Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा विधानसभा चुनाव : कड़े मुकाबले में फंसी झज्जर की चारों सीटें, बन रहा त्रिकोणीय संघर्ष

विस चुनाव में बादली व बहादुरगढ़ सीट भाजपा तथा झज्जर व बेरी सीट कांग्रेस के खाते में आई थी। लेकिन पांच महीने पहले हुए लोकसभा चुनाव में बहादुरगढ़ को छोड़ तीनों सीटों पर कांग्रेस प्रत्याशी ने बढ़त हासिल की थी।

Shock to Loktantra Suraksha Party,  candidate from Panipat gave support to Congress candidateपानीपत लोसुपा प्रत्याशी विजय कुमार कालड़ा ने कांग्रेस प्रत्यशी संजय अग्रवाल को समर्थन दिया है

सोमवार को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होगा। इसके साथ ही चारों विधानसभा सीटों के प्रत्याशियों का भाग्य ईवीएम में बंद हो जाएगा। जिले की चारों सीटों पर कड़ा मुकाबला नजर आ रहा है। किसी भी सीट पर कोई प्रत्याशी विजयी बढ़त बनाए नजर नहीं आता।

चारों सीटों पर मुख्य मुकाबला भाजपा व कांग्रेस के बीच बना हुआ है। हालांकि बहादुरगढ़ सीट पर इनेलो तथा बादली व झज्जर में जेजेपी प्रत्याशी मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने में सफल होते दिख रहे हैं।

बता दें कि गत विस चुनाव में बादली व बहादुरगढ़ सीट भाजपा तथा झज्जर व बेरी सीट कांग्रेस के खाते में आई थी। लेकिन पांच महीने पहले हुए लोकसभा चुनाव में बहादुरगढ़ को छोड़ तीनों सीटों पर कांग्रेस प्रत्याशी ने बढ़त हासिल की थी। बहादुरगढ़ में कांग्रेस के राजेंद्र जून, इनेलो के नफे सिंह राठी व भाजपा के नरेश कौशिक में त्रिकोणीय मुकाबला बन गया है।

बादली में भाजपा के ओमप्रकाश धनखड़ को कांग्रेस के कुलदीप वत्स से कड़ी टक्कर मिल रही है। जेजेपी के संजय कबलाना भी मुकाबले में आने के लिए मशक्कत कर रहे हैं। झज्जर से कांग्रेस की गीता भुक्कल को भाजपा के डा. राकेश कुमार से टक्कर मिल रही है। जेजेपी के नसीब उर्फ सोनू भी चुनाव में नजर आ रहे हैं।

बेरी में इस बार भाजपा के विक्रम कादियान ने कांग्रेस के रघुबीर कादियान के पसीने छुड़ा रखे हैं। जेजेपी के उपेंद्र कादियान व बसपा के रमेश दलाल भी मुकाबले को रोचक बनाने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। सोमवार को मतदाता इन सभी नेताओं के भाग्य को ईवीएम में कैद कर देंगे। हालांकि चुनावी सिकंदर की घोषणा गुरुवार 24 अक्तूबर को मतगणना के बाद होगी।

Next Story
Top