Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Haryana Assembly Elections 2019: जजपा-इनेलो में सुलह के प्रयास तेज, दुष्यंत ने पिता के पाले में डाली गेंद

Haryana Assembly Elections 2019: हरियाणा में विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Elections 2019) से पहले सभी पार्टियों ने गठबंधन के प्रयास तेज कर दिए हैं। इसी बीच जननायक जनता पार्टी (जजपा) और इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) में सुलह के प्रयास अभी भी जारी है।

Haryana Assembly Election: दुष्यंत चौटाला ने धारा 370 हटाने पर मोदी सरकार को समर्थनHaryana Assembly Election: Dushyant Chautala Supported The Modi Govt on the Removal Of Article 370

Haryana Assembly Elections 2019 हरियाणा में विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Elections 2019) से पहले सभी पार्टियों ने गठबंधन के प्रयास तेज कर दिए हैं। इसी बीच जननायक जनता पार्टी (जजपा) और इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) में सुलह के प्रयास अभी भी जारी है।

इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) ने सुलह का फैसला जहां दोनों पार्टी को एक करने में जुटी खाप पंचायतों पर छोड़ दिया है। वहीं जजपा नेता और पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने सुलह का फैसला अपने पिता जजपा सुप्रीमो पूर्व सांसद डा. अजय चौटाला पर छोड़ दी है।

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल भी जजपा-इनेलो में सुलह को प्रयासरत हैं। जजपा-इनेलो में सुलह पर जजपा नेता और पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हम खाप पंचायतों का सम्मान करते हैं और उनके साथ लगातार इस बारे में बातचीत हुई है। खाप नेता रमेश दलाल के सभी पत्रों का जवाब भी उन्होंने दिया है। दुष्यंत ने कहा कि उनके पिता डा. अजय चौटाला ने जेल से फरलो अप्लाई की है। उम्मीद है जल्द ही वे बाहर आएंगें, उसके बाद उनके पिता अजय चौटाला जो फैसला लेंगे, वे उन्हें मंजूर होगा।

वहीँ दूसरी ओर दुष्यंत चौटाला के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए इनेलो के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने कहा कि वह पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि उन्हें इन विवादों के संबंध में पंचायत का हर फैसला स्वीकार होगा। उन्होंने कहा कि यही उनके परिवार की परंपरा रही है और ऐसा ही पाठ उन्होंने अपने पिता चौधरी देवी लाल से सीखा था, क्योंकि वे भी पंचायती फैसलों को ही सर्वोपरि मानते थे।

Next Story
Top