Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा चुनाव : भजनलाल के दोनों बेटे कांग्रेस के टिकट पर ठोकेंगे ताल

पूर्व मुख्यमंत्री भजन लाल का परिवार हरियाणा के चुनावी दंगल (Haryana Assembly Elections) में कांग्रेस के टिकट पर ताल ठोकने को तैयार है। कांग्रेस पार्टी (Congress Party) ने प्रदेश में अपनी नाजुक हालत को भांपते हुए भजन लाल के दोनों बेटों कुलदीप बिश्नोई (Kuldeep Bishnoi) व चंद्रमोहन (Chander Mohan) को पार्टी में फिर से टिकट दिया है।

हरियाणा विधान सभा चुनाव : भजनलाल के दोनों बेटे कांग्रेस के टिकट पर ठोकेंगे तालHaryana Assembly Elections Congress gives ticket Sons Of Bhajan Lal

कांग्रेस पार्टी से लंबे समय तक दूर रहने के बाद एक बार फिर से पूर्व मुख्यमंत्री भजन लाल का परिवार हरियाणा के चुनावी दंगल में कांग्रेस के टिकट पर ताल ठोकने को तैयार है। कांग्रेस पार्टी ने प्रदेश में अपनी नाजुक हालत को भांपते हुए भजन लाल के दोनों बेटों कुलदीप बिश्नोई व चंद्रमोहन को पार्टी में फिर से टिकट दिया है। प्रदेश की राजनीति में भजनलाल परिवार की धाक को मानते हुए पार्टी ने दोनों को आदमपुरा और पंचकुला से उतारने की तैयारी शुरु कर दी है।

इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि कांग्रेस सरकार में उपमुख्यमंत्री रहे चंद्रमोहन बिश्नोई के पंचकुला स्थित भवन पर गाड़ियों की लाइन लगी हुई है। जबकि बीते कई सालों से यहां सन्नाटा गूंजता था। इससे पहले पूर्व सीएम भजनलाल यहीं से अपनी सियासत चलाया करते थे। इसके बाद बेटे चंद्रमोहन ने मोर्चा संभाला पर ज्यादा दिन तक नहीं चल सके और उन्हें उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा। जिसके बाद से ही उनके परिवार की पंचकुला सीट से दूरी बन गई थी।

विधान सभा चुनाव 2014 में मोदी लहर के चलते पंचकुला सीट भाजपा के खाते में चली गई थी। कांग्रेस पार्टी ने भले ही अपने पुराने सिपहसालार भजन लाल के परिवार को मजबूरी के चलते यहां से उतारा हो लेकिन कार्यकर्ताओं में इसे लेकर काफी जोश है। उन्हें लगता है कि इस सीट पर चंद्रमोहन के आने से पार्टी मजबूत होगी।

जब चंद्रमोहन बन गए चांद मोहम्मद

चंद्रमोहन ने कांग्रेस से डिप्टी सीएम रहते हुए हरियाणा की एडिशनल एडवोकेट फिजा के साथ दूसरी शादी करने के लिए मुस्लिम धर्म अपना लिया। चंद्रमोहन के इस फैसले से भजनलाल की राज्य में काफी किरकिरी हो गई । चंद्रमोहन के चांद मोहम्मद बनने के बाद भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने भी उन्हें अपने कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया। कुछ वक्त के बाद चंद्रमोहन ने परिवार में दोबारा वापसी की और फिजा के साथ रिश्ता खत्म कर दिया।

Next Story
Top