Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सख्त हुआ प्रशासन, अब हर घंटे में देनी होगी रिपोर्ट, कहां शराब पकड़ी, किससे बरामद हुए रुपए

आयोग के निर्देश पर निर्वाचन अधिकारी ने कंट्रोल रूम तैयार करवाया है, जिसमें छह आपरेटर तैनात किए गए हैं। रिपोर्ट कंट्रोल रूम में देेनी होंगी।

file Photofile Photo

हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Elections) के दौरान आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों पर निगरानी कड़ी कर दी गई है। अब एफएसटी और एसएसटी टीम को हर घंटे कंट्रोल रूम में बताना होगा कि कौन आचार संहिता का उल्लंघन कर रहा है, कहां से शराब पकड़ी या कहीं से रुपये बरामद हुए। किस उम्मीदवार ने कोई भड़काऊ भाषण तो नहीं दिया।

आयोग के निर्देश पर निर्वाचन अधिकारी ने कंट्रोल रूम तैयार करवाया है, जिसमें छह आपरेटर तैनात किए गए हैं। रिपोर्ट कंट्रोल रूम में देेनी होंगी। जिसके बाद आपरेटर ही सूचनाओं को निर्वाचन अधिकारी तक पहुंचाएंगे। चुनाव आयोेग के आदेश पर निर्वाचन अधिकारी ने चारोें विधानसभा क्षेत्र में एसएसटी और एफएसटी टीमें गठित की थी।

जिन्हें 24 घंटे विधानसभा क्षेत्र में हर चुनावी गतिविधियों पर नजर रखने के आदेश दिए गए हैं। इसके अलावा कानून व्यवस्था बनाए रखने, वाहनों की जांच कर शराब और नगदी बरामद करने की जिम्मेदारी भी इन टीम के कंधों पर ही है। सी विजिल पर आने वाली शिकायतों पर टीम के अधिकारी ही काम कर रहेे हैं।

यह टीमें हल्कों में सेेक्टर मजिस्ट्रेट के साथ तालमेल बनाकर चेकिंग अभियान चलाती रहेेंगी। नए आदेशों के तहत टीमों को अपने कार्य की हर घंटे की रिपोर्ट निर्वाचन अधिकारी के कंट्रोेल रूम को देनी होगी ताकि हर तरह के माहौल पर नजर रखी जा सके। ऐसा इसलिए किया गया है ताकि विधानसभा क्षेत्र की हर गतिविधियों से अधिकारी अवगत रहें और आपातकालीन समय में तत्काल कंट्रोल कर सकें।

हर विधानसभा क्षेत्र में चुनावी गतिविधियोें पर नजर रखने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं। कंट्रोल रूम बनाया गया है जिसमें छह आपरेटर सूचनाएं एकत्रित करेंगे। इससे अधिकारियों में आपस में तालमेल भी बढ़़ेगा और चुनाव पर नजर बनी रहेगी। आरएस वर्मा, निर्वाचन अधिकारी रोहतक

दूसरेे दिन भी शराब से भरी गाड़ी पकड़ी

आबकारी एवं कराधान विभाग ने चुनाव के दौरान सख्ती करते हुए जींद रोड पर शराब से भरी गाड़ी पकड़ी हैै। गाड़ी से 192 बोतल शराब और करीब 2112 पव्वे बरामद हुए हैं। वाहन चालक को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। जांच में पता चला है कि शराब अन्य राज्यों से शहर में जगह-जगह बेचने के लिए लाई गई थी।

इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि शराब का प्रयोग चुनाव में हो सकता था। विभाग के निरीक्षक सुरेश कुमार ने बताया कि टीम लगातार चेकिंग कर रही है। इस दौरान यह कामयाबी मिली है। इससे पहले टीम ने गढ़ी सांपला किलोई क्षेत्र से एक कैैंटर को शराब सहित बरामद किया था। जिससे 600 पेटी शराब मिली। पुलिस वाहन चालक की तलाश कर रही है।

Next Story
Top