Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा में छह भाजपा सांसद मांग रहे पत्नी-बच्चों के लिए टिकट, राव इंद्रजीत बेटी को लड़ाने पर अड़े

हरियाणा विधानसभा चुनावों (Haryana Assembly Election) में भाजपा के सांसद (BJP MP) परिजनों को टिकट दिलाने की जुगत में लगे हुए हैं। छह सांसद पत्नी और बच्चों के लिए टिकट मांग रहे हैं। जबकि भाजपा ने साफ कर दिया है कि किसी भी सांसद, मंत्री, विधायक के परिजनों को टिकट नहीं मिलेगा।

हरियाणा की 20 सीटों पर भाजपा 3 अक्टूबर को घोषित करेगी प्रत्याशी,  नेताओं की बगावत का डर
X
BJP will declare candidates on 20 seats in Haryana on October 3, fear of rebellion by leaders

हरियाणा विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं। वैसे-वैसे भाजपा के नेता टिकट की जुगत में लग गए हैं। हरियाणा के 10 भाजपा सांसदों में से 6 सांसद परिजनों के लिए टिकट मांग रहे हैं। गुरुग्राम से भाजपा सांसद राव इंद्रजीत बेटी आरती राव के लिए टिकट पर अड़ गए हैं। जबकि भाजपा ने सांसद, विधायक और मंत्रियों के परिजनों को टिकट नहीं देने का ऐलान किया है।

हरियाणा में चुनावों को लेकर भाजपा की तरफ से 29 सितंबर को सूची जारी किए जाने की संभावना है। उससे पहले सांसद और मंत्रियों ने परिजनों को टिकट दिलाने के लिए पूरा जोर लगा दिया है। सूत्रों के मुताबिक भाजपा के इंकार करने के बावजूद छह सांसद परिजनों के लिए टिकट मांग रहे हैं। सभी सांसद अपने-अपने लोकसभा क्षेत्र की विधानसभा सीट पर बच्चों को लिए टिकट मांग रहे हैं।

सूत्रों के मुताबिक सोनीपत से सांसद रमेश कौशिक ने अपने बेटे के लिए, कुरूक्षेत्र से सांसद नायब सैनी ने अपनी पत्नी के लिए, फरीदाबाद से सांसद कृष्णपाल गुर्जर ने बेटे के लिए, गुरुग्राम से सासंद राव इंद्रजीत सिंह ने बेटी के लिए, अंबाला से सांसद रतनलाल कटारिया ने पत्नी के लिए और भिवानी-महेंद्रगढ से सांसद धर्मबीर सिंह ने अपने भाई के लिए टिकट मांगा है।

दो सांसदों ने नहीं मांगा टिकट




हरियाणा में भाजपा के दस में से सिर्फ दो सांसदों ने टिकट नहीं मांगा है। सूत्रों के मुताबिक करनाल से सांसद संजय भाटिया और सिरसा से सांसद सुनीता दुग्गल ने टिकट नहीं मांगा है। जबकि हिसार से सांसद बृजेंद्र सिंह की मां प्रेमलता को टिकट मिलना तय है। भाजपा का कहना है कि राज्यसभा सांसद बीरेंद्र सिंह की पत्नी के नाते नहीं उचाना से विधायक होने के नाते प्रेमलता का नाम आगे भेजा गया है।

प्रदेश नेतृत्व को हाई कमान ने दिए निर्देश

भाजपा हाई कमान ने प्रदेश कार्यकारिणी को निर्देश दिए हैं कि किसी भी नेता और मंत्री के परिजनों के नाम की सिफारिश टिकट के लिए न की जाए। केवल टिकट के पात्र लोगों के नाम ही भेजे जाएं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि नेताओं के परिवार में सांसद, विधायक, मेयर, जिला परिषद के चेयरपर्सन के परिजनों को टिकट नहीं दी जाएगी। पार्टी का ये नीतिगत का फैसला है।


और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story