Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा चुनावों से पहले कांग्रेस में रार, घोषणा पत्र कमेटी में शामिल नहीं हुए अशोक तंवर

हरियाणा विधानसभा चुनावों की घोषणा हो चुकी है। लेकिन अभी तक कांग्रेस का कुनबा एक नहीं हुआ है। कांग्रेस की मेनिफेस्टो कमेटी में पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर शामिल नहीं हुए। जिसको लेकर कहा कि पार्टी का घोषणा पत्र पहले ही जारी हो चुका है। ऐसे में शामिल होने का कोई फायदा नहीं था।

हरियाणा चुनावों से पहले कांग्रेस में रार, घोषणा पत्र कमेटी में शामिल नहीं हुए अशोक तंवर

हरियाणा विधानसभा चुनावों को लेकर घोषणा पत्र बनाने के लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी की बैठक हुई। दिल्ली में कमेटी की चेयरमैन किरण चौधरी के नेतृत्व में बैठक हुई। जिसमें हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर ने भाग नहीं लिया है। जिसके बाद गुटों में बंटी कांग्रेस की रार सामने आ गई है।

जानकारी के मुताबिक बैठक में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा, पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा ने भाग लिया। लेकिन पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर ने उसमें भाग नहीं लिया। दूसरी तरफ कमेटी की बैठक में नहीं पहुंचने को लेकर अशोक तंवर ने बयान दिया है। अशोक तंवर ने कहा कि मेनिफेस्टो कमेटी में जाने का कोई औचित्य नहीं था। रोहतक में 18 अगस्त को हुई महा परिवर्तन रैली में घोषणा पत्र जारी किया जा चुका है। ऐसे में जब घोषणा पत्र जारी हो चुका है तो बैठक में जाने का कोई मतलब नहीं है।

भूपेंद्र हुड्डा ने जारी किया था घोषणा पत्र

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा की तरफ से रोहतक में महा परिवर्तन रैली की गई थी। कांग्रेस हाई कमान पर दबाव बनाने के लिए की गई रैली में घोषणा पत्र भी जारी किया गया था। ऐसे में अशोक तंवर ने तंज कसते हुए कहा कि जब घोषणा पत्र भूपेंद्र हुड्डा जारी कर चुके हैं तो अब बैठकों का क्या मतलब है।

प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाए जाने से नाराज

हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर पद से हटाए जाने से नाराज है। प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटाए जाने के बाद कोई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी भी नहीं दी गई। इसके अलावा उनके विरोधी गुट के नेताओं को कमेटियों में अधिक तरजीह दी गई। चुनाव कमेटी का अध्यक्ष भूपेंद्र हुड्डा को बनाया गया। जबकि प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी कुमारी शैलजा को दी गई।

Next Story
Top