-किलोई में खाता खोलने को लड़ेगी भाजपा

हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election) से पहले पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के गढ़ रोहतक में कांग्रेस बेहद मजबूत है। रोहतक जिले की ग्राउंड रिपोर्ट (Rohtak District Ground Report) कहती है कि जिले की चार सीटों में से सिर्फ रोहतक शहरी सीट पर ही भाजपा का दबदबा है। जबकि महम और किलोई जैसी विधानसभा की सीटों पर भाजपा का खाता तक नहीं खुला है।

हुड्डा के गढ़ रोहतक में कांग्रेस मजबूत, महम-किलोई में खाता खोलने को लड़ेगी भाजपाCongress And Rohtak Strong Hold In Rohtak, BJP Will Fight To Open Account in Mehm-Kiloi

हरियाणा विधानसभा चुनावों (Haryana Assembly Election) में इस बार प्रदेश में सबसे हॉट रोहतक रहेगा। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Bhupendra Singh Hooda) के गढ़ में भाजपा सेंधमारी कर पाती है या नहीं देखना दिलचस्प होगा। क्योंकि रोहतक को छोड़ दें तो इस जिले की बाकि तीन सीटों पर कभी भी भाजपा का दबदबा नहीं रहा। यहां तक की महम और किलोई (Mehm-Kiloi) की सीट पर भाजपा कभी अपना खाता भी नहीं खोल पायी है। गढ़ी-सांपला-किलोई पर कांग्रेस और इनेलो का वर्चस्व रहा है। यही हाल महम का है यहां से भी भाजपा जीत नहीं पाई।

दूसरी तरफ पांच साल में काफी समीकरण बदलें हैं। रोहतक की सीटों पर जहां भाजपा को कभी प्रत्याशी तलाशने में परेशानी होती थी। अब उन सीटों पर दावेदारों की लाइन है। इनेलो के बिखराव के बाद रोहतक जिले की किसी भी सीट पर पार्टी के पास कोई मजबूत चेहरा नहीं है। पांच साल में भाजपा चारों सीट पर मजबूत हुई है। सभी सीटों पर सीधा-सीधा मुकाबला कांग्रेस और भाजपा के दिग्गजों में ही होगा। रोहतक से सुभाष बतरा और बीबी बतरा में पेंच फसेगा। कलानौर से शकुंतला और प्रेम के बीच टिकट पर टकराव हो सकता है। गढ़ी-सांपला-किलोई से भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कृष्ण मूर्ति हुड्डा में टिकट पर जोर आजमाइश होगी।

पाला बदलकर भाजपा में हो रहे शामिल

रोहतक में दूसरे दलों को छोड़कर भाजपा में शामिल होने वालों में बड़ा नाम इनेलो के सतीश नांदल का है। इनके साथ जेजेपी छोड़कर आए धर्मपाल मकड़ौली भी अब भाजपाई कहलाते हैं। प्रेम हुड्डा भी अब भाजपा में हैं। महम से इनेलो के निशान पर चुनाव लड़ चुके महंत सतीश दास भी भाजपा में आए गए हैं। सौरभ फरमाना भी अब भाजपा में हैं। रोहतक की बात करें तो कांग्रेस के शासन काल में मेयर रहीं और हुड्डा परिवार की करीबी रेनू डाबला, लोकसभा चुनाव लड़ने वाले सूरज रसवंत, हुड्डा के नजदीकि माने जाने वाले व्यापारी नेता गुलशन डंग के अलावा एक को छोड़कर कांग्रेसी खेमे के सभी पार्षद अब भाजपा में शामिल हो गए हैं। हालांकि चुनाव की घोषणा अभी नहीं हुई है। चुनाव घोषणा के बाद कई नेता पार्टी बदल सकते हैं। जिन नेताओं को टिकट की चाह यदि उनकी मांग पूरी नहीं हुई तो वे पाला बदलने में देर नहीं करेंगे।

मनीष ग्रोवर-भूपेंद्र हुड्डा की विरासत दांव पर




विधानसभा चुनावों में भाजपा नेता मनीष ग्रोवर और कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा की विरासत दांव पर है। भाजपा के नेता और मंत्री मनीष ग्रोवर का कद रोहतक चारों सीटें तय करेंगी। क्योंकि भाजपा के पास रोहतक जिले में मनीष ग्रोवर से बड़ा नाम नहीं है। इसी तरह पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की भी प्रतिष्ठा दांव पर होगी। उनके कंधों पर भी कांग्रेस को चारों सीटों पर जिताने की जिम्मेदारी होगी। गढ़ी-सांपला-किलोई विस क्षेत्र से कांग्रेस के भूपेंद्र सिंह हुड्डा चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं। जबकि मनीष ग्रोवर रोहतक शहरी सीट से लड़ेंगे। मनीष ग्रोवर को रोहतक सीट से खड़ा कर 1987 से भाजपा के लिए बंजर पड़ी सीट पर कमल खिलाने की चुनौती उनके ऊपर होगी।

एलिवेटेड रोड की रोहतक को सौगात

रोहतक को भाजपा ने पांच साल में बड़ी सौगात एलिवेटेड रोड रोहतक के रूप में दी है जो शुरू भी हो चुका है। शहर को जाम से मुक्त करने के लिए 1.85 किमी. लंबे एलिवेटेड रोड अंबेड़कर चौक से शुरू होकर छोटूराम चौक होते हुए शांतमई चौक से पुराना बस स्टैंड तक बनाया गया है। इस पर करीब 152.83 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। अब रेलवे एलिवेटेड ट्रैक निर्माणाधीन है। इस पर अनुमानित 314 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। उम्मीद है कि यह ट्रैक इस साल के अंत तक जनता को समर्पित कर दिया जाएगा।

Next Story
Top