Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा विधानसभा : चुनाव से पहले चल रही पाला बदलने की बयार, कभी थे पार्टीभक्त, अब दे रहे गाली

सत्तासीन भाजपा अपने दल में सोच-समझ कर, जांच परख कर उम्मीदवारों को शामिल कर रही है। ऐसे में भाजपा, नेताओं को बहुत मुश्किल से शामिल कर रही है। जबकि कांग्रेस चारों ओर से भाजपा का घेराव कर उसे हराने की तैयारी कर रही है।

हरियाणा चुनाव : चुनाव से पहले चल रही पाला बदलने की बयार, अब अपनी ही पार्टी को दे रहे गालीHaryana Assembly Elections Politicians Changing party

हरियाणा में विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी सरगर्मी इससमय बढ़ी हुई है। अगले 2-3 दिन में प्रदेश आचार संहिता लागू होने के साथ ही चुनाव का शोर शुरू हो जाएगा। सियासत के क्षेत्र में कोई किसी का अपना नहीं होता इसलिए कई पार्टीयों के नेता अलग-अलग दलों का दरवाजा खटखटाने में लग गए है।

कांग्रेस इस समय किसी भी बड़े नाम को शामिल करने से गुरेज नहीं कर रही है। यह बात अलग है कि जो लोग कांग्रेस में शामिल हो रहे हैं उनमें से कई नेता पहले भाजपा का दरवाजा भी खटखटा चुके हैं। हाल ही में कांग्रेस का दामन थामने वालों में इनेलो के कद्दावर नेता और पूर्व मंत्री अशोक अरोड़ा शामिल हैं।

अरोड़ा, इनेलो के सुख-दुख के साथी रहे हैं और चौटाला परिवार के सबसे करीबी रहे हैं, लेकिन सत्ता से दूर हुए लंबा अरसा बीत चुका है। ऐसे हाल में उन्होंने दिल को फुसलाकर कांग्रेस के साथ आए। राजनीति में कुछ भी हो सकता है, इस बात का प्रमाण यहां देखने को मिलता है।


सुरजेवाला परिवार को पानी पी कर कोसने वाले जेपी कांग्रेसी नेता रणदीप सुरजेवाला से मतभेद भुला चुके हैं। सत्तासीन भाजपा अपने दल में सोच-समझ कर, जांच परख कर उम्मीदवारों को शामिल कर रही है। ऐसे में भाजपा, नेताओं को बहुत मुश्किल से शामिल कर रही है। जबकि कांग्रेस चारों ओर से भाजपा का घेराव कर उसे हराने की तैयारी कर रही है।

प्रदेश में दलबदल की शुरुआत इसी साल की शुरुआत में हुई। जेजेपी और इनेलो के अलगाव के बाद राज्य में भाजपा और मजबूत हो गई। इनेलों के करीब एक दर्जन विधायक पाला बदलकर भाजपा में आ गए। पार्टी बदलने से पहले भले ही उनसे वादा किया गया हो कि उन्हें टिकट दिया जाएगा पर वर्तमान हालात देखा जाए तो भाजपा में टिकट दावेदारों ने मुश्किल खड़ी कर दी।

सीएम ने कहा- टिकट एक और दावेदार कई

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने कहा कि एक-अनार-सौ बीमार है। उन्होंने बताया की टिकट तो सिर्फ एक को ही मीलेगा बाकी को टिकट मिलने वाले के साथ लगना होगा। भाजपा में इस समय एक अनार सौ बीमार वाली हालत है। ऐसे में चुनाव आते-आते कितने दावेदार भाजपा के खूंटे से बंधे रहेंगे यह कह पाना अभी मुश्किल होगा।


Next Story
Top