Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Haryana Assembly Election: पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा ने रिकॉर्ड मतों से जीत दर्ज की, सबसे कम वोटों से जीते गोपाल कांडा

हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए मतगणना की प्रक्रिया समाप्त हो चुकी है। सभी सीटों पर नतीजे जारी किए जा चुके हैं। जिसके अनुसार अभी तक सबसे अधिक मतों से जीत हासिल करने वाले नेता में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा हैं।

पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा ने रिकॉर्ड मतों से जीत दर्ज की, सबसे कम वोटों से जीते गोपाल कांडाभूपेंद्र हुड्डा, गोपाल कांडा: फाइल फोटो

Haryana Assembly Election Result: हरियाणा विधानसभा चुनाव की गुरुवार को मतगणना हुई। मतगणना के नतीजे ने लोगों को चौंका दिया क्योंकि हरियाणा विधानसभा चुनाव के नतीजे उम्मीदों से विपरीत आए। यहां तक कि कोई मीडिया चैनल भी एग्जिट पोल में जारी किए हुए आंकड़ों में भाजपा के खाते में इतनी कम सीटों का आंकलन नहीं कर सका। इस बार के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन भी पिछले विधानसभा चुनाव से काफी बेहतर रहा।

58,000 अधिक वोट हासिल कर भूपेंद्र हुड्डा ने दर्ज की जीत

चुनाव के नतीजों में देखने को मिला कि कई उम्मीदवार जो दिग्गजों को चुनौती देने के लिए खड़े हुए उन्हें बुरी तरह से मूंह की खानी पड़ी। लेकिन कई उम्मीदवार ऐसे भी थे। जिनकी किसमत ने साथ दिया और कुछ अधिक वोट हासिल कर उनका विधायक बनने का सपना साकार हो पाया। बड़ी संख्या में वोट हासिल करके अपने विरोधियों को हराने वाले नेताओं में प्रमुख हैं हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा। भूपेंद्र हुड्डा हरियाणा की गढ़ी-सांपला किलोई विधानसभा सीट पर कांग्रेस का झंडा लहराया। भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने गढ़ी सांपला किलोई विधानसभा सीट पर अपने प्रतिद्वंदी भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार सतीश नांदल को 58,000 से अधिक वोट हासिल करके शिकस्त दी।

47,000 वोटों से दुष्यंत चौटाला और 45,000 से जीते सीएम खट्टर

हरियाणा मुख्यमंत्री मनोहार लाल खट्टर करनाल विधानसभा से चुनावी रण में उतरे थे। वहां के नतीजे भी कुछ इस प्रकार के ही रहे। सीएम खट्टर ने करनाल में तरलोचन सिंह को करीब 45,000 अधिक मत हासिल कर हराया। कुछ इसी तरह के नतीजे हरियाणा की उचाना कलां विधानसभा सीट पर भी देखने को मिले। इस सीट से जननायक जनता पार्टी प्रमुख दुष्यंत चौटाला बतौर पार्टी उम्मीदवार चुनाव लड़ने मैदान में उतरे थे। दुष्यंत चौटाला ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए उचाना कलां विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी प्रेम लता को 47,452 अधिक वोट हासिल कर करारी हार दी।

602 अधिक मत हासिल कर गोपाल कांडा को मिली जीत

इस विधानसभा चुनाव के नतीजे भाजपा के पक्ष में नहीं रहे। भाजपा का कई बड़े नेताओं को बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ा। यहां तक कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला को टोहाना विधानसभा सीट पर जननायक जनता दल प्रत्याशी देवेन्द्र सिंह बबली के खिलाफ 52 हजार के अधिक वोटों से हार का सामना करना पड़ा। इसके विपरीत कुछ नेताओं की किसमत ने विधायक बनने में उनका साथ दिया और उन्हें किनारे से जीत हासिल हुई। हरियाणा लोकहित पार्टी के अध्यक्ष गोपाल कांडा उनमें से एक हैं। उन्होंने सिरसा विधानसभा सीट पर 602 मत ज्यादा हासिल कर निर्दलीय उम्मीदवार गोकुल सेटिया को हराया। इसी तरह हरियाणा की थानेसर सीट पर भारतीय जनता पार्टी के सुभाष सुधा ने कांग्रेस उम्मीदवार अशोक कुमार अरोड़ा के खिलाफ कुल 842 मतों की बढ़त हासिल जीत दर्ज की।

Next Story
Top